हरियाणा द्वारा दिल्ली के हिस्से का पानी नहीं छोड़े जाने पर केंद्र को पत्र लिखूंगी: आतिशी

दिल्ली की जल मंत्री आतिशी ने बृहस्पतिवार को वजीराबाद यमुना जलाशय का निरीक्षण किया और कहा कि वह हरियाणा द्वारा राष्ट्रीय राजधानी के हिस्से का पानी नहीं छोड़े जाने के मुद्दे पर वह केंद्र सरकार को पत्र लिखेंगी।

दिल्ली में भीषण गर्मी के कारण पानी की कमी हो रही है और राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्सों में तापमान 50 डिग्री सेल्सियस के आसपास है। आतिशी ने आरोप लगाया है कि पानी की कमी की वजह हरियाणा द्वारा यमुना में दिल्ली के हिस्से का पानी रोकना है।

आतिशी ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर लिखा,” वज़ीराबाद यमुना जलाशय का निरीक्षण किया, यहां से पानी वज़ीराबाद, चन्द्रावल और ओखला जल उपचार संयंत्रों में जाता है। यमुना नदी का स्तर 674 फुट होना चाहिए, लेकिन यह मात्र 670.3 फुट पर है। इस वजह से दिल्ली के अलग अलग हिस्सों में पानी की क़िल्लत है।”

उन्होंने लिखा,” आज केंद्र सरकार को भी पत्र लिखूंगी। उनकी भी ज़िम्मेदारी है कि दिल्ली को अपने हिस्से का पानी मिले। हरियाणा को दिल्ली का पानी रोकने का कोई अधिकार नहीं है।”

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली सरकार जल संकट के संबंध में बृहस्पतिवार को एक आपात बैठक करेगी।

आज से आप संयोजक व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का पंजाब दौरा, 30 मई तक पंजाब में करेंगे कैम्पेन

आज से आप संयोजक व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल आज से पंजाब दौरे पर होंगे। अरविन्द केजरीवाल 30 मई तक पंजाब में कैम्पेन करेंगे। सीएम केजरीवाल आज 26 मई दोपहर को फ़िरोज़पुर के टाउन हॉल में मीटिंग करेंगे। इसके बाद आप सुप्रीमो आज शाम ही होशियारपुर में 4 बजे एक रोडशो करेंगे। इसके बाद… Continue reading आज से आप संयोजक व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का पंजाब दौरा, 30 मई तक पंजाब में करेंगे कैम्पेन

मालीवाल मामले में चुप्पी साधने पर भाजपा ने साधा केजरीवाल पर निशाना

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आम आदमी पार्टी (आप) की सांसद स्वाति मालीवाल पर कथित हमले को लेकर चुप्पी साधने के लिए अरविंद केजरीवाल पर बृहस्पतिवार को निशाना साधा और आरोप लगाया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री एक ‘गुंडे’ की तरह व्यवहार कर रहे हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने दावा किया कि केजरीवाल इस मामले में ‘मुख्य अपराधी’ हैं क्योंकि शिकायत के मुताबिक उनके सहयोगी बिभव कुमार ने मुख्यमंत्री आवास पर मालीवाल पर हमला किया था। भाटिया ने इसके लिए मालीवाल की ओर से दिल्ली पुलिस को फोन करके दर्ज की गई शिकायत का हवाला दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘उनकी (केजरीवाल) चुप्पी बहुत कुछ कहती है। स्पष्ट हो गया है कि केजरीवाल… जो जमानत पर बाहर हैं….मुख्यमंत्री कम और गुंडे ज्यादा हो गए हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘एक महिला को पिटवाना और वह भी अपने पीए को निर्देश देकर…यह कोई छोटी-मोटी घटना नहीं है। इसकी तह में जाना होगा। पुलिस की विवेचना होनी चाहिए। दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।’’

भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने मीडिया के सवालों को नजरअंदाज करने के लिए मुख्यमंत्री पर हमला बोला और कहा कि घटना की जिम्मेदारी लेते हुए केजरीवाल को तत्काल मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

भाटिया ने कहा कि केजरीवाल की लखनऊ यात्रा के दौरान कुमार की एक तस्वीर भी सामने आई है।

आम आदमी पार्टी के संयोजक केजरीवाल बृहस्पतिवार को समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव के साथ संवाददाता सम्मेलन के लिए लखनऊ पहुंचे थे। इस दौरान उनसे जब इस घटना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। आप सांसद संजय सिंह ने जवाब दिया कि उनकी पार्टी ने पहले ही इस मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट कर दिया है।

सिंह ने इसके बाद मणिपुर में महिलाओं के खिलाफ अपराध की घटनाओं, भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ महिला पहलवानों की शिकायत और प्रज्वल रेवन्ना मामले का हवाला देते हुए भाजपा पर पलटवार किया।

उन्होंने कहा कि मालीवाल मुद्दे पर किसी को राजनीति नहीं करनी चाहिए क्योंकि ‘आप’ ने अपना रुख साफ कर दिया है।

सिंह ने पहले इस घटना को स्वीकार किया था और कार्रवाई का वादा किया था।

उन्होंने मालीवाल से उनके आवास पर मुलाकात भी की थी।

भाटिया ने कहा कि सिंह ने मालीवाल के खिलाफ निंदनीय घटना होने की बात स्वीकार की थी और कहा था कि इस मामले में कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि इसके बजाय आरोपी केजरीवाल के साथ उनके जुड़वां भाई की तरह यात्रा कर रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘यह दिखाता है कि केजरीवाल महिलाओं के लिए न्याय को लेकर प्रतिबद्ध नहीं हैं जबकि भाजपा एक विपक्षी नेता के लिए न्याय की लड़ाई लड़ रही है।’’

भाटिया ने केजरीवाल को ‘डरपोक’ करार दिया और मांग की कि उन्हें या तो अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए या इस्तीफा दे देना चाहिए।

यह उल्लेख करते हुए कि महिला राज्यसभा सदस्य से संपर्क नहीं हो रहा है, भाजपा नेता ने पूछा कि क्या उनका अपहरण किया गया है या उन्हें लोगों की नजरों से जबरन दूर रखा गया है।

उन्होंने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने इस घटना को यह कहकर अनदेखा करने की कोशिश की कि यह कोई बड़ा मुद्दा नहीं है। समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए उन्होंने सपा नेता मुलायम सिंह यादव के उस विवादास्पद बयान का उल्लेख किया, जिसमें उन्होंने बलात्कार के आरोपी कुछ लोगों का बचाव करते हुए कहा था कि ‘वे लड़के हैं, वे कई बार गलतियां कर जाते हैं’।

सचदेवा ने भी भाटिया के सुर में सुर मिलाया और कहा कि उनसे (अखिलेश यादव) और कुछ उम्मीद नहीं की जा सकती।

सचदेवा ने कहा कि केजरीवाल को लखनऊ हवाई अड्डे पर एक फोटो में बिभव कुमार और संजय सिंह के साथ देखा गया था, जिससे पता चलता है कि मुख्यमंत्री इस मामले को कितनी गंभीरता से ले रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘वे उस व्यक्ति (कुमार) के साथ यात्रा कर रहे हैं जो अपराधी है। झूठ, फरेब और धूर्तता केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी के चरित्र में हैं।’’

उन्होंने सवाल किया, ‘‘क्या यह केजरीवाल की जिम्मेदारी नहीं थी कि वह इस मामले में शिकायत दर्ज कराएं क्योंकि वह मुख्यमंत्री के संवैधानिक पद पर हैं और घटना के समय अपने घर पर मौजूद थे।’’

अगर चार जून के बाद ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आता है तो मैं अगले दिन जेल से वापस आ जाऊंगा: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि अगर लोकसभा चुनाव के परिणाम की घोषणा के बाद ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आता है तो वह पांच जून को तिहाड़ जेल से बाहर आ जाएंगे।

कथित दिल्ली आबकारी नीति घोटाले से जुड़े एक धनशोधन मामले में गिरफ्तार केजरीवाल को लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए उच्चतम न्यायालय ने एक जून तक अंतरिम जमानत दी है। न्यायालय के आदेश के अनुसार] उन्हें दो जून को आत्मसमर्पण करना होगा और जेल वापस जाना होगा।

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के तहत एक जून को मतदान होगा और मतगणना एक साथ चार जून को होगी।

केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के पार्षदों को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि तिहाड़ में हिरासत के दौरान उन्हें अपमानित करने के प्रयास किए गए।

उन्होंने दावा किया, ‘‘तिहाड़ में मेरी कोठरी में दो सीसीटीवी कैमरे थे और 13 अधिकारी उनकी फीड पर नजर रख रहे थे। बताया गया कि सीसीटीवी फुटेज प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को भी दिया गया था। मोदी जी मुझ पर नजर रख रहे थे। मुझे पता नहीं कि मोदी जी को मुझसे क्या परेशानी है।’’

केजरीवाल ने कहा, ‘‘मुझे दो जून को जेल वापस जाना होगा। मैं जेल के अंदर चार जून को चुनाव परिणाम देखूंगा। अगर ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आता है तो पांच जून को मैं वापस आऊंगा।’’

मुख्यमंत्री ने रविवार को पार्टी के विधायकों से मुलाकात की थी।

‘AAP’ ने लोगों से ‘तानाशाही’ के खिलाफ वोट करने का आग्रह किया

आम आदमी पार्टी (आप) की छात्र इकाई छात्र युवा संघर्ष समिति (सीवाईएसएस) ने रविवार को यहां एक साइकिल रैली निकाली और जनता से ‘‘तानाशाही’’ के खिलाफ वोट करने की अपील की।

रैली को ‘जेल का जवाब वोट से’ अभियान के तहत राउज एवेन्यू स्थित पार्टी मुख्यालय से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।

इसमें शामिल युवाओं ने टी-शर्ट और टोपी पहन रखी थी। टी-शर्ट और टोपी पर ‘जेल का जवाब वोट से’ लिखा था। युवाओं ने केंद्र से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार को हटाने के लिए अभियान चलाया और पार्टी को ‘‘तानाशाही’’ बताया।

‘आप’ की दिल्ली इकाई के संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय और नयी दिल्ली लोकसभा सीट से ‘इंडिया’ गठबंधन के उम्मीदवार सोमनाथ भारती भी रैली में शामिल हुए।

राय ने कहा, ‘‘आम आदमी पार्टी विभिन्न तरीकों से भाजपा की तानाशाही के खिलाफ लोगों के बीच जा रही है। पहले हमने ‘वॉकथॉन’ के माध्यम से अपना अभियान चलाया और आज हम ‘साइक्लोथॉन’ के जरिये यह संदेश दे रहे हैं कि इस बार देश को बचाने के लिए भाजपा की तानाशाही को खत्म करना बहुत जरूरी है।’’

भारती ने विश्वास जताया कि 25 मई को दिल्ली में होने वाले लोकसभा चुनाव में ‘इंडिया’ गठबंधन सभी सात सीट पर जीत हासिल करेगा।

भाजपा पर निशाना साधते उन्होंने कहा, ‘‘दिल्लीवासी कह रहे हैं कि भाजपा ने संविधान और लोकतंत्र को नष्ट कर दिया है। एक मौजूदा मुख्यमंत्री को भाजपा ने बिना किसी सबूत के जेल में डाल दिया। अरविंद केजरीवाल को जेल में डालकर भाजपा ने साबित कर दिया कि वह लोकसभा चुनाव में अपनी हार से बहुत डरी हुई है।’’

भारती ने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने सभी को ‘‘समान अवसर’’ प्रदान करने के लिए मामले का संज्ञान लिया।

उन्होंने कहा, ‘‘अरविंद केजरीवाल के जेल से बाहर आने के बाद पूरे देश में यह संदेश गया है कि अभी भी कोई संगठन है जो देश के लोकतंत्र और संविधान को लेकर चिंतित है।’’

उच्चतम न्यायालय केजरीवाल की अंतरिम जमानत को लेकर 10 मई को आदेश पारित करेगा

उच्चतम न्यायालय कथित आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में गिरफ्तार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अंतरिम जमानत को लेकर 10 मई को अपना आदेश सुनाएगा।

गिरफ्तारी के खिलाफ केजरीवाल की याचिका पर सुनवाई कर रही पीठ की अध्यक्षता करने वाले न्यायमूर्ति संजीव खन्ना ने कहा, “हम शुक्रवार को अंतरिम आदेश (अंतरिम जमानत पर) सुनाएंगे। गिरफ्तारी को चुनौती देने से जुड़े मुख्य मामले पर उस दिन सुनवाई भी होगी।’’

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल को 21 मार्च को गिरफ्तार किया गया था और फिलहाल वह न्यायिक हिरासत के तहत तिहाड़ जेल में बंद हैं।

दिल्ली में ‘सबसे अधिक’ अपराध दर के लिए आप ने एलजी वीके सक्सेना को ठहराया जिम्मेदार

आम आदमी पार्टी ने 7 मई को दिल्ली में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए उपराज्यपाल वीके सक्सेना को जिम्मेदार ठहराया। अरविंद केजरीवाल की अगुआई वाली पार्टी ने एलजी सक्सेना पर राजधानी में पुलिस बल को “बर्बाद” करने का आरोप लगाया है। आप नेता सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के उपराज्यपाल पर सीधा हमला बोला। एक प्रेस… Continue reading दिल्ली में ‘सबसे अधिक’ अपराध दर के लिए आप ने एलजी वीके सक्सेना को ठहराया जिम्मेदार

दिल्ली में AAP उम्मीदवारों का नामांकन… सोमनाथ भारती, कुलदीप कुमार और महाबल मिश्र भरेंगे पर्चा

लोकसभा चुनाव के लिए दिल्ली में अलग-अलग दलों को प्रत्याशियों के नामांकन का सिलसिला जारी है। इसी कड़ी में आज आम आदमी पार्टी के तीन प्रत्याशी अपना नामांकन भरेंगे जिनमें नई दिल्ली से सोमनाथ भारती, ईस्ट दिल्ली से कुलदीप कुमार और वेस्ट दिल्ली से महाबल मिश्र शामिल हैं।

केंद्र को कोविशील्ड के दुर्लभ दुष्प्रभावों से निपटने के लिए युद्धस्तर पर काम करना होगा : आप

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने बुधवार को कहा कि कोविशील्ड टीके के ‘दुर्लभ दुष्प्रभावों’ से युद्धस्तर पर निपटने की जरूरत है। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने इस मामले में अब तक कुछ नहीं किया है।

भारद्वाज ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि केंद्र सरकार को टीके के किसी भी तरह के दुष्प्रभाव के ‘संकेत या लक्षण’ वाले लोगों की मदद के लिए प्रणाली बनाने की खातिर टीका विनिर्माता कंपनी, चिकित्सकों और वैज्ञानिकों से बात करनी चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘मुद्दे को राजनीतिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए लेकिन केंद्र सरकार सो रही है और उसने अभी तक कुछ नहीं किया है। कई यूरोपीय देश में इस टीके को 2021 में प्रतिबंधित कर दिया गया था लेकिन हमारे देश की सरकार इसे लगा रही थी और प्रचारित कर रही थी।’’

भारद्वाज ने कहा कि लोगों के दिमाग में पहले से ही ये प्रश्न थे कि क्या ‘हृदयाघात के मामले अचानक से बढ़ने का किसी भी तरह टीकों से कोई संबंध है’।

ब्रिटेन से संचालित फार्मास्युटिकल कंपनी एस्ट्राजेनेका ने स्वीकार किया है कि ‘बहुत दुर्लभ मामलों में@ उसके कोविड-19 टीके से खून का थक्का जमने जैसे दुष्प्रभाव सामने आ सकते हैं लेकिन इसके कारण का अभी पता नहीं है।

यह बात ब्रिटेन के मीडिया में कंपनी द्वारा अदालत में प्रस्तुत कागजात के हवाले से कही जा रही है।

‘गिरफ्तारी के बावजूद मुख्यमंत्री बने रहना केजरीवाल का फैसला ‘निजी’ , छात्रों के अधिकार रौंद नहीं सकते’

दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को कहा कि अरविंद केजरीवाल का गिरफ्तारी के बावजूद मुख्यमंत्री पद पर बने रहने का फैसला ‘निजी’ है; लेकिन इसका अभिप्राय यह नहीं है कि स्कूल जाने वाले विद्यार्थियों के मौलिक अधिकारों को रौंद दिया जाए।

उच्च न्यायालय ने यह भी कहा कि केजरीवाल की अनुपस्थिति में एमसीडी (दिल्ली नगर निगम) विद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को मुफ्त पाठ्यपुस्तकों, लेखन सामग्री और वर्दी के बिना पहला सत्र पूरा करने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

अदालत ने कहा कि दिल्ली जैसी व्यस्त राजधानी ही नहीं किसी भी राज्य में मुख्यमंत्री का पद कोई औपचारिक पद नहीं है।यह एक ऐसा पद है जहां पदधारक को बाढ़, आग और बीमारी जैसी प्राकृतिक आपदा या संकट से निपटने के लिए 24 घंटे सातों दिन उपलब्ध रहना पड़ता है।

कार्यवाहक मुख्य न्यायधीश मनमोहन और न्यायमूर्ति पी.एस.अरोड़ा की पीठ ने कहा, ‘‘राष्ट्रीय हित और सार्वजनिक हित की मांग है कि इस पद पर रहने वाला कोई भी व्यक्ति लंबे समय तक या अनिश्चित समय के लिए संपर्क से दूर या अनुपस्थित न रहे। यह कहना कि आदर्श आचार संहिता के दौरान कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय नहीं लिया जा सकता अनपुयक्त है।’