दिल्ली MCD चुनावों में आम आदमी पार्टी (AAP) के खराब प्रदर्शन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुप्पी तोड़ते हुए हार के लिए गलती स्वीकार की है. पंजाब, गोवा के बाद दिल्ली के स्थानीय निकायों में भी करारी हार के बाद पार्टी नेताओं के निशाने पर आए केजरीवाल ने शनिवार सुबह ट्विटर पर जारी एक पत्र में आत्मचिंतन की बात कही है. उन्होंने कहा, 'पिछले दो दिनों में मैंने कई वॉलंटियर्स और वोटरों से बात की है. वास्तविकता यह है कि हमने गलतियां की हैं. हम इन गलतियों पर आत्मचिंतन करेंगे और उसे सुधारेंगे.' उधर, केजरीवाल के गलती मानने के बयान पर

दिल्ली दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने चेतावनी दी है कि अगर एमसीडी चुनाव के नतीजे एग्जिट पोल्स के मुताबिक रहे तो वह आंदोलन छेड़ देंगे. दरअसल, अधिकतर एग्जिट पोल्स और चुनाव पूर्व कराए गए सर्वे में केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को काफी कम सीटें मिलने की बात कही गई है. इसी को लेकर केजरीवाल ने एक बार फिर अपनी हार के लिए ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी किए जाने का मामला उठाया है. टि्वटर पर अपलोड किए गए एक विडियो में केजरीवाल अपने पार्टी के सदस्यों से कहते नजर आते हैं, 'अब अगर हम बुधवार को हारते हैं

दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिए मतदान सुबह 8.00 से जारी है. दिल्ली एमसीडी की 272 सीटों में से 270 सीटों पर आज वोटिंग जारी है. सुबह से ही लोग लाइन में लगकर वोट दे रहे हैं. दस साल से एमसीडी पर काबिज़ बीजेपी और दो साल से दिल्ली सरकार पर काबिज़ आम आदमी पार्टी निगम चुनाव के लिए अपनी पूरी ताक़त झोंक चुकी है. वहीं, कांग्रेस भी कई झटकों के बाद अपनी ज़मीन तलाशने में जुटी है. मतदान से लेकर 26 अप्रैल को मतगणना होने तक, संपूर्ण चुनाव प्रक्रिया में सुरक्षा की जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बलों के 56

दिल्ली हाईकोर्ट ने एमसीडी चुनावों में वीवीपैट के इस्तेमाल किए जाने की अपील खारिज कर दी है. आम आदमी पार्टी ने इस संबंध में हाईकोर्ट में अपील की थी. हाईकोर्ट ने कहा है कि ये संभव नहीं है कि चुनावों के ऐन पहले ऐसा कोई आदेश दिया जाए. जस्टिस ए के पाठक ने कहा है कि वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) की सुविधा वाली ईवीएम की जेनरेशन 2 और जेनरेशन 3 की मशीनों को इतनी जल्दी चुनावी प्रक्रिया में नहीं लगाया जा सकता है. आम आदमी पार्टी की तरफ से हाईकोर्ट में ये अपील मोहम्मद ताहिर हुसैन ने दाखिल की थी. ताहिर

दिल्ली एमसीडी चुनावों से पहले कांग्रेस की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. अरविंदर सिंह लवली के बाद अब दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्षा बरखा शुक्ला सिंह ने भी अपना इस्तीफा दिया है. गुरुवार को बरखा ने अपना इस्तीफा सोनिया गांधी के पास भेज दिया है. बरखा ने दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर कई तरह के आरोप भी लगाए. बरखा ने कहा कि अगर राहुल गांधी से पार्टी नहीं संभल रही तो वह छोड़ दें. बरखा ने कहा कि अगर राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाया गया तो यह डिजास्टर होगा. बरखा ने अजय माकन