जालंधर पुलिस के सीआईए को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर दो गैंगस्टर को गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस ने देसी कट्टा और कारतूस भी बरामद किए हैं। डीसीपी गुरमीत सिंह ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने सेंट्रल टाउन से पुनीत कुमार और राजिंदर कुमार को देसी कट्टे और तीन कारतूस समेत गिरफ्तार किया। आरोपियों पर पहले से कई मामले दर्ज हैं। फिलहाल पुलिस ने आरोपियों पर मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है।

फिरोजपुर जिले के कस्बा गुरुहरसहाए के गांव पिंडी में गैंगस्टरों के छिपे होने की सूचना ने पुलिस में हड़कंप मचा दिया। तरनतारन पुलिस ने सूचना के आधार पर फिरोजपुर और फरीदकोट पुलिस को साथ लेकर गांव में दबिश दी और सर्च अभियान चलाया। इस दौरान बंद पड़े नशा छुड़ाओ केंद्र से छह युवकों को हिरासत में लिया और उनमें से पांच युवकों को शाम तक पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया, जबकि एक को पुलिस ने हिरासत में लिया है। हिरासत में लिए गए व्यक्ति का नाम गुरजीत सिंह गोपी है जो कि दो मामलों में भगोड़ा था।

नशा, गैंगस्टर व आतंकवाद के हिमायती गर्मख्याली (रेडिकल्स स्पांसर टेरेरिज्म) पंजाब में पुलिस के लिए बड़ी चुनौती हैं, लेकिन पंजाब पुलिस पूरी तरह से इन पर नकेल कसने में जुटी हुई है. पंजाब के घर-घर से नशे को खत्म करने व नशा तस्करों को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाने के लिए मुहिम जारी है. यह बात डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने वीरवार को कही. पुलिस लाइन में जिले के पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक करके उन्होंने क्राइम को कम करने संबंधी योजनाओं पर अमल करने, नशा तस्करों पर सख्ती से नकेल डालने, पुलिस स्टेशनों की नियमित जांच करने सहित अन्य महत्वपूर्ण

पंजाब पुलिस की ऑर्गेनाइज्ड क्राइम कंट्रोल यूनिट ने मुठभेड़ के दौरान कुख्यात गैंगस्टर रणजोत सिंह राणा को गिरफ्तार किया है। इसके पास से दो पिस्तौल और भारी मात्रा में जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं। इस दौरान राणा का अन्य साथी साहिलप्रीत सिंह पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। ऑर्गेनाइज्ड क्राइम कंट्रोल यूनिट के इंचार्ज इंस्पेक्टर ने बताया कि ये दोनों गैंगस्टर विकी  गौंडर के साथी हैरी चट्ठा और गोपी घनश्याम पुरिया को हथियार सप्लाई करते थे। उन्हें सूचना मिली थी कि दोनों मेरठ से हथियार सप्लाई करने आ रहे हैं, जैसी ही गैंगस्टरों की गाड़ी मानांवाला के पास पहुंची तो

गैंगस्टरों पर कार्रवाई करने वाले पुलिस वालों को तोहफा मिला है, उनका प्रमोशन कर दिया गया है। पंजाब में गैंगस्टरों और तस्करों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई तेज की जाएगी और अपराधियों को काबू करने की कोशिशें जारी रहेंगी। यह बात पंजाब के डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने कही। पंजाब पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि डीजीपी इस कार्रवाई पर खुद नजर रख रहे थे और उन्होंने फरीदकोट सीआईए स्टाफ के इंस्पेक्टर अमृतपाल सिंह को डीजीपी डिस्क से सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि पंजाब में शीघ्र ही गैंगस्टरों का सफाया कर दिया जाएगा। इस अवसर पर उनकी टीम में शामिल जसपाल सिंह थानेदार को

सिरसा के मंडी डबवाली में तीन गैंगस्टर्स ने पुलिस के डर से खुदखुशी कर ली। हरियाणा पुलिस और फरीदकोट पुलिस इन गैंगस्टर्स को मंडी डबवाली के आशा खेड़ा गांव में पकड़ने गई थी। खुदकुशी करने वालों में जसप्रीत सिंह जिम्पी डॉन, कमलजीत सिंह बंटी सेखों और निशान सिंह शामिल हैं। फरीदकोट के एसएसपी डॉक्टर नानक सिंह ने इस घटना की पुष्टि की है।

पंजाब और हिमाचल प्रदेश के एक वॉन्टेड गैंगस्टर जसपाल सिंह उर्फ जस्सी को पुलिस ने नुपूरबेदी के पास मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि जसपाल के बारे में गुप्त सूचना मिलते ही गाव घनोला में नाकेबंदी की गई, इस दौरान पुलिस की कई टीमों ने दबिश दी। जैसे ही जसपाल नालागढ़ की तरफ से पहुंचा तो पुलिस ने उसे रूकने का इशारा किया, पर उसने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसका मुहंतोड़ जवाब देते हुए पुलिस ने जसपाल को गिरफ्तार कर लिया। आपको बता दें जसपाल पर हत्या, लूट जैसे कई संगीन मामले दर्ज हैं.