भगवान भोलेनाथ अपने भक्तों की पुकार शीघ्र ही सुन लेते हैं। श्रावण शिवरात्रि के दिन जो भी सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा करते हैं उनके हर कष्ट दूर हो जाते हैं और उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं। आज सावन की शिवरात्रि है। शिवरात्रि पर व्रत रखकर पूरी रात जागरण करते हुए भगवान शिव के स्तोत्रों का पाठ करने के साथ शिवलिंग का दूध से, गंगाजल से अभिषेक करते हुए पूजा-अर्चना करें। शिवरात्रि पर शिवलिंग पर जलाभिषेक आवश्यक माना गया है। इससे भगवान शिव शीघ्र प्रसन्न हो जाते हैं। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए इस दिन