पोषण माह में पंजाब का बढ़िया प्रदर्शन, छठा स्थान हासिल किया- डॉ. बलजीत कौर

पोषण अभियान पंजाब राज्य के सभी जिलों में सितम्बर महीने के दौरान मनाया जाता है, जिसका मुख्य उद्देश्य कुपोषण, अनीमिया और जन्म के समय बच्चे के कम भार की दर को घटाना है। पंजाब द्वारा पोषण माह के दौरान बहुत बढिय़ा प्रदर्शन के लिए भारत सरकार द्वारा साझा की गई रोजाना की रिपोर्ट के अनुसार पंजाब राज्य को 6वां स्थान हासिल हुआ है।

सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास मंत्री ने बताया कि पोषण माह सरकार द्वारा पोषण के महत्व संबंधी जागरूकता पैदा करने और आम लोगों में सेहतमंद खाने की आदतों को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई एक पहल है। उन्होंने बताया कि इस दौरान पोषण के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करना, पौष्टिक भोजन के उपभोग को प्रोत्साहित करना, औरतों और बच्चों में कुपोषण को घटाना, माँ का दूध पिलाने और पोषण सम्बन्धी सेवाओं और सप्लीमैंट्स प्रदान करना इसका मुख्य उद्देश्य है।

मंत्री ने आगे बताया कि इस साल पोषण माह के दौरान पंजाब के हर आंगनवाड़ी केंद्र में अलग-अलग गतिविधियाँ और प्रोग्राम आयोजित किए गए, जिससे लोगों को ख़ासकर औरतों और बच्चों को संतुलित ख़ुराक के महत्व के बारे में जागरूक किया जा सके। पंजाब में कुपोषण को कम करने और आम लोगों में पोषण की स्थिति को सुधारने पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

मंत्री द्वारा विभाग के सभी अधिकारियों, आंगनवाड़ी वर्करों और हैल्परों को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी और अधिक मेहनत करने के लिए कहा, ताकि पंजाब में कुपोषण को खत्म किया जा सके।