जम्मू कश्मीर: 35 साल बाद नवरात्रि पर जम्मू में इकट्ठा हुए कश्मीरी प्रवासी

कुलगाम के इन प्रवासियों ने यहां भजन गाए और बाकी रीतियों में भी हिस्सा लिया। मौका सिर्फ नवरात्रि का ही नहीं था, इनके लिए अपनी बिरदारी को एक साथ देखना सबसे बड़ी बात थी।

जम्मू कश्मीर के रियासी में आतंकी ठिकाने का भंडाफोड़, हथियार एवं विस्फोटक बरामद

सुरक्षा बलों ने शनिवार को यहां एक आतंकवादी ठिकाने का भंडाफोड़ किया और मौके से हथियार एवं गोला-बारूद बरामद किये। पुलिस ने यह जानकारी दी।

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि रियासी के माहौर उपमंडल के लांचा इलाके में जम्मू-कश्मीर पुलिस और राष्ट्रीय राइफल्स के संयुक्त अभियान के दौरान आतंकी ठिकाने का भंडाफोड़ किया गया।

पुलिस ने कहा कि एक गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए टीम ने तलाशी अभियान चलाया और एक टिफिन बॉक्स में लगा एक परिष्कृत विस्फोटक उपकरण (आईईडी) एवं दो पिस्तौल बरामद कीं।

उन्होंने बताया कि आखिरी समाचार मिलने तक यह अभियान जारी था।

प्रवक्ता ने बताया कि आईईडी और दो पिस्तौल के अलावा, सुरक्षा बलों की टीम ने तीन इलेक्ट्रिक डेटोनेटर, 400 ग्राम बारूद, पिस्तौल की दो मैगजीन एवं 24 गोलियां, ए के असॉल्ट राइफल की 40 गोलियां, आठ बैटरी, 40 मीटर बिजली के तार, पांच मीटर प्लास्टिक की रस्सी भी बरामद की।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा मौके से एक स्टील प्लेट, एक गिलास, एक बैग, तीन बेडशीट और कुछ तस्वीरें भी बरामद की गयी हैं।

जम्मू-कश्मीर, लद्दाख में तीन-तीन सीट पर चुनाव लड़ेंगी कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस

कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने सोमवार को ऐलान किया कि वे इस लोकसभा चुनाव में जम्मू-कश्मीर एवं लद्दाख की कुल छह सीटों पर मिलकर चुनाव लड़ेंगे।

कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस तीन-तीन सीटों पर चुनाव लड़ेंगी।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने सीट बंटवारे की घोषणा की।

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस मिलकर चुनाव लड़ेंगी तथा दोनों तीन-तीन सीट पर चुनाव लड़ेंगी।

ऊधमपुर, जम्मू और लद्दाख लोकसभा सीटों से कांग्रेस चुनाव लड़ेगी। नेशनल कॉन्फ्रेंस अनंतनाग, श्रीनगर और बारामूला लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ेगी।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने संवाददाताओं से कहा, “हम सबने मिलकर प्रयास किया कि जल्द से गठबंधन किया जाए। यह हो गया है और सबके लिए खुशी का मौका है।”

इससे पहले पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) तीन सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है।

कांग्रेस, नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी तीनों विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (‘इंडिया’) का हिस्सा हैं।

जम्मू-कश्मीर के राजौरी में संदिग्ध गतिविधि दिखाई देने पर सेना ने गोलीबारी की

जम्मू-कश्मीर में राजौरी जिले के एक गांव में शनिवार तड़के सेना के जवानों ने अपने शिविर के निकट संदिग्ध गतिविधि दिखाई देने पर गोलीबारी की। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि दरहाल इलाके में स्रोथा मोरहा गांव में हुई गोलीबारी में कोई हताहत नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा कि अज्ञात व्यक्तियों के एक समूह को शिविर की ओर बढ़ते देखकर एक संतरी ने गोलियां चलाईं, जिसके बाद यह समूह निकटवर्ती गांव में भाग गया। उन्होंने कहा कि संदिग्धों की तलाश में अभियान चलाया जा रहा है।

अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों ने शनिवार सुबह राजौरी के शाहदरा शरीफ इलाके में भी तलाशी अभियान चलाया लेकिन इस मामले में किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

जम्मू-कश्मीर की उधमपुर सीट पर तीन उम्मीदवार करोड़पति: चुनावी शपथपत्र

जम्मू-कश्मीर की उधमपुर लोकसभा सीट पर तीन प्रमुख उम्मीदवार करोड़पति हैं। निर्वाचन आयोग को सौंपे गए चुनावी हलफनामों से यह जानकारी मिली है।

उधमपुर लोकसभा सीट पर 19 अप्रैल को मतदान होगा।

चुनावी हलफनामों के अनुसार हाल में कांग्रेस में फिर से शामिल हुए चौधरी लाल सिंह इस सीट से अपना चौथा लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं और पिछले डेढ़ दशक में उनकी संपत्ति में कई गुना वृद्धि हुई है।

उन्होंने और उनकी पत्नी एवं पूर्व विधायक कांता अंडोत्रा ने 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए दिए हलफनामे में क्रमशः 1.79 करोड़ रुपये और 1.76 करोड़ रुपये की चल और अचल संपत्ति दिखाई है, जबकि 2009 के लोकसभा चुनाव में उनकी संपत्ति क्रमश: 7.27 लाख रुपये और 10.62 लाख रुपये थी।

चौधरी लाल सिंह (65) प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा धनशोधन मामले में जांच का सामना कर रहे हैं। उन्होंने बुधवार को उधमपुर-कठुआ लोकसभा क्षेत्र अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इस दौरान उन्होंने हलफनामा भी दिया है।

चौधरी लाल सिंह को उनकी पत्नी द्वारा संचालित एक शैक्षिक ट्रस्ट के खिलाफ धनशोधन मामले में ईडी ने पिछले साल सात नवंबर को गिरफ्तार किया था। हालांकि तीन हफ्ते बाद उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

अपने नये हलफनामे में, चौधरी लाल सिंह ने अपनी चल संपत्ति का मूल्य 26,53,027 रुपये और अचल संपत्ति का मूल्य 1.53 करोड़ रुपये बताया है। वर्ष 2024 में उनकी पत्नी की चल संपत्ति 76.60 लाख रुपये और अचल संपत्ति एक करोड़ रुपये की है।

नये हलफनामे के अनुसार संपत्ति में उनके पास 45,000 रुपये की नकदी और उनकी पत्नी के पास 40,000 रुपये की नकदी हैं। इसके अनुसार उनके और उनकी पत्नी के तीन-तीन बैंक खातों में क्रमशः 11.63 लाख रुपये और 25.40 लाख रुपये से अधिक की राशि हैं।

इसके अनुसार संपत्ति में उनकी पत्नी के नाम पर मरहीन में एक आवास और बशोली में गैर-कृषि भूमि भी शामिल है।

हलफनामे के अनुसार कांग्रेस उम्मीदवार पर 20.34 लाख रुपये की देनदारी है, जिसमें यूको बैंक का 15.34 लाख रुपये का कर्ज भी शामिल है, जबकि उनकी पत्नी पर जम्मू-कश्मीर विधानसभा का पांच लाख रुपये का कर्ज है।

उन्होंने 2009 में अपनी चल संपत्ति 2,27,378 रुपये और अचल संपत्ति पांच लाख रुपये घोषित की थी, जबकि उनकी पत्नी की अचल और चल संपत्ति क्रमशः 5,62,000 रुपये और पांच लाख रुपये घोषित की गई थी।

हलफनामे के मुताबिक, केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने आरबी एजुकेशन ट्रस्ट में चौधरी लाल सिंह के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है, जिसे बाद में 2022 में ईडी ने धनशोधन के मामले में बदल दिया गया।

उनके अलावा, इस सीट पर दो और करोड़पति उम्मीदवार हैं, जिनमें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता एवं केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और गुलाम नबी आजाद के नेतृत्व वाली डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव आजाद पार्टी (डीपीएपी) के उम्मीदवार जी. एम. सरूरी शामिल हैं।

वर्ष 2014 और 2019 के चुनावों में उधमपुर सीट से जीत दर्ज करने वाले जितेंद्र सिंह ने अपनी चल संपत्ति 3.33 करोड़ रुपये और अचल संपत्ति 3.71 करोड़ रुपये की बताई है। उनकी पत्नी मंजू सिंह की चल संपत्ति 88.88 लाख रुपये और अचल संपत्ति 66 लाख रुपये आंकी गई है।

डीपीएपी उम्मीदवार सरूरी के पास 4,446,542 रुपये की चल संपत्ति और 1,11,560 रुपये की नकदी हैं। उनके पास कोई आभूषण नहीं है।

हलफनामे के अनुसार उनकी पत्नी के पास 2,828,247 रुपये की चल संपत्ति है, जिसमें 500 ग्राम सोना और 151,500 रुपये की नकदी शामिल हैं।

इसके अनुसार सरूरी के पास 51,924,450 रुपये की अचल संपत्ति है, जबकि उनकी पत्नी के पास 8,407,755 रुपये की अचल संपत्ति है।

इस सीट के लिए निर्दलीयों समेत 12 उम्मीदवारों के नामांकन वैध पाए गए हैं।

जम्मू संसदीय सीट के लिए अधिसूचना जारी, 26 अप्रैल को मतदान

जम्मू लोकसभा सीट पर 26 अप्रैल को होने वाले मतदान के लिए बृहस्पतिवार को अधिसूचना जारी कर दी गई। एक निर्वाचन अधिकारी ने यह जानकारी दी।

जम्मू क्षेत्र देश भर के उन 88 संसदीय क्षेत्रों में एक है जहां 26 अप्रैल को दूसरे चरण में मतदान होना है।

जम्मू के जिलाधिकारी और क्षेत्र के निर्वाचन (रिटर्निंग) अधिकारी सचिन कुमार वैश्य ने नामांकन दाखिल करने के लिए अधिसूचना जारी की।

उन्होंने कहा कि चार अप्रैल तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे जबकि नामांकनों की जांच छह अप्रैल को की जाएगी। नाम वापस लेने की आखिरी तारीख आठ अप्रैल है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जम्मू सीट से अपने मौजूदा सांसद जुगल किशोर को जबकि कांग्रेस ने पूर्व मंत्री रमन भल्ला को उम्मीदवार बनाया है।

कुपवाड़ा में सुरक्षा बलों ने भारी मात्रा में हथियार, बारूद बरामद किया

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में हथियारों और गोला-बारूद का बड़ा जखीरा बरामद किया। बल ने इसकी जानकारी दी।

सीमा सुरक्षा बल ने कहा कि यह जब्ती सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के संयुक्त तलाशी अभियान के दौरान की गई।

उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर बीएसएफ, भारतीय सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस ने बुधवार को कुपवाड़ा जिले के रंगवार में एक संयुक्त तलाशी अभियान शुरू किया और इस दौरान बड़े पैमाने पर हथियार एवं कारतूस बरामद किया गया ।

जम्मू में कुख्यात अपराधी को पीएसए के तहत गिरफ्तार किया गया

कुख्यात अपराधी विक्रमजीत सिंह उर्फ “विक्की” को यहां कठोर ‘जन सुरक्षा अधिनियम’ (पीएसए) के तहत गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी।

पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि विक्रमजीत सिंह के खिलाफ विभिन्न थानों में 15 प्राथमिकी दर्ज हैं और उसकी गिरफ्तारी के लिए कई वारंट जारी किए जा चुके थे।

प्रवक्ता ने कहा कि गंग्याल थाने की एक टीम ने वांछित अपराधी के खिलाफ जारी पीएसए वारंट पर अमल करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने कहा, “उसकी हिरासत जम्मू जिले में कानून व्यवस्था में सुधार की दिशा में एक और कदम है।”

इस बीच, प्रवक्ताओं ने कहा कि शनिवार को जम्मू में ‘ऑपरेशन क्लीनअप’ के तहत मादक पदार्थों के खिलाफ छापेमारी के दौरान 75 से अधिक संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया।

प्रवक्ता ने कहा कि भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) की सहायता से पुलिस ने राजीव नगर और धड़प-सतवारी में छापे मारे और एक कुख्यात मादक पदार्थ तस्कर के घर से 95,950 रुपये बरामद किए।

जम्मू कश्मीर के पुंछ में एक आतंकी ठिकाने का भंडाफोड़, सात आईईडी बरामद

सुरक्षा बलों ने रविवार को जम्मू कश्मीर में पुंछ जिले के एक जंगल में आतंकवादियों के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया और सात आईईडी बरादम किये तथा एक वायरलेस सेट जब्त किया।

अधिकारियों ने बताया कि यह ठिकाना सुरनकोट इलाके में दारा सांगला में एक गुफा के अंदर था। पुलिस और सेना के संयुक्त खोज दल ने इसका भंडाफोड़ किया।

उन्होंने बताया कि ठिकाने से कंबल और कुछ अन्य सामान भी बरामद किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि एक मामला दर्ज किया गया है और मामले की जांच की जा रही है। अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

अधिकारियों ने बताया कि प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि इलाके में दो दशक पहले सक्रिय आतंकवादी इस ठिकाने का इस्तेमाल करते थे।

दो दिन बंद रहने के बाद जम्मू कश्मीर राजमार्ग एकतरफा यातायात के लिए खुला

भारी बारिश और बर्फबारी के कारण कई स्थानों पर हुए भूस्खलन के कारण दो दिन तक बंद रहने के बाद सोमवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को एक तरफ से यातायात के लिए दोबारा खोल दिया गया है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी।

अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर को देश के शेष हिस्से से जोड़ने वाला 270 किलोमीटर लंबा यह राजमार्ग नाशरी और बनिहाल के बीच, दलवास और हिंगनी समेत एक दर्जन से अधिक स्थानों पर भारी बारिश की वजह से हुये भूस्खलन, मिट्टी धंसने और पत्थर गिरने की घटना के बाद शनिवार तड़के यातायात के लिए बंद कर दिया गया था।

यातायात पुलिस ने बताया कि दलवास, मेहद-कैफेटेरिया, नचलाना, गंगरू, हिंगनी, किश्तवाड़ी पाथेर में सिंगल लेन और सड़क की खराब सतह को देखते हुए, सड़क की दोहरी मरम्मत होने तक आज सुबह केवल एक तरफ से यातायात फिर से शुरू किया गया।

उन्होंने कहा कि आज जम्मू से श्रीनगर तक यातायात सामान्य रूप से चल रहा है।

हालांकि, यातायात विभाग ने यात्रियों को लेन अनुशासन का पालन करने और सावधानी से वाहन चलाने की सलाह दी है।