CM मान ने किसान आंदोलन में मारे गए शुभकरण के परिवार को दिया 1 करोड़ का चेक और सरकारी नौकरी

प्रदर्शनकारी किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की मांग को लेकर सरकार पर दबाव बनाने के लिए दिल्ली जाने पर अड़े थे। मंगलवार को सीएम मान ने ट्वीट कर लिखा, 'किसान आंदोलन के दौरान खनौरी बॉर्डर पर गोली लगने से युवा किसान शुभकरण सिंह की मौत हो गई। किसान परिवार से मिला। वादे के मुताबिक परिवार को 1 करोड़ रुपये का चेक और सरकारी नौकरी का नियुक्ति पत्र दिया। किसानों की अपनी सरकार हर सुख-दुख में किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है और आगे भी खड़ी रहेगी।

Jul 9, 2024 - 16:56
Jul 9, 2024 - 16:57
 5
CM मान ने किसान आंदोलन में मारे गए शुभकरण के परिवार को दिया 1 करोड़ का चेक और सरकारी नौकरी

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मंगलवार को बड़ा फैसला लेते हुए किसान आंदोलन में मारे गए शुभकरण सिंह (22 साल) के परिवार को एक करोड़ रुपये का चेक सौंपा। सीएम मान ने परिवार को सरकारी नौकरी का नियुक्ति पत्र भी दिया है। पीड़ित परिवार भगवंत मान से मिलने मुख्यमंत्री आवास पहुंचा था। दरअसल, इस साल फरवरी में पंजाब-हरियाणा सीमा पर किसानों का विरोध प्रदर्शन चल रहा था। पुलिस की झड़प के दौरान खनौरी बॉर्डर पर शुभकरण सिंह की मौत हो गई थी। 

प्रदर्शनकारी किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की मांग को लेकर सरकार पर दबाव बनाने के लिए दिल्ली जाने पर अड़े थे। मंगलवार को सीएम मान ने ट्वीट कर लिखा, 'किसान आंदोलन के दौरान खनौरी बॉर्डर पर गोली लगने से युवा किसान शुभकरण सिंह की मौत हो गई। किसान परिवार से मिला। वादे के मुताबिक परिवार को 1 करोड़ रुपये का चेक और सरकारी नौकरी का नियुक्ति पत्र दिया। किसानों की अपनी सरकार हर सुख-दुख में किसानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है और आगे भी खड़ी रहेगी।'

 झड़प में शुभकरण की मौत का दावा

किसानों के मुताबिक, पंजाब के बठिंडा के 22 वर्षीय शुभकरण सिंह की हरियाणा पुलिस के साथ झड़प में मौत हो गई। किसानों ने आरोप लगाया था कि शुभकरण की मौत पुलिस द्वारा दागे गए आंसू गैस के गोले से हुई। हालांकि, पुलिस ने बॉर्डर पर किसी प्रदर्शनकारी की मौत की पुष्टि नहीं की।

पशुपालन करता था शुभकरण

शुभकरण बठिंडा के बलोके गांव का रहने वाला था। उसके परिवार में दो बहनें, दादी और उसके पिता चरणजीत सिंह हैं, जो स्कूल वैन ड्राइवर का काम करते हैं। शुभकरण पशुपालन भी करता था। युवा किसान के पास करीब 3 एकड़ जमीन और कुछ मवेशी थे। घटना के वक्त पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने शुभकरण की मौत पर शोक जताया और आश्वासन दिया कि इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पत्थरबाजी में 12 पुलिसकर्मी घायल हुए

हरियाणा पुलिस ने दावा किया था कि खनौरी बॉर्डर पर हुई झड़प में 12 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। हालांकि, युवा किसान की मौत की पुष्टि नहीं हुई। हरियाणा पुलिस के एक अधिकारी ने बताया था कि हरियाणा के जींद की सीमा के पास पंजाब के संगरूर जिले में स्थित खनौरी में लाठी-डंडों और पत्थरों से हुए हमले में करीब 12 पुलिसकर्मी घायल हो गए। 

वहीं, किसानों ने दावा किया था कि आंसू गैस के गोले दागने के अलावा हरियाणा पुलिस के जवानों ने रबर की गोलियां भी चलाईं। खनौरी और शंभू बॉर्डर पर हजारों किसान अपने ट्रैक्टर-ट्रॉली और ट्रकों के साथ डेरा डाले हुए हैं और फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी और कृषि ऋण माफी सहित अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow