हिमाचल प्रदेश : लोकसभा चुनाव, विधानसभा उपचुनाव के लिए मतगणना की तैयारी

हिमाचल प्रदेश में लोकसभा की चार सीट पर चुनाव और विधानसभा की छह सीट पर उपचुनाव के लिए मतगणना मंगलवार को होगी। मतगणना के दिन जिन प्रमुख उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होगा, उनमें केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, अभिनेत्री कंगना रनौत, चार बार के राज्यसभा सदस्य आनंद शर्मा और राज्य सरकार में मौजूदा लोक निर्माण कार्य मंत्री विक्रमादित्य सिंह शामिल हैं।

चार बार के सांसद और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार ठाकुर हमीरपुर से पांचवी बार चुनाव मैदान में हैं। वहीं राजनीति में कदम रख रही कंगना मंडी से अपनी किस्मत आजमा रही हैं। भाजपा की राज्य इकाई के पूर्व अध्यक्ष सुरेश कश्यप शिमला सीट से चुनाव मैदान में हैं।

वहीं कांग्रेस के प्रमुख उम्मीदवारों में राज्यसभा के चार बार सदस्य रहे आनंद शर्मा कांगड़ा सीट से और पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह व कांग्रेस की राज्य इकाई की अध्यक्ष प्रतिभा सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह मंडी सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

राज्य के 70 केंद्रों पर होने वाली मतगणना में 62 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होगा।

राज्य निर्वाचन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, कांगड़ा संसदीय सीट पर 67.89 फीसदी, मंडी सीट पर 73.15 फीसदी, हमीरपुर में 71.56 फीसदी और शिमला (सुरक्षित) सीट पर 71.26 फीसदी मतदान हुआ था।

राज्य की जिन छह विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुए, उनमें धर्मशाला में 71.2 प्रतिशत, लाहौल एवं स्पीति में 75.09 प्रतिशत, सुजानपुर में 73.76 प्रतिशत, बड़सर में 71.69 प्रतिशत, गगरेट में 75.14 प्रतिशत और कुटलैहड़ में 76.89 प्रतिशत मतदान हुआ।

कांग्रेस ने 1952, 1957, 1962, 1967, 1980, 1984 और 1996 में हुए लोकसभा चुनावों में हिमाचल प्रदेश की सभी सीट पर जीत हासिल की थी। ​​पार्टी ने 2004 में तीन, 1991 में दो और 1989 और 2009 में एक-एक सीट जीती, जबकि 1977, 1999, 2014 और 2019 में उसे सभी सीट पर हार का सामना करना पड़ा था।

वहीं जनता पार्टी और भाजपा-हिमाचल विकास कांग्रेस ने क्रमशः 1977 और 1999 में चुनावों में जीत हासिल की, जबकि भाजपा ने 2014 और 2019 में सभी चार सीट पर जीत दर्ज की थी।

हिमाचल: तीन निर्दलीय विधायकों ने उच्च न्यायालय का रुख किया

हिमाचल प्रदेश में तीन निर्दलीय विधायकों ने विधानसभा से उनके इस्तीफे स्वीकार किये जाने के अनुरोध को लेकर बुधवार को उच्च न्यायालय का रुख किया।

इन निर्दलीय विधायकों ने हाल के राज्यसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार को वोट दिया था।

तीन निर्दलीय विधायकों होशियार सिंह, आशीष शर्मा और के. एल. ठाकुर ने 27 फरवरी को हुए राज्यसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार हर्ष महाजन के पक्ष में मतदान किया था और 22 मार्च को विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था।

कांग्रेस विधायक दल के एक अभ्यावेदन के बाद हिमाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने इन विधायकों को कारण बताओ नोटिस जारी कर 10 अप्रैल तक स्पष्टीकरण मांगा था, जिसमें दावा किया गया था कि इन विधायकों ने स्वेच्छा से नहीं बल्कि दबाव में इस्तीफा दिया है।

अध्यक्ष ने बुधवार को कहा कि तीन निर्दलीय विधायकों के इस्तीफे पर तब तक फैसला नहीं लिया जा सकता, जब तक कि अदालत में मामले का फैसला नहीं आ जाता।

मुख्य न्यायाधीश एम एस रामचन्द्र राव और न्यायमूर्ति आनंद मोहन गोय

वीरेन्द्र कंवर ने पठियार में रखी स्वच्छता कैफे की आधारशिला कहा….. महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए योजनाएं आरंभ

कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज, पशुपालन एवं मछली पालन मंत्री  वीरेंद्र कंवर ने कहा कि ने कहा कि सामाजिक गतिविधियों एवं विकास में महिलाओं की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने तथा उन्हें सशक्त व सक्षम बनाने के लिए प्रभावशाली योजनाएं आरंभ की गई हैं। समावेशी समाज के निर्माण में महिलाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है।पठियार में रखी… Continue reading वीरेन्द्र कंवर ने पठियार में रखी स्वच्छता कैफे की आधारशिला कहा….. महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए योजनाएं आरंभ

गुज्जर समुदाय के कल्याण के लिए कई योजनाएं की जा रहीं कार्यान्वितः मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर

 मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज धर्मशाला में गुज्जर कल्याण बोर्ड की 21वीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि राज्य सरकार गुज्जर समुदाय के कल्याण और विकास के लिए प्रतिबद्ध है और उनके कल्याण के लिए कई योजनाएं कार्यान्वित की जा रही हैं।     मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्य रूप से पशुपालन और दुग्ध… Continue reading गुज्जर समुदाय के कल्याण के लिए कई योजनाएं की जा रहीं कार्यान्वितः मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर