हरियाणा में बिजली महंगी हो गई हैं। बिजली की दरों को 25 से 50 पैसे प्रति यूनिट बढ़ाया गया है। घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 25 से 35 पैसे प्रति यूनिट, कमर्शियल उपभोक्ताओं के लिए 25 से 50 पचास पैसे प्रति यूनिट, औद्योगिक क्षेत्र में भी 25 से 50 पैसे प्रति यूनिट कर दी गई हैं। बिजली की दरें एक जुलाई से लागू होंगी।

गर्मी से झुलस रहे देश के पांच राज्यों को हिमाचल प्रदेश बड़ी राहत दे रहा है। पंजाब, यूपी, हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान को पहली मई से हिमाचल ने बिजली सप्लाई देना शुरू कर दिया है। पड़ोसी राज्यों को बैंकिंग पर 1550 मिलियन यूनिट बिजली की सप्लाई दी जानी है। गर्मी बढ़ते ही हिमाचल में भी बिजली उत्पादन बढ़ गया है। इन दिनों रोजाना 255 मिलियन यूनिट बिजली का उत्पादन हो रहा है। सर्दियों के मौसम में बिजली संकट से जूझने वाले हिमाचल प्रदेश को पड़ोसी राज्य 15 अक्तूबर से 31 मार्च तक बिजली की सप्लाई देते हैं। बैंकिंग पर ली जाने वाले

बिजली निगम के मीटर स्लो पर जुर्माना ठोकने से खफा एक बिजली उपभोक्ता ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को मेल भेजकर योगी बनने की सलाह दी है। मुख्यमंत्री को नसीहत देने वाली मेल अब चर्चा में है। पीड़ित का आरोप है कि उनके दोनों मीटरों में कोई गड़बड़ नहीं मिली थी। सब अर्बन के कर्मचारियों के मीटर पैकिंग के समय एक मीटर की सील जंग लगी होने के कारण टूट गई थी। इसके बाद भी उन पर जुर्माना लगा दिया गया। उपभोक्ता ने जुर्माना जमा करा दिया है। लेकिन, अब वह इंसाफ के लिए निगम के उच्च अधिकारियों के साथ ही

लखनऊ यूपी में सीएम योगी मंगलवार को कैबिनेट की दूसरी बैठक हुई. इस बैठक में 24 घंटे बिजली देने के अलावा रोस्टर प्रणाली को जमीनी स्तर पर लागू करने को मंजूरी दी गई. बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी देते हुए कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा की सरकार किसानों के प्रति समर्पित है. अक्टूबर 2018 तक हर जगह 24 घंटे बिजली दी जाएगी. इससे पहले गांवों को 18 घंटे, तहसील मुख्यालय को 20 घंटे बिजली दी जाएगी. साथ ही बुंदेलखंड को भी 20 घंटे बिजली दी जाएगी. इसके अलावा जिला मुख्यालय को 24 घंटे बिजली दी जाएगी. उन्होंने आगे कहा कि

हरियाणा में बिजली प्रवाइडर्स ने राज्य में बिजली की चोरी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की घोषणा की। बिजली प्रवाइडर्स के एक प्रवक्ता ने कहा कि उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम (UHBVN) और दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम (DHBVN) ने बिजली की चोरी करने वाले सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आदेश दिया है। प्रवक्ता ने कहा, 'बिजली की चोरी में शामिल पाए जाने वाले किसी भी विभाग के कर्मचारियों के खिलाफ बिजली अधिनियम और साथ ही हरियाणा सिविल सेवा निगम 2016 के तहत कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा उन पर भारी जुर्माना लगाने के अलावा उनके खिलाफ