SIT की पूछताछ में डेरा सच्चा सौदा को लेकर कुछ अहम जानकारी सामने आई है. सिरसा में SIT के डीएसपी कुलदीप सिंह ने जब डेरा सच्चा सौदा के वाईस चेयरमैन डॉ पीआर नैन से पूछताछ की तो उन्होंने हड्डी और कंकाल से जुड़े कुछ दस्तावेज SIT को सौंपे. पूछताछ के बाद मीडिया से बात करते हुए डीएसपी कुलदीप ने बताया कि पंचकूला और सिरसा दंगों को लेकर डॉ पी आर नैन से पूछताछ की गई है और इस पूछताछ में डॉ नैन ने छह सौ अस्थिदान का रिकार्ड भी SIT की टीम को सौंपा है. डीएसपी कुलदीप सिंह ने कहा कि

डीजीपी जेल केपी सिंह ने इस बारे में बताया है कि जेल में राम रहीम को अब सब्जियां उगाने का काम दिया गया है। सब्जियां उगाने के काम से राम रहीम को 20 रुपए दिहाड़ी मिलेगी। डीजीपी ने कहा कि राम रहीम की तबीयत ठीक और वो पूरी तरह स्वस्थ है। उन्होंने बताया कि पी.जी.आई. की मेडिकल टीम उनके स्वास्थ्य को लेकर पूरी तरह तैयार है। डीजीपी के मुताबिक राम रहीम ने 10 लोगों से मिलने की इच्छा जताई है और इसकी एक लिस्ट उसने जेल प्रशासन को सौंपी है। इसके साथ ही जेल में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए

राम रहीम की सबसे बड़ी राजदार हनीप्रीत के नेपाल भागने की खबर है. ये खुलासा उदयुपर से गिरफ्तार राम रहीम के सहयोगी प्रदीप गोयल ने किया है. उसने पुलिस पूछताछ में बताया है कि हनीप्रीत नेपाल भाग गई है. प्रदीप गोयल पर पंचकूला में हिंसा फैलाने का आरोप है.अभी तक की पूछताछ में प्रदीप गोयल ने बताया है कि वो हनीप्रीत और राम रहीम के संपर्क में था. इतना ही नहीं उसका कहना है कि राम रहीम को सजा सुनाए जाने के बाद भी वो हनीप्रीत के संपर्क में था. पुलिस प्रदीप गोयल से मिली इंफॉर्मेशन को प्रारंभिक जानकारी मान

डेरा सच्चा सौदा मामले में हरियाणा के डीजीपी बीएस संधु ने बड़ा खुलासा किया है..पंचकुला की सीबीआई अदालत से राम रहीम भगाने की कोशिश करने में पंजाब पुलिस के 8 जवान शामिल थे, उनमें से 3 को गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तार पुलिस कर्मी में से एक रिमांड पर है और दो न्यायिक हिरासत में है..पांच को नोटिस जारी करके जवाब मांगा गया है.वहीं, उन्होंने बताया कि इस मामले में जांच का दायरा हरियाणा से बाहरी प्रदेशों तक जा सकता है.साथ ही डेरा के प्रबंधन के पैंतालीस सदस्यों को पुलिस जांच में शामिल करने की तैयारी में है.उन्होंने बताया

यौन शोषण के मामले में 20 साल जेल की सजा पाए डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम की जेल में पहली रात गुजारी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रामरहीम पूरी रात बैरख में जागता रहा। बैरक में इधर से उधर टहलता रहा और सो नहीं पाया। गुरमीत को खाने में 4 रोटी और सब्जी दी गई थी लेकिन उसने सिर्फ आधी रोटी और सब्जी खाई। राम रहीम को जेल प्रशासन ने नया कैदी नंबर 8647 दिया है। रहीम को माली के साथ फैक्ट्री में काम करना होगा और 40 रुपया रोज का मेहनताना दिया जाएगा। डेरा प्रमुख काम करना

गुरमीत राम रहीम सिंह का परिवार कल रोहतक की सुनारिया जेल जाकर उनसे मुलाकात करेगा. आपको बता दें, गुरमीत राम रहीम सिंह को कोर्ट ने दो अलग-अलग मामलों में 10-10 साल की सजा सुनाई है, उन्हें जेल में 20 साल काटने होंगे. उधर, राम रहीम के जेल जाते ही उनकी मां ने उनके बेटे जसमीत इंसां को डेरा प्रमुख बना दिया है.

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रोहतक के जेल में 15 साल पुराने मामले में सज़ा सुनाई गई, लेकिन राजनीतिक रूप से प्रभावशाली गुरमीत राम रहीम को इस मामले में दोषी ठहराया जाना इतना आसान नहीं था. जान जोख़िम में डालकर अपने साथ हुए अन्याय की लड़ाई लड़ने वाली दो साध्वियों से लेकर सीबीआई के जांच अधिकारियों तक ने इस मामले में बेहद बड़ा ख़तरा मोल लिया है. जानिए, कौन थे ये लोग जिनकी वजह से दोषी ठहराए गए गुरमीत राम रहीम. 1 - वो दो साध्वियां जिन्होंने अपनी परवाह नहीं की इस मामले में दो साध्वियों ने अपनी जान की