महाराष्ट्र: रसायन कारखाने में बॉयलर फटने से लगी आग, छह लोग झुलसे

महाराष्ट्र के ठाणे जिले के डोंबिवली में बृहस्पतिवार को एक रसायन कारखाने में बॉयलर में विस्फोट होने के बाद भीषण आग लग गई, जिससे छह कर्मचारी घायल हो गए। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

अधिकारी ने बताया कि विस्फोट डोंबिवली में महाराष्ट्र औद्योगिक विकास निगम (एमआईडीसी) क्षेत्र के फेज-दो में स्थित ‘एम्बर केमिकल कंपनी’ के बॉयलर में हुआ।

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि धमाका इतना जोरदार था कि इसकी आवाज एक किलोमीटर दूर तक सुनाई दी। उन्होंने बताया कि विस्फोट के कारण आसपास की इमारत की खिड़कियों के शीशों में दरारें आ गईं।

अधिकारी ने बताया कि दमकलकर्मी और पुलिस मौके पर पहुंचे और आग पर काबू पाने के प्रयास जारी हैं।

महाराष्ट्र के नांदेड़ और परभणी के कुछ हिस्सों में भूकंप के झटके, कोई हताहत नहीं

महाराष्ट्र के नांदेड़ और परभणी जिलों के कुछ हिस्सों में बृहस्पतिवार की सुबह भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि इसमें किसी के हताहत होने या संपत्ति के नुकसान की कोई सूचना नहीं है।

नांदेड़ के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा जारी की गई एक विज्ञप्ति में बताया गया कि यहां दो बार भूकंप आया। उन्होंने बताया कि सुबह 6.09 बजे 4.5 तीव्रता का और और सुबह 6.19 बजे 3.6 तीव्रता का भूकंप का झटका महसूस किया गया। इसका केंद्र हिंगोली जिले के कलामनुरी तालुका के जांब गांव में था।

नांदेड़ के अर्धापुर, मुदखेड, नायगांव, देगलुर और बिलोली तालुका में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।

जिलाधिकारी अभिजीत राऊत ने लोगों से अपील की है कि वे इस स्थिति में घबराएं नहीं।

अधिकारियों ने लोगों से अपने घरों की टिन की छतों पर (वजन बढ़ाने के लिए)रखे गए पत्थरों को हटाने के लिए भी कहा है।

महाराष्ट्र विधानमंडल का बजट सत्र संपन्न; 10 जून से मानसून सत्र

विधानसभा में अंतरिम बजट पारित होने के साथ ही महाराष्ट्र विधानमंडल का सप्ताह भर चला बजट सत्र शुक्रवार को संपन्न हो गया।

दोनों सदनों के पीठासीन अधिकारियों ने घोषणा की कि लोकसभा चुनाव के बाद विधानमंडल का मानसून सत्र 10 जून से मुंबई में शुरू होगा और इसमें पूर्ण बजट पेश किया जाएगा।

बजट सत्र 26 फरवरी को शुरू हुआ था और अगले दिन वित्त मंत्री अजित पवार द्वारा विधानसभा में अंतरिम बजट पेश किया गया था।

दोनों सदनों में राज्यपाल का अभिभाषण 20 फरवरी को विधानमंडल के एक दिवसीय विशेष सत्र के दौरान हुआ, जहां सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में मराठा समुदाय को अलग से 10 प्रतिशत आरक्षण देने वाला विधेयक सर्वसम्मति से पारित किया गया।

अप्रैल-मई में होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पूर्ण बजट के बजाय अंतरिम बजट पेश किया गया। अंतरिम बजट में पूर्ण बजट पेश होने तक कुछ महीनों के लिए सरकार के व्यय और राजस्व प्रस्तावों की रूपरेखा होती है।