एनडीए का कुनबा बड़ा होता जा रहा है. अब खबर है कि तमिलनाडु में जयललिता की पार्टी AIADMK एनडीए में शामिल हो सकती है. सूत्रों को मुताबिक इसी हफ्ते AIADMK एनडीए में शामिल हो सकती है. जानकारी मिली है कि इसी हफ्ते AIADMK बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए में शामिल हो जाएगी. देश की लोकसभा में सासंदों के लिहाज से बीजेपी और कांग्रेस के बाद AIADMK सबसे बड़ी पार्टी है. AIADMK के लोकसभा में 37 सांसद हैं. वहीं राज्यसभा में 13 सांसद है. AIADMK ने तमिलनाडु में लगातार दूसरी बार सरकार बनाई है. राज्य की 234 विधानसभा सीटों में से 130

बिहार के राज्यपाल राम नाथ कोविंद को एनडीए ने राष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है. रामनाथ कोविंद दलित समाज से आते हैं. वे मूल रूप से कानपुर, उत्तर प्रदेश से हैं. वो पिछले तीन साल से बिहार के राज्यपाल के तौर पर काम कर रहे हैं. जानकारी के मुताबिक रामनाथ कोविंद 23 जून को नामांकन करेंगे. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित शाह ने कहा, एनडीए के सभी सहयोगियों के साथ चर्चा के बाद रामनाथ कोविद का नाम तय किया गया है. बताते चले कि रामनाथ बीजेपी अनुसूचित मोर्चा के अध्यक्ष भी रहे हैं. उपराष्ट्रपति के नाम की चर्चा नहीं शाह ने

दिल्ली राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव द्वारा किए गए ऐलान के बाद समाजवादी पार्टी में फिर से कलह मचने की आशंका बढ़ गई है. यूपी के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव को दरकिनार कर मुलायम सिंह यादव ने ऐलान किया कि समाजवादी पार्टी राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार को समर्थन देगी. हालांकि, मुलायम ने इसके साथ एक शर्त भी जोड़ी है कि उम्मीदवार सभी द्वारा स्वीकार्य व कट्टर भगवा चेहरा नहीं होना चाहिए. गृह मंत्री राजनाथ सिंह और सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को इस मसले पर मुलायम सिंह यादव से

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक खत्म हो गई है. इस बैठक में राहुल गांधी समेत कई नेता मौजूद रहे. बैठक को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार को जमकर लताड़ा. सोनिया ने कहा कि मोदी सरकार पिछले तीन वर्षों में कश्मीर, सुरक्षा और विकास हर मुद्दे पर फेल हुई है. बैठक के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने प्रेस कांफ्रेंस कर मोदी सरकार पर हमला बोला. उन्होने कहा कि एनडीए की तीन साल की सरकार में लोगों को निराशा का ही सामना करना पड़ा है. तीन साल निराशाजनक ही रहे है. उन्होने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए