यदि भाजपा लोकसभा चुनाव जीतती है तो सभी विपक्षी नेता जेल में होंगे: CM केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को दावा किया कि यदि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) लोकसभा चुनाव जीतती है तो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, शिवसेना (यूबीटी) के प्रमुख उद्धव ठाकरे और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव समेत सभी विपक्षी नेताओं को जेल में डाल दिया जाएगा।

केजरीवाल ने यहां आम आदमी पार्टी (आप) के मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दावा किया कि भाजपा सत्ता में वापस नहीं आएगी और चार जून को विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ की सरकार बनेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘जेल से छूटने के बाद पिछले 20 घंटों में मैंने चुनाव विशेषज्ञों और लोगों से बात की तथा पता चला कि भाजपा की सरकार नहीं बन रही।’’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘आम आदमी पार्टी केंद्र में सरकार का हिस्सा बनेगी। हम दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाएंगे।’’

केजरीवाल ने कहा, ‘‘ये लोग ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव एलायंस’ (इंडिया) गठबंधन से उनके चेहरे के बारे में पूछते हैं। मैं भाजपा से पूछता हूं कि उनका प्रधानमंत्री कौन होगा? प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी अगले साल 17 सितंबर को 75 साल के हो रहे हैं। उन्होंने नियम बनाया था कि 75 साल की उम्र वालों को ‘रिटायर’ कर दिया जाएगा। उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, सुमित्रा महाजन को रिटायर (सेवानिवृत्त) कर दिया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘वह (मोदी) अगले साल रिटायर हो जाएंगे। वह अमित शाह (केंद्रीय गृह मंत्री) को प्रधानमंत्री बनाने के लिए वोट मांग रहे हैं। क्या शाह मोदी जी की गारंटी पूरी करेंगे?’’

केजरीवाल ने यह भी दावा किया कि यदि भाजपा सत्ता में आई तो पार्टी दो महीने के भीतर उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बदल देगी।

जब केजरीवाल जेल में थे तो भाजपा ने उनसे इस्तीफे की मांग की थी।

इस्तीफा नहीं देने के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री का पद मेरे लिए महत्वपूर्ण नहीं है। मैंने मुख्यमंत्री पद नहीं छोड़ा क्योंकि एक फर्जी मामले में मुझे इस्तीफा देने के लिए मजबूर करने की साजिश रची गई थी।’’

केजरीवाल ने भाजपा पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि सभी ‘‘चोरों और डकैतों’’ को पार्टी में शामिल कर लिया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘यदि प्रधानमंत्री को भ्रष्टाचार से लड़ना सीखना है तो उन्हें अरविंद केजरीवाल से सीखना चाहिए। हमने भ्रष्टाचारियों और यहां तक कि अपने मंत्रियों को भी जेल भेजा।’’

मुख्यमंत्री ने यह भी आरोप लगाया कि ‘‘प्रधानमंत्री ने हमारी पार्टी को कुचलने में कोई कसर नहीं छोड़ी और एक साल में ‘आप’ के चार शीर्ष नेताओं को जेल भेज दिया।’’

दिल्ली में ‘सबसे अधिक’ अपराध दर के लिए आप ने एलजी वीके सक्सेना को ठहराया जिम्मेदार

आम आदमी पार्टी ने 7 मई को दिल्ली में बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए उपराज्यपाल वीके सक्सेना को जिम्मेदार ठहराया। अरविंद केजरीवाल की अगुआई वाली पार्टी ने एलजी सक्सेना पर राजधानी में पुलिस बल को “बर्बाद” करने का आरोप लगाया है। आप नेता सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के उपराज्यपाल पर सीधा हमला बोला। एक प्रेस… Continue reading दिल्ली में ‘सबसे अधिक’ अपराध दर के लिए आप ने एलजी वीके सक्सेना को ठहराया जिम्मेदार

चुनावों के कारण अरविंद केजरीवाल को अंतरिम जमानत देने पर विचार हो सकता है: सुप्रीम कोर्ट

चुनावों के कारण सुप्रीम कोर्ट अरविंद केजरीवाल को अंतरिम जमानत देने पर विचार कर सकता है। न्यायालय ने मामले की अगली सुनवाई 7 मई को तय की है। ईडी से शीर्ष अदालत द्वारा उठाए गए प्रश्नों का जवाब देने की उम्मीद थी, जिसमें चुनाव से पहले केजरीवाल की गिरफ्तारी के समय से संबंधित प्रश्न भी… Continue reading चुनावों के कारण अरविंद केजरीवाल को अंतरिम जमानत देने पर विचार हो सकता है: सुप्रीम कोर्ट

‘गिरफ्तारी के बावजूद मुख्यमंत्री बने रहना केजरीवाल का फैसला ‘निजी’ , छात्रों के अधिकार रौंद नहीं सकते’

दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को कहा कि अरविंद केजरीवाल का गिरफ्तारी के बावजूद मुख्यमंत्री पद पर बने रहने का फैसला ‘निजी’ है; लेकिन इसका अभिप्राय यह नहीं है कि स्कूल जाने वाले विद्यार्थियों के मौलिक अधिकारों को रौंद दिया जाए।

उच्च न्यायालय ने यह भी कहा कि केजरीवाल की अनुपस्थिति में एमसीडी (दिल्ली नगर निगम) विद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को मुफ्त पाठ्यपुस्तकों, लेखन सामग्री और वर्दी के बिना पहला सत्र पूरा करने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

अदालत ने कहा कि दिल्ली जैसी व्यस्त राजधानी ही नहीं किसी भी राज्य में मुख्यमंत्री का पद कोई औपचारिक पद नहीं है।यह एक ऐसा पद है जहां पदधारक को बाढ़, आग और बीमारी जैसी प्राकृतिक आपदा या संकट से निपटने के लिए 24 घंटे सातों दिन उपलब्ध रहना पड़ता है।

कार्यवाहक मुख्य न्यायधीश मनमोहन और न्यायमूर्ति पी.एस.अरोड़ा की पीठ ने कहा, ‘‘राष्ट्रीय हित और सार्वजनिक हित की मांग है कि इस पद पर रहने वाला कोई भी व्यक्ति लंबे समय तक या अनिश्चित समय के लिए संपर्क से दूर या अनुपस्थित न रहे। यह कहना कि आदर्श आचार संहिता के दौरान कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय नहीं लिया जा सकता अनपुयक्त है।’

दिल्ली : समन अनदेखी मामले में अदालत ने केजरीवाल को जवाब दाखिल करने के लिए वक्त दिया

दिल्ली की एक अदालत ने आबकारी नीति मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा जारी समन को कथित तौर पर नजरअंदाज करने को लेकर एक आदेश के खिलाफ पुनर्विचार की मांग करने वाली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की दो याचिकाओं पर एजेंसी के जवाब पर प्रतिक्रिया देने के लिए आम आदमी पार्टी (आप) नेता को समय दिया है।

ईडी की शिकायत पर एक मजिस्ट्रेट अदालत ने केजरीवाल को समन जारी किया था और उनके खिलाफ एक आदेश पारित किया था, जिसको चुनौती देते हुए ‘आप’ नेता ने विशेष अदालत का दरवाजा खटखटाया था।

ईडी ने मामले में जारी समन से कथित तौर पर बचने के लिए केजरीवाल के खिलाफ मजिस्ट्रेट अदालत में शिकायत की थी।

विशेष न्यायाधीश राकेश सयाल ने केजरीवाल की अपील पर ईडी के जवाब मिलने के बाद आप संयोजक को जवाब दाखिल करने के लिए दो सप्ताह का समय दिया है।

केजरीवाल के वकीलों ने अदालत को बताया कि ईडी मामले में ‘आप’ नेता को गिरफ्तार कर चुकी है इसलिए उन्हें अब इस बारे में उनसे कोई निर्देश नहीं मिला इसलिए जवाब दाखिल करने के लिए समय चाहिए, जिसके बाद अदालत ने यह आदेश दिया।

अदालत अब 14 मई को याचिका पर सुनवाई करेगी।

AAP विधायक अपने निर्वाचन क्षेत्रों का दौरा कर लोगों की समस्याओं का समाधान करें : केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता ने बृहस्पतिवार को कहा कि मुख्यमंत्री ने तिहाड़ जेल से एक संदेश भेजकर आम आदमी पार्टी (आप) के सभी विधायकों को अपने निर्वाचन क्षेत्रों में प्रतिदिन जाने और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि लोगों को किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े।

सुनीता ने ‘डिजिटल ब्रीफिंग’ में कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने संदेश में कहा कि भले ही वह जेल में हैं, लेकिन दिल्ली के दो करोड़ लोग उनका परिवार हैं और उन्हें कोई समस्या नहीं होनी चाहिए।

सुनीता ने दिल्ली के मुख्यमंत्री का संदेश पढ़ते हुए कहा, ‘‘हमें सरकारी कामकाज के अलावा उनकी समस्याओं का भी समाधान करना होगा।”

अब समाप्त कर दी गई दिल्ली की आबकारी नीति से जुड़े धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा गिरफ्तार किए गए मुख्यमंत्री 15 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में हैं।

केजरीवाल ने अपने संदेश में कहा, ‘‘ मेरे जेल में होने से दिल्ली के लोगों को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। दिल्ली के दो करोड़ लोग मेरा परिवार हैं, मेरे परिवार में किसी को भी किसी भी कारण से दुखी नहीं होना चाहिए। ईश्वर सब पर कृपा करें।

Arvind Kejriwal Arrest: रिमांड के दौरान केजरीवाल को मिली ये सुविधाएं

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल 28 मार्च तक ईडी की रिमांड पर रहेंगे। यानी केजरीवाल की होली ईडी कस्टडी में बीतेगी। वहीं सीएम केजरीवाल ने कहा है कि वो इस्तीफा नहीं देंगे और जेल से ही सरकार चलाएंगे। बता दें दिल्ली शराब नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी से कोर्ट ने 10 दिनों… Continue reading Arvind Kejriwal Arrest: रिमांड के दौरान केजरीवाल को मिली ये सुविधाएं

अरविंद केजरीवाल को बड़ा झटका, भेजे गए 6 दिनों की ED रिमांड पर

ED ने दिल्ली शराब नीति मामले में गुरुवार शाम को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार किया था। बता दें राउज एवेन्यू कोर्ट से भी केजरीवाल को तगड़ा झटका लगा है। राउज एवेन्यू कोर्ट ने CM केजरीवाल की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इनकार कर दिया हैऔर इसके साथ ही कोर्ट ने ईडी की 6 दिन की हिरासत में भेज दिया है। ऐसे में अब अरविंद केजरीवाल 28 मार्च तक रिमांड पर रहेंगे।

केजरीवाल के समर्थन में आए आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता योगेन्द्र यादव, प्रशांत भूषण

आम आदमी पार्टी (आप) के कुछ पूर्व नेताओं ने ईडी द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी का शुक्रवार को विरोध करते हुए इसे ‘लोकतंत्र की हत्या’ करार दिया।

केजरीवाल से मतभेदों के कारण पार्टी छोड़ने वाले इन नेताओं ने यह दावा किया कि लोकसभा चुनाव से पहले ‘बिना सबूत के’ एक मौजूदा मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी ‘लोकतंत्र की हत्या’ के समान है।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े धन शोधन मामले में आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को बृहस्पतिवार को गिरफ्तार कर लिया था।

हालांकि, भाजपा की दिल्ली इकाई के उपाध्यक्ष कपिल मिश्रा ने केजरीवाल की गिरफ्तारी को राष्ट्रीय राजधानी के लोगों के लिए ‘खुशी का दिन’ बताया। वह आप सरकार में पर्यटन मंत्री रह चुके हैं।

राजनीतिक कार्यकर्ता और ‘स्वराज इंडिया’ के संस्थापक योगेन्द्र यादव, जिन्हें 2015 में आप की अनुशासनात्मक समिति द्वारा पार्टी से हटा दिया गया था, उन्होंने केजरीवाल की गिरफ्तारी को अन्यायपूर्ण करार दिया है।

योगेन्द्र यादव ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘मैं काफी हैरान हूं। लोकतंत्र के नाम पर इस देश में क्या चल रहा है? आप नए चुनाव आयुक्त नियुक्त करके मैच से पहले रेफरी को बदल देते हैं। आप प्रतिद्वंद्वी के बैंक खाते फ्रीज कर रहे हैं। 30 साल पुराने मामलों में नोटिस दिए गए हैं। उचित जांच करें, अगर अदालत दोषी ठहराती है, तो चाहे वह प्रधानमंत्री हों या कोई और, उन्हें सजा मिलनी चाहिए।’’

यादव ने कहा कि चुनाव से पहले किसी भी तरह से गिरफ्तारी करना लोकतंत्र की हत्या के समान है।

उन्होंने कहा, ‘‘अरविंद केजरीवाल के साथ अन्याय किया गया है। मुझे यकीन है कि लोग उन्हें सबक सिखाएंगे।’’

केजरीवाल की गिरफ्तारी पर प्रशांत भूषण ने दावा किया कि ईडी के पास मुख्यमंत्री के खिलाफ कोई दस्तावेजी सबूत नहीं है।

प्रशांत भूषण ने किसी का नाम लिए बिना कहा, ‘‘यह बेहद आश्चर्यजनक है कि आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद चुनाव से ठीक पहले ईडी ने एक मुख्यमंत्री को गिरफ्तार कर लिया है। और ऐसे मामले में, जहां उनके पास यह दिखाने के लिए कोई दस्तावेजी सबूत नहीं है कि वह भ्रष्टाचार में शामिल थे, जहां वे किसी सरकारी गवाह के बयान पर भरोसा कर रहे हैं, जो एक कंपनी का अधिकारी था। वह कंपनी जिसने ईडी को नियंत्रित करने वाली भाजपा को चुनावी बॉण्ड के जरिए चंदा दिया था। ’’

कपिल मिश्रा ने आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘दिल्लीवासियों के लिए यह खुशी का दिन है। यह न्याय का दिन है। यह ‘भ्रष्ट और बेईमान’ सरकार के शासन से मुक्ति है। ’’

अरविंद केजरीवाल की मेडिकल जांच के लिए ईडी दफ्तर पहुंची डॉक्टरों की टीम

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की मेडिकल जांच के लिए शुक्रवार को डॉक्टरों की एक टीम ईडी कार्यालय पहुंची। इस बीच, दिल्ली के मुख्यमंत्री को कल रात एक्साइज पॉलिसी मामले में ईडी द्वारा गिरफ्तार किए जाने और ईडी मुख्यालय लाए जाने के बाद आईटीओ पर बैरिकेड्स और भारी सुरक्षा तैनात… Continue reading अरविंद केजरीवाल की मेडिकल जांच के लिए ईडी दफ्तर पहुंची डॉक्टरों की टीम