SKM के आह्वान पर UP में कई जगहों पर किसानों ने निकाला ट्रैक्टर मार्च

न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, आंदोलन के दौरान किसानों के खिलाफ दर्ज किये गये पुलिस मामले वापस लेने सहित अन्य मांगों को लेकर किसान पंजाब और हरियाणा की खनौरी तथा शंभू सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

किसान आंदोलन: अस्थाई तौर पर खोला गया सिंघु और टिकरी बॉर्डर, लोगों को मिली राहत

गौरतलब हो कि दिल्ली की ओर मार्च रोके जाने के बाद हजारों किसान दिल्ली से लगभग 200 किलोमीटर दूर अंबाला के पास पंजाब-हरियाणा सीमा पर डेरा डाले हुए हैं।

किसान आंदोलन: कुछ मुद्दों पर दोनों पक्षों के बीच बातचीत की जरूरत- अर्जुन मुंडा, केंद्रीय कृषि मंत्री

अर्जुन मुंडा ने किसानों के दिल्ली कूच को लेकर आगे बात करते हुए कहा कि “मैं कहना चाहूंगा कि किसानों के साथ कई दौर की बातचीत हुई। कुछ मुद्दों की सहमति के लिए दोनों पक्षों को और मेहनत करनी होगी। उन्होंने आगे कहा कि भारत सरकार किसानों के हित में काम करने के लिए प्रतिबद्ध है और वह ऐसा ही कर रही है।”

किसान आंदोलन: किसान नेता ने राहुल गांधी के MSP वादे को बताया चुनावी हथकंडा

गौरतलब हो कि प्रदर्शनकारी किसान अभी पंजाब-हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर डटे हुए हैं। एमएसपी की कानूनी गारंटी, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करना समेत कई मागों को पूरा करने के लिए किसान सरकार से अपील कर रहे हैं।

किसान आंदोलन: जरूरत पड़ी तो और बढ़ाई जाएगी सुरक्षा- झज्जर SP

अर्पित जैन ने दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि जिले में अब शांति है, हम कोशिश कर रहे हैं कि आगे भी जिले में शांति बनी रहे और कोई कानून-व्यवस्था न बिगड़े।

Farmer Protest: दिल्ली की सीमा सील, भारी सुरक्षा बंदोबस्त

किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर मध्य दिल्ली में भारी सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं, जिसमें दंगा-रोधी उपकरणों के साथ कर्मियों को रणनीतिक रूप से तैनात किया गया है और कई प्रमुख सड़कों तक आवाजाही को नियंत्रित रखने के लिए धातु और कांक्रीट के अवरोधक लगाए गए हैं

किसानों का प्रदर्शन मार्च, हरियाणा पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े

किसानों के ‘दिल्ली चलो’ विरोध मार्च में शामिल युवाओं के एक समूह ने मंगलवार को अंबाला में शंभू बॉर्डर पर लगाए गए बैरिकेड को तोड़ने की कोशिश की, जिसके बाद भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हरियाणा पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

किसानों ने दिल्ली कूच का किया एलान, बॉर्डर पर तैनात की गई Paramilitary Force

पंजाब के किसान दिल्ली जाने के लिए सिंघु बॉर्डर, डबवाली, और संगरूर के निकट खनौरी बॉर्डर से हरियाणा में एंट्री करेंगे जिसको देखते हुए सिंघु बॉर्डर पर सीमेंट की बैरिकेडिंग और कंटीली तारें बिछाई गई हैं। इससे पहले हरियाणा पुलिस हाई अलर्ट पर है। हरियाणा के सात जिलों में इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है।

अपनी मांगों को लेकर किसानों का प्रदर्शन, बॉर्डर पर एंट्री रोकने के लिए की गई बैरिकेडिंग

केंद्र सरकार के खिलाफ चंडीगढ़ में पंजाब और हरियाणा के किसानों का आंदोलन जारी है। हरियाणा और पंजाब के अलग-अलग जिलों से किसान चंडीगढ़ कूच कर रहे है।

पराली जलाने के मुद्दे पर बोले CM मान, कहा- ‘अगर हमें MSP मिले तो पंजाब वैकल्पिक फसलें उगा सकता है

मुख्यमंत्री मान ने कहा, “हम बैठकें कर रहे हैं। यहां तक कि पराली जलाने से रोकने के लिए अगले साल की योजना के लिए भी, विकल्प ढूंढने के लिए। हमने अदालत को लिखा कि अन्य फसलों पर भी एमएसपी होना चाहिए। हम सूरजमुखी, मक्का उगाएंगे। हम दालें उगा सकते हैं, हमारी जमीन है बहुत उपजाऊ। भारत कोलंबिया से 2 बिलियन डॉलर मूल्य की दालें आयात करता है। हम इसे भी उगा सकते हैं। लेकिन हमें इसके लिए एमएसपी मिलना चाहिए, “