दक्षिण कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में दो जवान शहीद हो गए है, जबकि तीन घायल है। उधर, सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया है। आपको बता दें, पहले सेना ने एक आतंकी को मारा था, लेकिन बाकी आतंकी पत्थरबाजों की मदद से भाग गए थे और एक घर में जाकर छिप गए थे। सेना ने उस घर से घेराबंदी कर दोनों आतंकियों को मार गिराया है। फिलहाल, सेना का इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है। गौरतलब है कि कश्मीर में आतंकियों के खात्मे के लिए ऑपरेशन ऑलआउट के तहत सेना, सीआरपीएफ और एसओजी ने आतंकियों की लिस्ट तैयार की

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सेना के काफिले पर आतंकी हमला हुआ है। बताया जा रहा है कि तीन आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग की, जिसमें एक मेजर समेत सेना के दो जवान शहीद हो गए है। वहीं, कुछ जवान घायल भी बताए जा रहे हैं। फिलहाल, सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है। उधर,  कुलगाम जिले के गोपालपुरा गांव में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है। पुलिस की एसओजी और सेना की 9 आरआर टीम ने सर्च अभियान चलाकर इन आतंकियों को डीएच पोरा इलाके के गोपालपुरा इलाके में मार गिराया। देर रात हुई इस

श्रीनगर सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ अभियान को जारी रखते हुए मंगलवार देर रात हिज्ब आतंकी दाऊद और जावेद शेख को उनके एक पाकिस्तानी साथी समेत बडगाम के रडबुग में घेर लिया. सुरक्षाबलों के साथ हुई मुठभेड़ में 3 आतंकी ढ़ेर हो गए हैं, फिलहाल सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है. दोनों तरफ से रुक-रुक कर गोलीबारी हो रही है. एहतियात के तौर पर प्रशासन ने बडगाम में इंटरनेट सेवाओं को भी बंद कर दिया। संबंधित अधिकारियों ने हालांकि आतंकियों की संख्या की पुष्टि नहीं की है. बताया जा रहा है कि शाम साढ़े सात बजे बडगाम जिले में मागाम के पास

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सेना का ऑपरेशन लगातार जारी है. पुलवामा में पिछले 24 घंटों से सुरक्षाबल आतंकियों से मुठभेड़ कर रहे थे. अब मुठभेड़ खत्म हो गया है. इस कार्रवाई में जवानों ने तीनों आतंकियों को ढेर कर दिया है. सोमवार से शुरू हुए इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों तीन आतंकियों को ढेर कर दिया. ये एनकाउंटर पुलवामा के बामनू इलाके में चल रहा था. इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है. ये एनकाउंटर सोमवार सुबह शुरू हुआ था. बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों ने तीन नए आतंकियों को अपना निशाना बनाया. आपको बता दें कि जून के आखिर में ही सेना

जम्मू और कश्मीर के सोपोर शहर में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को घेर कर मार गिराया है. सुरक्षाबलों ने मंगलवार शाम को ही पजल्पोरा गांव को घेर लिया था और बुधवार तड़के सुबह 3:45 से आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ चल रही थी. अब सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकियों को मार गिराया है. ये आतंकी गांव के एक घर में छुपे हुए थे. इन आतंकियों की पहचान आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के बासित और गुलज़ार के तौर पर हुई है. सुरक्षाबलों ने गांव में कॉन्सर्टीिना तार और रोशनी के लिए जनरेटर लगा लिए थे. इससे पहले भी बारामूल जिले के सोपार

बारामूला के रामपुर सेक्टर में घुसपैठ की कोशिश कर रहे चार आतंकियों को सेना के जवानों ने मार गिराया. सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है. कहा जा रहा है कि, जैसे-जैसे बर्फ पिघल रही है पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की कोशिशें भी तेज हो गई हैं. शुक्रवार को भी सेना ने घुसपैठ की कोशिश कर रहे पाकिस्तान के बॉर्डर एक्शन टीम के तीन जवानों को पकड़ा था. वहीं दूसरी ओर सेना ने बीती रात जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल क्षेत्र में आतंकियों से एनकाउंटर में तीन आतंकी मार गिराए. इसके बाद पुलिस और आर्मी की संयुक्त टीम द्वारा चलाए गए

शनिवार को कश्मीर में LoC पर पाकिस्तान की ओर से हो रही घुसपैठ को सेना ने नाकाम कर दिया है, इस दौरान सेना ने दो आतंकियों को मार गिराया है, हालांकि इस मुठभेड़ में दो जवान भी शहीद हुए हैं. सेना के एक अधिकारी के मुताबिक कश्मीर के कुपवाड़ा में नौगाम सेक्टर में सेना ने घुसपैठ की कोशिश कर रहे आतंकियों को रोकने के लिए गोलीबारी की. मुठभेड़ में 2 आतंकियों की मौत हो गई. हालांकि घुसपैठ नाकाम करने की कोशिश में 2 जवान शहीद हुए हैं. अंतिम सूचना मिलने तक सीमा पर ऑपरेशन जारी था। इससे पहले शुक्रवार को जेटली ने पाकिस्तान को

रायपुर छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों के हमले में सीआरपीएफ के 26 जवान शहीद हो गए हैं. बताया जा रहा है कि सुकमा में चिंतागुफा के पास नक्सलियों ने घात लगाकर सीआरपीएफ की टीम पर हमला किया. यह घटना सोमवार दोपहर डेढ़ बजे की है. बताया जा रहा है कि सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन रोड ओपनिंग के लिए निकली थी. इस दौरान नक्सलियों ने सीआरपीएफ की टीम पर हमला किया. सीआरपीएफ के अधिकारी ने बताया है कि नक्सलियों के साथ हुए एनकाउंटर में सीआरपीएफ के 26 जवान शहीद हो गए हैं और 6 जवान घायल हैं. इसमें सात जवान गंभीर रूप से