डेरा प्रमुख पर आने वाले फैसले के मद्देनजर सिरसा, कुरुक्षेत्र और गुरुग्राम के साथ कई शहरों में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की दी गई है और अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। इसके अलावा पुलिस के जवानों को उपद्रवियों से निपटने के लिए विशेष ट्रेनिंग भी दी जा रही है, ताकि किसी तरह की कोई मुश्किल सामने ना आने पाए। कुरुक्षेत्र, सिरसा और गुरुग्राम के पुलिस अधिकारियों का कहना है कि किसी को भी कानून हाथ में लेने नहीं दिया जाएगा। कुरुक्षेत्र में पुलिस की चार अतिरिक्त टुकड़ियों को तैनात किया गया है। इसके अलावा केंद्र सरकार से दस

6 जून को ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी को लेकर अमृतसर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. पहली बार स्वाट टीम को भी तैनात किया गया है. धार्मिक समागम पर भी स्वाट टीम नजर रखेगी. अमृतसर के पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि सोशल मीडिया पर भी नजर रखी जा रही है। ताकि किसी अप्रिय घटना से निपटा जा सके। साथ ही लोगों को अफवाहों पर ध्यान ना देने की अपील की गई है.  

उत्तर प्रदेश में नई सरकार के गठन के बाद वीवीआईपी लोगों की सुरक्षा में बदलाव किया गया है. सत्ता से बाहर हुए कई नेताओं की सुरक्षा में कटौती की गई है. पिछली सपा सरकार में मंत्री आजम खान की सुरक्षा को जेड श्रेणी से घटाकर वाई श्रेणी का कर दिया गया है. साथ ही बीजेपी सांसद विनय कटियार की सुरक्षा को जेड श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई गई है. योगी सरकार की सुरक्षा समिति की बैठक में ये फैसला लिया गया है. पूर्व सीएम अखिलेश यादव के चाचा और पूर्व मंत्री शिवपाल यादव की सुरक्षा जेड श्रेणी से घटाकर वाई श्रेणी