हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में भूकंप के दो झटके महसूस किए गए हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पहला भूकंप सुबह 8:33 पर आया जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.5 मापी गई है, जबकि दूसरा भूकंप सुबह 8:57 पर आया और उसकी रिक्टर स्केल पर तीव्रता 4.1 मापी गई है।  इस झटके से किसी प्रकार के जान-माल के नुकसान की सूचना नहीं है। हालांकि भूकंप के कारण लोगों में दहशत का माहौल है।

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक रूस के पूर्वी तट पर 7.7 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप आया, जिसके कारण अधिकारियों ने शुरू में प्रशांत क्षेत्र के कुछ हिस्सों में सुनामी के खतरे की चेतावनी जारी कर दी है. लेकिन पैसिफिक सुनामी वार्निंग सेंटर ने कुछ देर बाद ही पूर्वानुमान जताते हुए कहा था कि प्रशांत क्षेत्र में विनाशकारी सुनामी आने की संभावना नहीं है और हवाई को कोई खतरा नहीं है. केंद्र ने बताया, ‘‘अगले कुछ घंटों में भूकंप के पास वाले तटीय क्षेत्र के समुद्री जल स्तर में उतार-चढ़ाव देखा जा सकता है. यूएस जियोलॉजिकल सर्वे ने बताया कि स्थानीय समयानुसार,

हिमाचल प्रदेश के जिला चंबा में शुक्रवार को आए भूकंप के झटके के बाद शनिवार सुबह करीब 9:11 बजे भूकंप का एक और झटका महसूस किया गया. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 3.6 मापी गई. इससे पहले शुक्रवार को भी चंबा में भूकंप के दो झटके आए थे. बार-बार भूकंप के झटको से हर कोई हैरान है, आपको बता दें कि इससे पहले भी चंबा में हल्के झटके आते रहे हैं. मौसम विभाग के अनुसार भूकंप के हल्के झटके अभी और भी आ सकते है.