Rahul Gandhi Birthday Celebration: 54 साल के हुए राहुल, खरगे, अखिलेश और कई अन्य नेताओं ने बधाई दी

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं और विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (‘इंडिया’) के कुछ नेताओं ने बुधवार को राहुल गांधी को उनके जन्मदिन के अवसर पर बधाई दी।

कांग्रेस नेताओं ने राहुल गांधी को कमजोरों की आवाज, संविधान के प्रति अटूट आस्था रखने वाला तथा सत्ता को सच का आईना दिखाने वाला बताया।

राहुल गांधी का जन्म 19 जून, 1970 को नई दिल्ली में हुआ था। वह पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी की ज्येष्ठ संतान हैं। वर्तमान में वह उत्तर प्रदेश के रायबरेली से लोकसभा सदस्य हैं। इससे पहले वह केरल के वायनाड से सांसद थे।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने पार्टी मुख्यालय में खरगे के साथ मिलकर अपने जन्मदिन का केक काटा। इस मौके पर प्रियंका गांधी और कई अन्य नेता मौजूद थे।

खरगे ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘राहुल गांधी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं। भारत के संविधान में निहित मूल्यों के प्रति आपकी अटूट प्रतिबद्धता और लाखों अनसुनी आवाज़ों के प्रति आपकी सशक्त करुणा, ऐसे गुण हैं जो आपको दूसरों से अलग करते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी का विविधता में एकता, सद्भाव और करुणा का लोकाचार आपके सभी कार्यों में दिखाई देता है, क्योंकि आप सत्ता को सच्चाई का आईना दिखाकर अंतिम व्यक्ति के आंसू पोंछने के अपने मिशन में लगे हुए हैं। मैं आपके लंबे, स्वस्थ और सुखी जीवन की कामना करता हूं।’’

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने भी अपने बड़े भाई को बधाई दी और कहा कि राहुल गांधी उनके लिए दोस्त, मागदर्शक और नेता भी हैं।

उन्होंने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘मेरे प्यारे भाई को जन्मदिन की शुभकामनाएं… हमेशा मेरे दोस्त, मेरे सहयात्री, तर्कशील मार्गदर्शक, दार्शनिक और नेता हैं। चमकते रहिए, आपको सबसे ज्यादा प्यार!’’

कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘मैं अपने प्रिय नेता राहुल गांधी जी को शुभकामनाएं देने वाले करोड़ों भारतीय नागरिकों में खुद को शामिल करता हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘राहुल जी भारत के गरीबों, वंचितों और पिछड़े नागरिकों के निर्विवाद नेता हैं। वह बेजुबानों की आवाज, कमजोरों के लिए शक्ति का स्तंभ, हमारे संविधान के संरक्षक, न्याय योद्धा और गौरवशाली भविष्य के लिए भारत की सबसे उज्ज्वल आशा हैं।’’

उन्होंने कहा कि लोगों की सेवा करने के लिए राहुल गांधी की निस्वार्थ, समर्पित और भावुक प्रतिबद्धता सभी के लिए प्रेरणा है और उनका नैतिक मार्गदर्शन हर कदम पर रास्ता दिखाता है।

वेणुगोपाल ने कहा, ‘‘उन्होंने हर तरफ से हमलों का सामना किया है, लेकिन वह दृढ़ता से खड़े रहे और अपने सिद्धांतों से कभी नहीं डिगे, चाहे उन्हें कितना भी उपहास या अपमान का सामना करना पड़े।’’

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘‘मैं कामना करता हूं कि उनका जीवन खुशियों से भरा रहे और उन्हें अच्छी लड़ाई लड़ने की ताकत मिले।’’

पार्टी के अन्य नेताओं ने भी राहुल गांधी को उनके जन्मदिन पर बधाई दी।

‘इंडिया’ गठबंधन के घटक समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘राहुल गांधी जी को जन्मदिन की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायें।’’

द्रमुक नेता और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने राहुल गांधी को जन्मदिन की बधाई दी।

उन्होंने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘जन्मदिन मुबारक हो, प्रिय भाई राहुल गांधी। देश के लोगों के प्रति आपका समर्पण आपको नई ऊंचाइयों पर ले जाएगा। आपको निरंतर प्रगति और सफलता के लिए शुभकामनाएं।’’

UP: राहुल गांधी के खिलाफ अगली सुनवाई 26 जून को, जानें क्या है पूरा मामला

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने के मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ एमपी/एमएलए अदालत में मंगलवार को सुनवाई होनी थी, लेकिन न्यायाधीश के अवकाश पर रहने और ज्येष्ठ माह का अंतिम मंगलवार होने पर

अमृतपाल सिंह और अब्दुल राशिद जीते चुनाव, जेल में रहकर कैसे लेंगे शपथ?

लोकसभा चुनाव में 2 सांसद ऐसे भी चुने गए हैं, जो जेल में बंद हैं। पंजाब की खडूर साहिब सीट पर NSA के तहत गिरफ्तार अमृतपाल सिंह ने जीत दर्ज की। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर की बारामूला सीट पर आतंकवाद के वित्तपोषण के आरोपी शेख अब्दुल राशिद उर्फ ​​इंजीनियर राशिद ने जीत दर्ज की है। ऐसे… Continue reading अमृतपाल सिंह और अब्दुल राशिद जीते चुनाव, जेल में रहकर कैसे लेंगे शपथ?

सेना को अग्निवीर योजना नहीं चाहिए, ‘इंडिया’ गठबंधन इसे कूड़ेदान में फेंक देगा: राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि अगर ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आया तो अग्निवीर योजना को खत्म कर दिया जाएगा और इसे कूड़ेदान में फेंक दिया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने ‘हिन्दुस्तान के जवानों को मजदूरों में बदलने’ के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की आलोचना की।

लोकसभा चुनाव के लिए हरियाणा में अपनी पहली जनसभा में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने किसानों के मुद्दे पर भी प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा।

अग्निवीर योजना को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार की आलोचना करते हुए राहुल गांधी ने दावा किया, ”यह सेना की योजना नहीं बल्कि मोदी की योजना है, सेना ऐसा नहीं चाहती।”

राहुल गांधी ने महेंद्रगढ़-भिवानी लोकसभा क्षेत्र में आयोजित रैली में कहा, ”जब ‘इंडिया’ (इंडियन नेशनल डेवलपमेंट इंक्लूसिव अलायंस) की सरकार बनेगी तो हम अग्निवीर योजना को कूड़ेदान में फेंक देंगे।”

उन्होंने कहा कि भारत की सीमाएं देश के युवाओं द्वारा सुरक्षित हैं और ‘’हमारे युवाओं के डीएनए में देशभक्ति है।’’

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ”मोदी ने हिन्दुस्तान के जवानों को मजदूरों में बदल दिया है।”

राहुल गांधी ने भाजपा सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा, ”वे कहते हैं कि शहीद दो तरह के होंगे – एक सामान्य जवान और अधिकारी जिन्हें पेंशन, शहीद का दर्जा, सारी सुविधाएं मिलेंगी और दूसरी तरफ गरीब परिवार का व्यक्ति जिसे अग्निवीर नाम दिया गया है। अग्निवीरों को न शहीद का दर्जा मिलेगा, न पेंशन और न ही कैंटीन की सुविधा मिलेगी।”

किसानों के मुद्दे पर निशाना साधते हुए गांधी ने मोदी सरकार पर 22 अरबपतियों का 16 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि चार जून को जब हम सत्ता में आएंगे तो किसानों का कर्ज माफ करेंगे।

गांधी ने कहा, ‘‘जहां तक कृषि ऋण को माफ करने का सवाल है तो हम कर्ज माफी आयोग लाएंगे।’’

राहुल और अखिलेश ने प्रधानमंत्री पर किसानों-युवाओं को ‘नजरअंदाज’ करने का आरोप लगाया

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर ‘अरबपतियों’ के लिए काम करने और किसानों और बेरोजगार युवाओं की अनदेखी करने का आरोप लगाया।

इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस (इंडिया) के सहयोगी दलों के नेताओं राहुल और अखिलेश ने यहां रानी झांसी किले के पास एक संयुक्त रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अगर ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आता है तो वे युवाओं और किसानों के लिए काम करेंगे।

यह संयुक्त रैली झांसी से कांग्रेस उम्मीदवार प्रदीप जैन और हमीरपुर से सपा उम्मीदवार अजेंद्र राजपूत के प्रचार के लिए आयोजित की गई थी।

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने देश में 100 ‘स्मार्ट सिटी’ बनाने का वादा किया था, लेकिन ‘‘इस दिशा में कुछ नहीं किया।’’

उन्होंने कहा कि जब सैकड़ों लोग कोविड—19 महामारी से जान गंवा रहे थे तब प्रधानमंत्री ने लोगों से थालियां बजाने के लिए कहा।

सपा अध्यक्ष ने इस मौके पर दावा किया कि लोकसभा चुनाव के चार चरणों के रुझान इस बात का सुबूत हैं कि ”भाजपा का ग्राफ नीचे जा रहा है और इस पार्टी की हार निश्चित है।”

यादव ने मौजूदा सरकार पर किसानों और युवाओं को निराश करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में लगातार प्रश्नपत्र लीक होने से युवाओं का भविष्य खतरे में पड़ गया है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दावा किया कि अगर भाजपा दोबारा सत्ता में आई तो वह गरीबों की ढाल यानी संविधान को ‘तार-तार’ कर देगी।

हमीरपुर और झांसी सीट पर लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में 20 मई को मतदान होगा।

राहुल ने दावा किया कि मोदी सरकार ने 22 ‘अरबपतियों’ का 16 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर दिया। यह धनराशि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत अगले 24 साल के लिये आवंटित होने वाली धनराशि के बराबर है।

उन्होंने यह भी कहा कि अगर ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आता है, तो गरीब परिवारों की एक सूची तैयार की जाएगी और ऐसे प्रत्येक परिवार की एक महिला के बैंक खाते में सालाना एक लाख रुपये या 8,500 रुपये प्रति माह अंतरित किए जाएंगे।

राहुल ने बेरोजगार युवाओं के लिए सरकारी कार्यालयों और सार्वजनिक क्षेत्रों में एक वर्ष की ‘प्रशिक्षुता’ और उसके बाद योग्यता के आधार पर उनकी स्थायी भर्ती का भी वादा किया।

उन्होंने कहा कि अगर ‘इंडिया’ गठबंधन सत्ता में आया तो वह वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के मौजूदा पांच स्लैब को खत्म करके सिर्फ एक स्लैब बनाया जाएगा।

कांग्रेस नेता ने “अग्निवीर योजना” को खत्म करने और पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करके सशस्त्र बलों में स्थायी रोजगार की व्यवस्था फिर से लागू करने का भी वादा किया।

राहुल ने सोनिया के साथ वीडियो जारी कर रायबरेली, अमेठी के साथ परिवार के रिश्तों का उल्लेख किया

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को अपनी मां सोनिया गांधी के साथ अपना एक वीडियो जारी कर रायबरेली एवं अमेठी से अपने परिवार की पुरानी यादों का उल्लेख किया और कहा कि इन दोनों संसदीय क्षेत्रों की जनता ने उनके परिवार को सब कुछ दिया है और लोग जब भी पुकारेंगे, वह वहां जाएंगे।

सोनिया गांधी और राहुल गांधी छह मिनट 12 सेकेंड की अवधि वाले इस वीडियो में रायबरेली और अमेठी से जुड़ी इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की तस्वीरें वाले अलबम को पलटते और दोनों क्षेत्रों से पुराने रिश्तों के बारे में बात करते देखे जा सकते हैं।

राहुल गांधी ने यह वीडियो सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट कर कहा, ‘‘रायबरेली और अमेठी हमारे लिए सिर्फ चुनाव क्षेत्र नहीं, हमारी कर्मभूमि है, जिसका कोना कोना पीढ़ियों की यादें संजोए हुए है। मां के साथ पुरानी तस्वीरें देखकर पापा और दादी की याद भी आ गयी, जिनकी शुरू की गयी सेवा की परंपरा मैंने और मां ने आगे बढ़ाई।’’

उन्होंने कहा, ‘‘प्रेम और विश्वास की बुनियाद पर खड़े 100 वर्षों से भी पुराने इस रिश्ते ने हमें सब कुछ दिया है। अमेठी और रायबरेली जब भी हमें पुकारेंगे, हम वहां मिलेंगे।’’

उनका कहना है कि वह रायबरेली में इंदिरा गांधी एवं सोनिया गांधी के कार्यों को आगे ले जाएंगे।

सोनिया गांधी इस वीडियो में रायबरेली और अमेठी के अपने कई दौरों और कार्यों का उल्लेख करते हुए कहती हैं कि इन दोनों क्षेत्रों के लोगों के साथ उनका रिश्ता बेटी-बहू वाला रहा है।

राहुल गांधी पहली बार रायबरेली से लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। वह 2004 से 2019 तक अमेठी से लोकसभा सदस्य रहे। वर्तमान में वह केरल के वायनाड से सांसद हैं।

अमेठी और रायबरेली में 20 मई को मतदान होना है।

रायबरेली मेरी दोनों माताओं की कर्मभूमि, इसलिए यहां चुनाव लड़ने आया हूं : राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को रायबरेली के साथ अपने परिवार के रिश्तों को याद करते हुए कहा कि यह उनकी दादी और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी तथा उनकी मां सोनिया गांधी की भी कर्मभूमि रही है और इसीलिए वह यहां से चुनाव लड़ने आए हैं।

रायबरेली संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार राहुल गांधी यहां के महराजगंज स्थित मेला ग्राउंड में आयोजित एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे।

राहुल गांधी ने अपनी छोटी बहन और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा की मौजूदगी में उपस्थित लोगों को एकदम पारिवारिक माहौल में संबोधित करते हुए कहा ”आप लोग मेरा परिवार हो और रायबरेली से हमारा रिश्ता सौ साल पुराना है। हमारे परदादा पंडित जवाहर लाल नेहरू ने अपना राजनीतिक जीवन रायबरेली में किसानों, मजदूरों के साथ शुरू किया था।”

राहुल गांधी ने कुछ समय पहले सोनिया गांधी के साथ हुई बातचीत को साझा करते हुए कहा कि माँ वो होती है, जो रास्ता दिखाती है, जो रक्षा करती है। उन्होंने कहा कि उन्हें उनकी मां के साथ ही इंदिरा गांधी ने भी रास्ता दिखाया और उनकी रक्षा की। उन्होंने कहा कि इसीलिए वह कहते हैं कि उनकी दो माएं हैं।

राहुल गांधी ने अपनी बात स्पष्ट करते हुए कहा, ”मैं आपसे यह बात इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मेरी दोनों माताओं की यह कर्मभूमि है, इसीलिए रायबरेली से चुनाव लड़ने आया हूं।”

रायबरेली संसदीय क्षेत्र से इंदिरा गांधी 1967 और 1971 में निर्वाचित हुईं लेकिन आपातकाल के बाद 1977 में हुए चुनाव में वह समाजवादी नेता राजनारायण से पराजित हो गयी थीं।

1999 में सोनिया गांधी रायबरेली से सांसद निर्वाचित हुईं और 2004, 2009, 2014 और 2019 में भी उन्होंने यह सीट बरकरार रखी।

सोनिया गांधी के चुनाव नहीं लड़ने का फैसला करने के बाद कांग्रेस पार्टी ने राहुल गांधी को उम्मीदवार बनाया है।

सभा में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर तीखा प्रहार करते हुए गांधी ने कहा,‘‘ यह चुनाव इस मायने में अजीब है क्योंकि पहली बार भाजपा और आरएसएस के लोग हमारे संविधान को नष्ट करने में लगे हैं। इनके नेताओं ने कहा है कि अगर हम चुनाव जीते तो संविधान को फाड़ देंगे।”

उन्होंने अपने हाथ में ली हुई एक किताब दिखाते हुए कहा कि हिंदुस्तान के कमजोर लोगों को जो भी उनके हक मिले हैं, वे इस किताब (संविधान की प्रति दिखाते हुए) की वजह से मिले हैं।

राहुल गांधी ने आरोप लगाया, ”इस किताब के बिना जो सरकार होगी वह अडानी और अंबानी की सरकार होगी। आज जो आपकी थोड़ी भी हिफाजत है, वह खत्म हो जाएगी।”

उन्होंने प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा, ‘‘नरेन्‍द्र मोदी जिन्हें चाहते हैं वो दो तीन लोग ही सरकार चलाएंगे और जैसे ही संविधान खत्म होगा रोजगार खत्म हो जाएगा। आरक्षण खत्म हो जाएगा और गरीबों के सभी रास्ते बंद हो जाएंगे।’’

गांधी ने मतदाताओं को चेताते हुए कहा ”लड़ाई संविधान बचाने की है, गरीबों की रक्षा करने की है।”

उन्होंने आरोप लगाया ,”नरेन्द्र मोदी ने पिछले 10 साल में 22 अरबपतियों का 16 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया है।”

मीडिया की भूमिका पर सवाल उठाते हुए उन्होंने तंज किया ” आपने अंबानी की शादी, 10 करोड़ की घड़ी देखी। ये मीडिया हमारे आपके नहीं… ये अडानी-अंबानी और मोदी के हैं।’’

झारखंड के चाईबासा में आज राहुल गांधी की जनसभा, जोबा मांझी के लिए करेंगे प्रचार

लोकसभा चुनावों को लेकर सभी पार्टियां जोरों -शोरों से प्रचार-प्रसार में जुटी हुई है. पीएम मोदी हों या फिर कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार रैलियां कर रहें हैं. इसी कड़ी में पीएम मोदी बीती 3 मई को भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा के प्रचार करने चाईबासा पहुंचे थे. अब कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज यानी 7… Continue reading झारखंड के चाईबासा में आज राहुल गांधी की जनसभा, जोबा मांझी के लिए करेंगे प्रचार

सत्ता में आने पर कांग्रेस जाति और आर्थिक सर्वेक्षण कराएगी : राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो वह दलितों, आदिवासियों, सामान्य श्रेणी के गरीबों तथा ओबीसी की भागीदारी बढ़ाने के लिए प्राथमिकता के आधार पर पूरे देश में जाति और आर्थिक सर्वेक्षण कराएगी।

उत्तर गुजरात के पाटण शहर में पार्टी के लोकसभा उम्मीदवार चंदनजी ठाकोर के समर्थन में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक सघ (आरएसएस) की सत्ता में आने के बाद संविधान को बदलने की योजना है।

उन्होंने कहा, ‘‘देश की 90 प्रतिशत आबादी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग समुदायों की है लेकिन आपको कॉरपोरेट, मीडिया (क्षेत्रों), निजी अस्पतालों, निजी विश्वविद्यालयों या सरकार की नौकरशाही में उनका प्रतिनिधित्व नहीं मिलेगा। हम सत्ता में आने के बाद सबसे पहले जाति और आर्थिक सर्वेक्षण कराएंगे।’’

उन्होंने कहा कि इन समुदाय के लोग किसान, मजदूर, छोटे व्यापारियों के रूप में काम कर रहे हैं या बिल्कुल बेरोजगार हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र में मामलों के शीर्ष पर भारतीय प्रशासनिक सेवा के 90 अधिकारियों में से केवल तीन पिछड़े वर्गों से हैं और उन्हें भी महत्वहीन पद दिए गए हैं।

देश में 10 साल के अपने शासन के दौरान संपत्ति में असमानता लाने के बारे में भाजपा पर आरोप लगाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि केवल 22 व्यक्तियों के पास 70 प्रतिशत आबादी जितनी संपत्ति है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा समाधान यह है कि कांग्रेस सत्ता में आने के बाद सबसे पहले दलित, ओबीसी, आदिवासियों के साथ-साथ सामान्य वर्ग के गरीबों की सही आबादी का पता लगाने के लिए जाति जनगणना और आर्थिक सर्वेक्षण कराएगी। फिर मीडिया, सरकारी क्षेत्रों, निजी कॉलेजों और विश्वविद्यालयों आदि में उनकी भागीदारी और वित्तीय स्थिति का पता लगाने के लिए एक सर्वेक्षण कराया जाएगा।’’

उन्होंने दावा किया कि इस कवायद के बाद भारत को जनसंख्या में सभी के अनुपात, उनकी भागीदारी का विवरण, उनके पास संपत्ति और वे जिन संस्थानों में काम कर रहे हैं, उनका उचित अंदाजा हो जाएगा।

आरएसएस और भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सत्तारूढ़ गठबंधन आरक्षण की व्यवस्था के खिलाफ है और वह संविधान भी बदलना चाहता है जो लोगों को शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, पानी जैसी सुविधाओं के साथ ही उन्हें मिले अधिकारों का आधार है।

राहुल ने कहा, ‘‘भाजपा नेता कह रहे हैं कि वे संविधान बदल देंगे जो गरीबों और वंचितों की रक्षा करता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चाहते हैं कि केवल 22-25 लोगों का संपत्ति, ऊर्जा और प्राकृतिक संसाधनों पर नियंत्रण हो। उनके 10 साल के शासन में यह सब कुछ हुआ है।’’

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘उन्होंने उन 22-25 लोगों का 16 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर दिया लेकिन किसानों द्वारा लिए कर्ज को माफ करने से इनकार कर दिया। भारत में महज एक प्रतिशत आबादी 40 प्रतिशत संपत्ति को नियंत्रित करती है। भाजपा ऐसी योजनाएं बंद करना चाहती है जो किसानों, गरीबों तथा वंचितों के लिए फायदेमंद हैं।’’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस बिना किसी अन्याय के संपत्ति और शक्ति के बंटवारे में यकीन रखती है। उन्होंने कहा कि आरक्षण दलितों, गरीबों, आदिवासियों तथा पिछड़े वर्गों की भागीदारी की गारंटी देता है।

राहुल ने कहा कि निजीकरण और अग्निपथ सैन्य भर्ती योजना आरक्षण को खत्म करने के लिए इस सरकार के दो हथियार हैं और कांग्रेस सत्ता में आने पर अग्निवीर योजना को रद्द करेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘अग्निवीर योजना हमारे सैनिकों का अपमान है। प्रधानमंत्री यह योजना लेकर आए। सेना कभी यह नहीं चाहती थी। हम इसे रद्द कर देंगे, प्रत्येक सैनिक की रक्षा करेंगे और उन्हें पेंशन देंगे।’’

राहुल ने कहा कि किसानों की स्थिति दयनीय है, महंगाई और बेरोजगारी रिकॉर्ड स्तर पर है लेकिन मीडिया केवल मोदी, अरबपतियों और उनके शादी समारोहों तथा बॉलीवुड सितारों और मशहूर शख्सियतों को ही दिखाएगा।

उन्होंने घोषणा की, ‘‘कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद हम कृषि कर्ज माफ करेंगे, एमएसपी को कानूनी दर्जा देंगे, महालक्ष्मी योजना के तहत गरीब महिलाओं को हर साल एक लाख रुपये देंगे और निजी व सरकारी क्षेत्रों में प्रशिक्षुता के लिए पंजीकृत स्नातकों और डिप्लोमा धारकों को एक लाख रुपये का वार्षिक वजीफा देंगे।’’

राहुल ने रैली में भावनगर रियासत के अंतिम शासक महाराजा कृष्णकुमारसिंहजी गोहिल की भी प्रशंसा की जिन्होंने आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार, सरदार वल्लभभाई पटेल के अनुरोध पर सबसे पहले अपनी रियासत का भारत संघ में विलय किया था।

कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची में खरगे, सोनिया गांधी व गहलोत का नाम

कांग्रेस ने राजस्थान में आगामी लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी की है। पार्टी के 40 नेताओं के नाम वाली इस सूची में पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी व पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भी नाम है।

इसके अलावा सूची में राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, सचिन पायलट व कन्हैया कुमार का भी नाम है।

मुख्‍य निर्वाचन अधिकारी की वेबसाइट पर उपलब्ध सूची के अनुसार, कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में पार्टी के प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा, प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी तथा वरिष्ठ नेता मोहन प्रकाश, हेमाराम चौधरी, रघु शर्मा और हरीश चौधरी शामिल हैं।

सूची में सूरतगढ़ से विधायक डूंगरराम सहित कई विधायकों के भी नाम हैं।

कांग्रेस लोकसभा चुनाव के लिए अपना घोषणापत्र छह अप्रैल को यहां जयपुर में आयोजित एक जनसभा में जारी करेगी।

राजस्थान में लोकसभा चुनाव दो चरणों में 19 और 26 अप्रैल को होगा। पहले चरण में 19 अप्रैल को 12 सीटों पर मतदान होगा जिनमें गंगानगर, बीकानेर, चूरू, झुंझुनू, सीकर, जयपुर ग्रामीण, जयपुर, अलवर-भरतपुर, करौली-धौलपुर, दौसा और नागौर शामिल हैं। वहीं, दूसरे चरण में 13 निर्वाचन क्षेत्रों-टोंक-सवाई माधोपुर, अजमेर, पाली, जोधपुर, बाड़मेर, जालौर, उदयपुर, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, राजसमंद, भीलवाड़ा, कोटा और झालावाड़-बारां में 26 अप्रैल को मतदान होगा।

इसके अलावा, बांसवाड़ा लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली बागीदौरा विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव 26 अप्रैल को होगा।