रेसलर द ग्रेट खली की सुरक्षा वापस, सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

रेसलर द ग्रेट खली की सुरक्षा वापस, सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

चंद्रशेखर धरणी, चंडीगढ़:

द ग्रेट रेसलर दलीप सिंह उर्फ खली आज किसी परिचय के मोहताज नहीं है। हिमाचल के एक छोटे से गांव में जन्में दलीप सिंह उर्फ खली पेशेवर कुश्ती खेलने से पहले पंजाब पुलिस में एएसआई थे।

खली ने कई हॉलीवुड फिल्मों और टीवी शो में भी काम किया है। फरवरी 2016 में खली ने CWE वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप जीती थी। इसके बाद 10 फरवरी 2022 को वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे।

खली ने हरियाणा में भी अपना संस्थान खोला है, जिसमें वह बच्चों को पेशेवर कुश्ती की ट्रेनिंग देते है। बीजेपी में शामिल होने और हरियाणा के युवाओं को लेकर उनकी लगन और क्रेज को देखते हुए सरकार ने उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई थी, जिसके चलते उन्हें दो सुरक्षा गार्ड दिए गए थे।

बीजेपी में शामिल होने के बाद से ही खली लगातार बीजेपी के पक्ष में ही प्रचार करते रहे। हाल ही में चल रहे लोकसभा चुनाव के दौरान भी खली ने कई स्थानों पर बीजेपी उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार किया।

करनाल से लोकसभा चुनाव लड़ रहे पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल के लिए भी खली ने चुनावी प्रचार किया। इसके अलावा खली पूर्व गृह मंत्री अनिल विज के काफी मुरीद है। वह अकसर किसी ना किसी अवसर पर विज से मुलाकात करने पहुंच ही जाते हैं।

लोकसभा चुनाव के मतदान के दिन भी सुबह भी खली ने पूर्व गृह मंत्री अनिल विज से मुलाकात की। ऐसे में होना तो यह चाहिए था कि खली के प्रचार किए जाने वाले इलाकों के चुनावी परिणाम आने के बाद सरकार इस बारे में कोई फैसला लेती।

लेकिन लोकसभा चुनाव के दौरान ही सरकार ने अपनी ओर से खली की सुरक्षा में दिए गए सुरक्षा गार्ड्स को वापस बुला लिया। अचानक वापस ली गई सुरक्षा को लेकर खली के समर्थकों और प्रशंसकों कई प्रकार के सवाल उठा रहे हैं।

हालांकि एकाएक वापस ली गई सुरक्षा का कोई कारण तो पता नहीं चल पाया है, लेकिन इतना तय है कि बीजेपी चुनाव के बीच किसी खास मकसद या फिर कारण के ही ऐसा कर सकती है।

क्योंकि अभी हिमाचल, चंडीगढ़ और पंजाब में मतदान होना शेष है और खली का इन तीनों स्थानों से खासा लगाव है। यहां पर खली के चाहने वालों की संख्या लाखों में भी हो सकती है।

क्योंकि हिमाचल में खली का जन्म हुआ। इसके अलावा पंजाब पुलिस में उन्होंने खुद काम किया। ऐसे में इन दोनों राज्यों के लोगों से खली का खासा लगाव है।

बाजू पर श्रीराम का टैटू

फरवरी 2022 में बीजेपी में शामिल होने के बाद से ही खली लगातार बीजेपी और उसके उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार कर रहे हैं। हाल ही में चल रहे लोकसभा चुनाव के दौरान भी खली ने देश के अलग-अलग स्थानों पर बीजेपी उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार किया था। इसके अलावा उन्होंने अपनी बाजू पर श्रीराम के टैटू का बना रखा है।

2014 में बने थे अमेरिका के नागरिक

खली 20 फरवरी 2014 को अमेरिकी नागरिक बन गए। फरवरी 2015 में खली ने पंजाब में अपना कुश्ती स्कूल, कॉन्टिनेंटल रेसलिंग एंटरटेनमेंट खोला, जिसने 12 दिसंबर 2015 को अपना पहला कार्यक्रम आयोजित किया। फरवरी 2016 में, उन्होंने CWE वर्ल्ड हैवीवेट चैम्पियनशिप जीती।

ऐसे हुए थे पंजाब पुलिस में भर्ती

खली का जन्म एक बेहद ही गरीब परिवार में हुआ था। खली 7 भाई-बहनों में से एक थे। खली को अपने परिवार की मदद करने के लिए पत्थर तोडने जैसे काम करना पड़ा था।

वह एक्रोमेगाली से पीड़ित है। एक्रोमेगाली एक ऐसी बीमारी है जिसके कारण शरीर में वृद्धि हार्मोन की संख्या बहुत अधिक हो जाती है, जिससे शरीर में हड्डियों का आकार भी बढ़ जाता है, इससे हाथों, पैरों और चेहरे की हड्डियों में सामान्य से भिन्न विकास होने लगता है।

खली सुरक्षा गार्ड की नौकरी भी कर चुके हैं। जब खली हिमाचल प्रदेश के शिमला में एक सुरक्षा गार्ड के रूप में नौकरी कर रहे थे, तो उसी समय पंजाब के एक पुलिस अधिकारी की नज़र खली पर पडी। तब उन्होने खली को 1993 में पंजाब पुलिस में शामिल करवाया।

शाकाहारी के बावजूद खाते हैं मांस

दलीप सिंह ने 27 फरवरी, 2002 को हरमिंदर कौर से शादी की। उनकी शादी के तुरंत बाद, दलीप सिंह के कुश्ती करियर को भी काफी बुस्ट मिला। हरमिंदर के साथ अपनी शादी के सिर्फ 5 साल बाद, उन्होंने द ग्रेट खली के नाम से डब्ल्यूडब्ल्यूई में अपनी शुरुआत की थी।

फरवरी 2014 में, द ग्रेट खली और उनकी पत्नी, हरमिंदर कौर ने अपने जीवन में एक बच्ची का स्वागत किया था, और उसके आगमन ने उनके जीवन को पूरी तरह से बदल दिया था।

उन्होने अपनी बेटी का नाम अवलीन राणा रखा। वर्ष 2023 में अमेरिका में राणा की पत्नी ने एक बेटे को जन्म दिया।खली अत्यंत धार्मिक हैं। वे हर दिन ध्यान करते हैं और शराब और तंबाकू से दूर रहते हैं। खली को शाकाहारी भोजन पसंद है, लेकिन वे मांस भी खाते हैं।