543 लोकसभा सीटों की काउंटिंग 8 बजे से, किसके सिर सजेगा ताज, आज हो जाएगा फैसला

(Lok Sabha Election Result 2024 LIVE) लोकसभा चुनाव 2024 के मतदान के बाद आज भाजपा कांग्रेस समेत देश की तमाम राजनीतिक पार्टियों की किस्मत का फैसला होगा।   क्या भाजपा के 370 और NDA के 400 पार का दावा पूरा हो पाएगा। क्या कांग्रेस के लिए 10 साल बाद सत्ता में वापसी का मौका बनेगा? आज इन तीन… Continue reading 543 लोकसभा सीटों की काउंटिंग 8 बजे से, किसके सिर सजेगा ताज, आज हो जाएगा फैसला

लोस चुनाव: दिल्ली के सटोरियों ने राजद को 340 से ज्यादा, ‘इंडिया’ को 200 सीट मिलने का अनुमान जताया

अधिकांश एग्जिट पोल पूर्वानुमानों के अनुरूप, दिल्ली के सट्टेबाजों का मानना ​​है कि सत्तारूढ़ भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को लोकसभा चुनाव में 340 से अधिक सीटें मिलेंगी, जबकि विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ को लगभग 200 सीटें मिल सकती हैं।

सटोरियो के नेटवर्क में काम करने वाले एक सूत्र ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि दिल्ली में सट्टेबाजों के आकलन के अनुसार, राजग को 341 से 343 सीटें मिल सकती हैं, जबकि ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इंक्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) के लिए यह संख्या 198 से 200 के बीच हो सकती है।

सट्टेबाजों का पूर्वानुमान है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अपने दम पर 310 से 313 सीटें जीत सकती है, जबकि कांग्रेस की सीटें 57 से 59 के बीच हो सकती हैं।

सूत्र ने बताया कि दिल्ली की सात लोकसभा सीटों में से उन्होंने ‘इंडिया’ को एक सीट दी है।

उसने कहा कि सट्टा बाजार दो सप्ताह पहले खुल गया है और दिल्ली-एनसीआर में अब तक चुनाव परिणामों पर करोड़ों रुपये का दांव लगाया जा चुका है। सूत्र ने बताया कि सटोरिये सिर्फ राष्ट्रीय राजधानी से ही नहीं बल्कि विदेशों से भी हैं।

एक पुलिस अधिकारी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया कि सट्टेबाजी के क्षेत्र में जो व्यक्ति दांव लगाता है उसे बाजी लगाने वाला (पंटर) कहा जाता है जबकि जो दांव तय करता है उसे ‘बुकी’ कहा जाता है, जो इस प्रक्रिया में दलाली के माध्यम से कमाई करता है।

पुलिस पंटर और बुकी पर करीबी नजर रखती है क्योंकि भारत में सट्टेबाजी अवैध है।

सूत्र ने कहा कि सट्टा बाजार में राजग के लिए दरें कम हैं, क्योंकि उसके जीतने की संभावना अधिक है। उन्होंने कहा कि ‘इंडिया’ पर दांव लगाना “जोखिम भरा” है और इसलिए विपक्षी गठबंधन पर दांव की दरें अधिक हैं।

एक अन्य सूत्र ने बताया कि सट्टेबाजों ने राजग की पूर्ण बहुमत के साथ एक बार फिर आरामदायक जीत की भविष्यवाणी की है, लेकिन उन्होंने सत्ताधारी गठबंधन के 400 का आंकड़ा पार करने की संभावना से इनकार किया है।

उन्होंने कहा कि दुबई स्थित सट्टेबाजों के एक नेटवर्क ने भी चुनावों में राजग को भारी बहुमत मिलने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है।

पुलिस अधिकारी के अनुसार, कई लोगों ने एक से अधिक दांव लगा रखे हैं, ताकि यदि वे एक दांव पर अपना पैसा हार जाएं तो दूसरे दांव के जरिए कमाई कर सकें।

लोकसभा चुनाव: पूर्वी दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र के बड़े मुद्दों में अनधिकृत कालोनियां और पार्किंग शामिल

लोकसभा चुनाव में राजनीतिक दल राष्ट्रीय स्तर पर भले ही कोई विमर्श गढ़ चुनावी बिसात पर एक दूसरे को मात देने का प्रयास करें, लेकिन राष्ट्रीय राजधानी की पूर्वी दिल्ली संसदीय सीट के मतदाताओं के लिए पार्किंग स्थलों की कमी, बड़ी संख्या में अनधिकृत कॉलोनियों के कारण होने वाली परेशानियां तथा गाजीपुर लैंडफिल साइट से फैलते प्रदूषण जैसे मुद्दे ही प्रमुख हैं।

कुछ इलाकों में अपराध और जल जमाव की समस्या सहित कुछ अन्य बुनियादी समस्याएं भी मतदाताओं के लिए चिंता का विषय हैं।

पूर्वी दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र में 21,20,584 मतदाता हैं और यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार हर्ष मल्होत्रा और आम आदमी पार्टी (आप) के उम्मीदवार कुलदीप कुमार के बीच मुकाबला है। यहां छठे चरण में 25 मई को मतदान होगा और नतीजे चार जून को आएंगे।

लोकसभा चुनाव से जुड़े मुद्दों पर चर्चा के दौरान अधिकांश मतदाता स्थानीय मुद्दों पर जोर देते दिखे।

कोंडली निवासी विमल सिंह ने ‘पीटीआई-भाषा’ कहा कि क्षेत्र की जनता के लिए तो पार्किंग और पानी की समस्या ही मुख्य मुद्दे हैं, जिनसे वह जूझ रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘पार्किंग स्थलों का ना होना क्षेत्र की मुख्य समस्या है। हमारे पास यहां उचित पार्किंग स्थान नहीं है। क्षेत्र में नियमित रूप से पानी की आपूर्ति भी नहीं होती । इसके अलावा हमारे क्षेत्र में साफ-सुथरे पार्क नहीं हैं जहां बच्चे खेल सकें।’’

सिंह ने कहा, ‘‘मानसून के दौरान तो सड़कों पर इतना पानी भर जाता है कि यात्रियों के लिए पैदल चलना दूभर हो जाता है। कल्याणपुरी के इलाके में यातायात भी एक भारी समस्या है, जहां यात्री व्यस्त समय के दौरान अक्सर घंटों फंसे रहते हैं।’’

गाजीपुर निवासी सूरज कुमार ने कहा कि वे चाहते हैं कि उनके सांसद ‘गाजीपुर लैंडफिल साइट’ के कारण होने वाली बदबू और प्रदूषण से उन्हें राहत दिलाने के लिए काम करें।

कुमार ने कहा, ‘‘हम इस लैंडफिल साइट से राहत चाहते हैं। यहां से लगातार आने वाली दुर्गन्ध ने लोगों का जीना मुहाल कर रखा है। कई बार तो यहां आपूर्ति वाला पानी इतना बदबूदार होता है कि आप उसका किसी भी तरह से उपयोग नहीं कर सकते। आस-पास मांस के बाजार होने की वजह से दुर्गन्ध इस कदर फैलती है कि कई बार तो सांस लेना भी दूभर हो जाता है।’’

पूर्वी दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र में एक तरफ लाजपत नगर, लक्ष्मी नगर, गांधी नगर, शाहदरा और कृष्णा नगर जैसे बड़े बाजार हैं तो विवेक विहार, मयूर विहार, मंडावली, सूरजमल विहार, प्रीत विहार और त्रिलोकपुरी जैसे आवासीय क्षेत्र भी हैं।

फेडरेशन ऑफ लाजपत नगर ट्रेडर्स एसोसिएशन के महासचिव कुलदीप कुमार ने कहा कि बाजार में दुकानदारों के लिए बुनियादी सुविधाओं की कमी एक बड़ी चिंता है।

उन्होंने कहा, ‘‘शहर के विभिन्न हिस्सों से भी कई महिलाएं खरीदारी के लिए आती हैं लेकिन बाजार में उनके लिए साफ शौचालय नहीं हैं। बिजली के तार जहां-तहां लटक रहे होते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह क्षेत्र पहले नयी दिल्ली विधानसभा क्षेत्र का हिस्सा था। हालांकि, यह सीट अब पूर्वी दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र का हिस्सा है। हमारी मांग है कि हमारे बाजार को फिर से नई दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र में स्थानांतरित कर दिया जाए।’’

आनंद विहार और गाजीपुर इलाके में प्रदूषण जहां एक बड़ी समस्या है, वहीं कल्याणपुरी, त्रिलोकपुरी और मंडावली इलाके के लोग आए दिन होने वाली अपराध की घटनाओं को लेकर ज्यादा चिंतित हैं।

मयूर विहार निवासी रोहिणी कौल ने कहा, ‘‘क्षेत्र में पार्कों का रखरखाव नियमित तरीके से किया जाना चाहिए। यहां नालियों को भी अच्छी तरह से ढंका नहीं गया है।’’

इस निर्वाचन क्षेत्र में कुछ अनधिकृत कॉलोनियां भी हैं। ऐसी कॉलोनियों के निवासियों ने कहा कि हर कोई उनकी कॉलोनियों को नियमित करने की बात करता है, लेकिन कोई भी इसकी बेहतरी के लिए काम नहीं करता है।

ऐसे ही एक अनधिकृत कॉलोनी के निवासी मोहम्मद असद ने कहा, ‘‘हम पानी और साफ सड़कों सहित बुनियादी सुविधाएं चाहते हैं। चुनाव के दौरान झुग्गीवासियों के मुद्दे हमेशा नेताओं के लिए सर्वोच्च प्राथमिकताओं में रहते हैं। लेकिन चुनाव जीतने के बाद कोई भी इन्हें लेकर काम नहीं करता है।’’

विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ के उम्मीदवार कुलदीप कुमार से जब उनकी प्राथमिकताओं के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि कानून व्यवस्था में सुधार, अतिक्रमित भूमि को मुक्त कराने और गाजीपुर लैंडफिल साइट को हटाने जैसे मुद्दों पर उनका जोर रहेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली विश्वविद्यालय का नॉर्थ कैंपस और साउथ कैंपस है लेकिन ईस्ट कैंपस नहीं है। ईस्ट कैंपस हासिल करना उनकी प्रमुख मांग होगी। मेट्रो के माध्यम से संपर्क व्यवस्था और मजबूत करना भी मेरी प्राथमिकता होगी।’’

भाजपा उम्मीदवार हर्ष मल्होत्रा ने हाल में ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा था कि अगर वह चुनाव जीतते हैं तो यमुना पार इलाके में एम्स की तर्ज पर एक बड़ा अस्पताल और झुग्गीवासियों को फ्लैट देना उनकी प्राथमिकताओं में शामिल होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘हम पूर्वी दिल्ली में सफदरजंग या एम्स की तर्ज पर केंद्र सरकार का एक अस्पताल बनवाने की कोशिश करेंगे क्योंकि निजी अस्पताल बहुत महंगे हैं और हर कोई इसका खर्च वहन नहीं कर सकता। मेरे विचार से यह बहुत महत्वपूर्ण है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा लक्ष्य प्रधानमंत्री की ‘जहां झुग्गी, वहां मकान’ योजना के तहत झुग्गी बस्तियों में रहने वाले लोगों को फ्लैट मुहैया कराना है। इस योजना से उन्हें बेहतर घर, सड़कें और बेहतर जीवन के लिए पीने का पानी मिलेगा।’’

पूर्वी दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र में 11,51,211 पुरुष और 9,69,269 महिला मतदाता हैं। इस निर्वाचन क्षेत्र में 35,104 मतदाता पहली बार मतदान करने के पात्र हैं जबकि बुजुर्ग मतदाताओं की संख्या 12,917 और दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 10,165 है।

PM Modi बोले मेरे पास 25 साल का रोडमैप, इंडी गठबंधन के पास क्या ?

लोकसभा चुनावों के बीच पीएम मोदी (PM Modi) का कांग्रेस और इंडिया गठबंधन पर हमला लगातार जारी है। इसी कड़ी में मुंबई में जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने इंडी गठबंधन को आड़े हाथों लिया। इंडी गठबंधन में जितने दल उतने पीएम पीएम मोदी ने कहा कि मोदी के पास 10 साल रिपोर्ट… Continue reading PM Modi बोले मेरे पास 25 साल का रोडमैप, इंडी गठबंधन के पास क्या ?

सीएम अरविंद केजरीवाल आज दिल्ली में करेंगे दो रोड शो, कांग्रेस उम्मीदवारों के लिए मांगेंगे वोट

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल आज कांग्रेस के साथ अपने पहले संयुक्त चुनाव अभियान में राष्ट्रीय राजधानी में जहांगीरपुरी और मॉडल टाउन में दो रोड शो करने के लिए तैयार हैं। दिल्ली कांग्रेस के मुताबिक, सीएम केजरीवाल चांदनी चौक से कांग्रेस उम्मीदवार जय प्रकाश अग्रवाल, उत्तर पश्चिम दिल्ली से उदित राज और उत्तर पूर्वी दिल्ली… Continue reading सीएम अरविंद केजरीवाल आज दिल्ली में करेंगे दो रोड शो, कांग्रेस उम्मीदवारों के लिए मांगेंगे वोट

रायबरेली मेरी दोनों माताओं की कर्मभूमि, इसलिए यहां चुनाव लड़ने आया हूं : राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को रायबरेली के साथ अपने परिवार के रिश्तों को याद करते हुए कहा कि यह उनकी दादी और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी तथा उनकी मां सोनिया गांधी की भी कर्मभूमि रही है और इसीलिए वह यहां से चुनाव लड़ने आए हैं।

रायबरेली संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार राहुल गांधी यहां के महराजगंज स्थित मेला ग्राउंड में आयोजित एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे।

राहुल गांधी ने अपनी छोटी बहन और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा की मौजूदगी में उपस्थित लोगों को एकदम पारिवारिक माहौल में संबोधित करते हुए कहा ”आप लोग मेरा परिवार हो और रायबरेली से हमारा रिश्ता सौ साल पुराना है। हमारे परदादा पंडित जवाहर लाल नेहरू ने अपना राजनीतिक जीवन रायबरेली में किसानों, मजदूरों के साथ शुरू किया था।”

राहुल गांधी ने कुछ समय पहले सोनिया गांधी के साथ हुई बातचीत को साझा करते हुए कहा कि माँ वो होती है, जो रास्ता दिखाती है, जो रक्षा करती है। उन्होंने कहा कि उन्हें उनकी मां के साथ ही इंदिरा गांधी ने भी रास्ता दिखाया और उनकी रक्षा की। उन्होंने कहा कि इसीलिए वह कहते हैं कि उनकी दो माएं हैं।

राहुल गांधी ने अपनी बात स्पष्ट करते हुए कहा, ”मैं आपसे यह बात इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मेरी दोनों माताओं की यह कर्मभूमि है, इसीलिए रायबरेली से चुनाव लड़ने आया हूं।”

रायबरेली संसदीय क्षेत्र से इंदिरा गांधी 1967 और 1971 में निर्वाचित हुईं लेकिन आपातकाल के बाद 1977 में हुए चुनाव में वह समाजवादी नेता राजनारायण से पराजित हो गयी थीं।

1999 में सोनिया गांधी रायबरेली से सांसद निर्वाचित हुईं और 2004, 2009, 2014 और 2019 में भी उन्होंने यह सीट बरकरार रखी।

सोनिया गांधी के चुनाव नहीं लड़ने का फैसला करने के बाद कांग्रेस पार्टी ने राहुल गांधी को उम्मीदवार बनाया है।

सभा में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर तीखा प्रहार करते हुए गांधी ने कहा,‘‘ यह चुनाव इस मायने में अजीब है क्योंकि पहली बार भाजपा और आरएसएस के लोग हमारे संविधान को नष्ट करने में लगे हैं। इनके नेताओं ने कहा है कि अगर हम चुनाव जीते तो संविधान को फाड़ देंगे।”

उन्होंने अपने हाथ में ली हुई एक किताब दिखाते हुए कहा कि हिंदुस्तान के कमजोर लोगों को जो भी उनके हक मिले हैं, वे इस किताब (संविधान की प्रति दिखाते हुए) की वजह से मिले हैं।

राहुल गांधी ने आरोप लगाया, ”इस किताब के बिना जो सरकार होगी वह अडानी और अंबानी की सरकार होगी। आज जो आपकी थोड़ी भी हिफाजत है, वह खत्म हो जाएगी।”

उन्होंने प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा, ‘‘नरेन्‍द्र मोदी जिन्हें चाहते हैं वो दो तीन लोग ही सरकार चलाएंगे और जैसे ही संविधान खत्म होगा रोजगार खत्म हो जाएगा। आरक्षण खत्म हो जाएगा और गरीबों के सभी रास्ते बंद हो जाएंगे।’’

गांधी ने मतदाताओं को चेताते हुए कहा ”लड़ाई संविधान बचाने की है, गरीबों की रक्षा करने की है।”

उन्होंने आरोप लगाया ,”नरेन्द्र मोदी ने पिछले 10 साल में 22 अरबपतियों का 16 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया है।”

मीडिया की भूमिका पर सवाल उठाते हुए उन्होंने तंज किया ” आपने अंबानी की शादी, 10 करोड़ की घड़ी देखी। ये मीडिया हमारे आपके नहीं… ये अडानी-अंबानी और मोदी के हैं।’’

अगर चार जून के बाद ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आता है तो मैं अगले दिन जेल से वापस आ जाऊंगा: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि अगर लोकसभा चुनाव के परिणाम की घोषणा के बाद ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आता है तो वह पांच जून को तिहाड़ जेल से बाहर आ जाएंगे।

कथित दिल्ली आबकारी नीति घोटाले से जुड़े एक धनशोधन मामले में गिरफ्तार केजरीवाल को लोकसभा चुनाव में प्रचार के लिए उच्चतम न्यायालय ने एक जून तक अंतरिम जमानत दी है। न्यायालय के आदेश के अनुसार] उन्हें दो जून को आत्मसमर्पण करना होगा और जेल वापस जाना होगा।

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण के तहत एक जून को मतदान होगा और मतगणना एक साथ चार जून को होगी।

केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के पार्षदों को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि तिहाड़ में हिरासत के दौरान उन्हें अपमानित करने के प्रयास किए गए।

उन्होंने दावा किया, ‘‘तिहाड़ में मेरी कोठरी में दो सीसीटीवी कैमरे थे और 13 अधिकारी उनकी फीड पर नजर रख रहे थे। बताया गया कि सीसीटीवी फुटेज प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को भी दिया गया था। मोदी जी मुझ पर नजर रख रहे थे। मुझे पता नहीं कि मोदी जी को मुझसे क्या परेशानी है।’’

केजरीवाल ने कहा, ‘‘मुझे दो जून को जेल वापस जाना होगा। मैं जेल के अंदर चार जून को चुनाव परिणाम देखूंगा। अगर ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आता है तो पांच जून को मैं वापस आऊंगा।’’

मुख्यमंत्री ने रविवार को पार्टी के विधायकों से मुलाकात की थी।

कई भाजपा नेताओं ने थामा आम आदमी पार्टी का दामन, संजय सिंह ने किया स्वागत

लोकसभा चुनाव के दौरान हरियाणा में कई बड़े भाजपा नेताओं ने आम आदमी पार्टी का झाड़ू थाम लिया है। कुरुक्षेत्र में पूर्व सिंचाई मंत्री नरेंद्र शर्मा ने राज्यसभा सांसद संजय सिंह के मौजदूगी में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए। इसके अलावा कैथल नगर परिषद् की वाइस चेयरपर्सन सीमा वाल्मीकि के साथ 06 पार्षदों… Continue reading कई भाजपा नेताओं ने थामा आम आदमी पार्टी का दामन, संजय सिंह ने किया स्वागत

सुशील गुप्ता के पक्ष में प्रचार करने पहुंचे संजय सिंह, कहा- देशभर में 200 यूनिट मुफ्त बिजली मिलेगी

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह हरियाणा के कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट पर सुशील गुप्ता के पक्ष में प्रचार करने पहुंचे. जहां उन्होंने जनसभा को भी संबोधित किया. उन्होंने कहा कि जब इंडिया गठबंधन की सरकार बनेगी तो केजरीवाल की गारंटी के तहत देशभर में 200 यूनिट बिजली मुफ्त मिलेगी. साथ… Continue reading सुशील गुप्ता के पक्ष में प्रचार करने पहुंचे संजय सिंह, कहा- देशभर में 200 यूनिट मुफ्त बिजली मिलेगी

‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार बनी तो करोड़ों लखपति बनेंगे: राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को दावा किया कि ‘महालक्ष्मी योजना’ और ‘अप्रेंटिसशिप’ (प्रशिक्षुता) का उनकी पार्टी का वादा करोड़ों ‘लखपति’ बनाकर देश का चेहरा बदल देगा।

उन्होंने कहा कि इन योजनाओं का उद्देश्य गरीबों, महिलाओं और युवाओं का उत्थान करना है।

गांधी ने महाराष्ट्र के अमरावती जिले में रैली को संबोधित करते हुए कहा कि दुनिया में कोई ताकत भारत के संविधान को नहीं बदल सकती।

विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ में शामिल कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने घोषणापत्र में किए गए विभिन्न वादों में ‘महालक्ष्मी योजना’ और प्रशिक्षुता के अधिकार को सूचीबद्ध किया है।

गांधी ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी के 10 साल के शासनकाल में 22-25 लोग अरबपति बन गए, वहीं यदि ‘इंडिया’ गठबंधन सरकार में आता है तो करोड़ों लखपति बनाएगा।

उन्होंने दावा किया कि भाजपा संविधान बदलना चाहती है क्योंकि वह नहीं चाहती कि देश की 90 प्रतिशत आबादी को उनकी वास्तविक क्षमता पता चले जिनमें पिछड़े, आदिवासी, दलित और अल्पसंख्यक शामिल हैं।

गांधी ने कहा, ‘‘दुनिया में कोई भी ताकत संविधान को नहीं बदल सकती। हैरानी होती है कि भाजपा को ऐसा करने के बारे में सोचने का हौसला भी कहां से मिलता है।’’

उन्होंने कहा कि ‘महालक्ष्मी योजना’ का उद्देश्य गरीब महिलाओं को हर साल एक लाख रुपये प्रदान करना है, वहीं प्रशिक्षुता का अधिकार प्रदान करने का उद्देश्य स्नातक और डिप्लोमा धारकों को प्रशिक्षु के रूप में एक साल की नौकरी पाने में सक्षम बनाना और उनके बैंक खातों में एक लाख रुपये डालना है।

उन्होंने कहा, ‘‘देश का चेहरा बदल देंगे और करोड़ों लोगों को लखपति बना देंगे।’’