अमरनाथ यात्रियों पर सोमवार को हुए आतंकी हमले को लेकर देशभर में आक्रोश का माहौल है. ट्विटर पर कई जानी-मानी हस्तियों ने इस हमले की निंदा की है. इसी बीच भारतीय पूर्व क्रिकेटर सचिन, वीरेंद्र सहवाग सहित कई क्रिकेटरों  ने भावुक कर देने वाला ट्वीट किया है. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, जब फौजी होकर बेटा शहीद हो जाता है तो मां रोती हैं. मां तीर्थ पर आतंकवादी द्वारा मारी जाए तो बेटा रोता है. ऐसा इंतजार भगवान किसी के हिस्से में न दे. https://twitter.com/virendersehwag/status/884671290182729728 https://twitter.com/sachin_rt/status/884491011250151425   https://twitter.com/ImRaina/status/884480776745648128 https://twitter.com/VVSLaxman281/status/884594574303219712 https://twitter.com/anilkumble1074/status/884579635266293760 https://twitter.com/MohammadKaif/status/884447565021798400 https://twitter.com/ImRo45/status/884642133524844544 https://twitter.com/SDhawan25/status/884699326630445056 https://twitter.com/harbhajan_singh/status/884466822338289664

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और पूर्व कोच अनिल कुंबले के बीच कड़वाहट और गहरी होती जा रही है. कोहली ने आज (गुरुवार को) साल 2016 का वह ट्वीट डिलीट कर दिया, जिसमें उन्होंने उन्होंने अनिल कुंबले को टीम इंडिया का हेड कोच बनाने पर खुशी जाहिर की थी और उनका दिल से स्वागत किया था. कोहली ने यह ट्वीट 23 जून, 2016 को रात 8 बजकर 33 मिनट पर किया था. ट्वीट में कोहली ने लिखा था, “अनिल कुंबले सर, आपका हार्दिक स्वागत है। हमलोगों के साथ आपकी नई पारी के प्रति हम काफी उत्साहित हैं. भारतीय क्रिकेट और

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच अनिल कुंबले ने कप्तान विराट कोहली के साथ कथित बहुचर्चित मतभेदों के बीच मंगलवार देर शाम अपने पद से इस्तीफा दे दिया. इस तरह से उनके सफल कार्यकाल का कड़वा अंत हुआ. कुंबले ने बीसीसीआई को अपने फैसले से अवगत कराया. हालांकि बाद में बीसीसीआई ने कुंबले के इस्तीफे की खबर की पुष्टि की. देर रात कुंबले ने एक ट्वीट करके अपने इस्तीफे का कारण स्पष्ट किया. कुंबले ने लिखा कि क्रिकेट सलाहकार समिति ने मुझसे हेड कोच के तौर पर अपना कार्यकाल आगे बढ़ाने के लिए कहा था. लेकिन इसके साथ ही मुझे बताया गया

लंदन कप्तान विराट कोहली के साथ चल रहे तनावपूर्ण संबंधों के बीच चीफ कोच अनिल कुंबले टीम के साथ वेस्टइंडीज रवाना नहीं हुए. टीम इंडिया चैंपियंस ट्रॉफी के बाद वहां से ही कैरेबियाई दौरे के‍ लिए रवाना हो गई है. बीसीसीआई के अनुसार वे आईसीसी की होने वाली बैठक के बाद टीम के साथ जुड़ेंगे. भारतीय क्रिकेट टीम को वेस्टइंडीज में 23 जून से पांच वन-डे मैच और एक टी20 मैच की सीरीज खेलनी है. इसके लिए भारतीय टीम सुबह वेस्टइंडीज के लिए रवाना हुई. लेकिन टीम के रवाना होते वक्त चीफ कोच कुंबले खिलाड़ियों के साथ नहीं थे. इसे लेकर यह

लंदन 4 जून को चैंपियंस ट्रॉफी में भारत-पाकिस्तान के बीच होने वाले मुकाबले से पहले विराट कोहली ने बर्मिंघम में प्रेस को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि हम पाकिस्तान को हलके में नहीं लेंगे. यह मैच हमारे लिए दूसरे मैचों जैसा ही है. विराट ने कहा, ड्रेसिंग रुम का हिस्सा बने बगैर बहुत से लोग कई तरह की अफवाहें उड़ा रहे हैं. मेरे और कुंबले के बीच किसी तरह की लड़ाई नहीं है. यदि कुछ प्रक्रिया का हिस्सा हो तो कुछ लोग इसके बारे में पता नहीं क्यों अफवाह उड़ा रहे हैं. यही प्रक्रिया पिछली बार भी कोच के चुनाव

चैंपियंस ट्रॉफी में भारत और पाकिस्तान के मैच से पहले जहां दर्शकों में बेहद उत्साह है वहीं भारतीय टीम में कोच को लेकर हलचल मची हुई है. सूत्रों के मुताबिक कोच कुंबले और कप्तान कोहली विवाद से टीम असमंजस में है. मैच की तैयारी से ज़्यादा कोच-कप्तान मनमुटाव की खबरों से खिलाड़ियों का ध्यान भटका हुआ है. पाकिस्तान के साथ 4 जून को भारत का अहम मैच है. जल्द ही तेंदुलकर-लक्ष्मण-गांगुली इंग्लैंड में कोच-कप्तान से मुलाकात करने वाले हैं. लेकिन, न ही बीसीसीआई के अधिकारी और ना ही सीओए ने अब तक कोई पहल की है. विराट कोहली और उनकी टीम को अचानक

भारतीय क्रिकेट टीम के कोच अनिल कुंबले ने हाल ही में BCCI के ऑफिस पदाधिकारियों से मुलाकात की. इस बैठक में कुंबले ने केन्द्रीय अनुबंध वाले खिलाड़ियों, सपोर्ट स्टाफ और कोच सहित तमाम लोगों की सैलरी में बढ़ोतरी का प्रस्ताव रखा. आपको बता दें कि कप्तान कोहली ने भी इन बातों पर कुंबले को अपना समर्थन दिया है. प्रबंधन समिति ने कुंबले और कोहली से बातचीत की और दोनों ने यह कहा कि टेस्ट क्रिकेट में प्रदर्शन को सबसे अधिक तवज्जो मिलनी चाहिए. कुंबले ने वेतन संरचना में बदलाव के लिए एक प्रेजेंटेशन दिया, इसे बोर्ड के पदाधिकारी जांचेंगे और इसके बाद प्रबंधन समिति के