पीएम मोदी आज तमिलनाडु और महाराष्ट्र में करेंगे कई विकास परियोजनाओं का शुभारंभ

पीएम मोदी आज तमिलनाडु और महाराष्ट्र में करेंगे कई विकास परियोजनाओं का शुभारंभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को तमिलनाडु और महाराष्ट्र में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास और राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

मंगलवार को तमिलनाडु पहुंचे प्रधानमंत्री ने मदुरै में ‘क्रिएटिंग द फ्यूचर: डिजिटल मोबिलिटी फॉर ऑटोमोटिव एमएसएमई एंटरप्रेन्योर्स’ नामक कार्यक्रम में भाग लिया।

इस दौरान पीएम ने भारतीय ऑटोमोटिव उद्योग में एमएसएमई के समर्थन और उत्थान के लिए डिज़ाइन की गई 2 प्रमुख पहलों की शुरुआत की।

बुधवार को पीएम मोदी तमिलनाडु के तूतीकोरिन के वीओ चिदंबरनार पोर्ट पर 17,000 करोड़ रुपये से अधिक की 36 बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का अनावरण करेंगे।

थूथुकुडी में सार्वजनिक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री वीओ चिदंबरनार बंदरगाह पर आउटर हार्बर कंटेनर टर्मिनल की आधारशिला रखेंगे। यह कंटेनर टर्मिनल वीओ चिदंबरनार बंदरगाह को पूर्वी तट के लिए ट्रांसशिपमेंट हब में बदलने की दिशा में एक कदम है।

इस परियोजना का लक्ष्य भारत की लंबी तटरेखा और अनुकूल भौगोलिक स्थिति का लाभ उठाना और वैश्विक व्यापार क्षेत्र में भारत की प्रतिस्पर्धात्मकता को मजबूत करना है।

प्रधानमंत्री वीओ चिदंबरनार बंदरगाह को देश का पहला हरित हाइड्रोजन हब बंदरगाह बनाने के उद्देश्य से विभिन्न अन्य परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे।

इन परियोजनाओं में अलवणीकरण संयंत्र, हाइड्रोजन उत्पादन बंकरिंग सुविधा आदि शामिल हैं। पीएम मोदी हरित नौका पहल के तहत भारत के पहले स्वदेशी हरित हाइड्रोजन ईंधन सेल अंतर्देशीय जलमार्ग जहाज का भी शुभारंभ करेंगे।

यह जहाज कोचीन शिपयार्ड द्वारा निर्मित है और स्वच्छ ऊर्जा समाधानों को अपनाने और देश की नेट-शून्य प्रतिबद्धताओं के साथ संरेखित करने के लिए एक अग्रणी कदम को रेखांकित करता है।

साथ ही, प्रधानमंत्री कार्यक्रम के दौरान दस राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में 75 प्रकाशस्तंभों में पर्यटक सुविधाएं भी समर्पित करेंगे।

कार्यक्रम के दौरान, प्रधान मंत्री वांची मनियाच्ची: नागरकोइल रेल लाइन के दोहरीकरण की रेल परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करेंगे, जिसमें वांची मनियाच्ची तिरुनेलवेली खंड और मेलाप्पलायम अरलवायमोली खंड शामिल हैं।

लगभग 1,477 करोड़ रुपये की लागत से विकसित, दोहरीकरण परियोजना कन्याकुमारी, नागरकोइल और तिरुनेलवेली से चेन्नई की ओर जाने वाली ट्रेनों के लिए यात्रा के समय को कम करने में मदद करेगी।

प्रधानमंत्री तमिलनाडु में लगभग 4,586 करोड़ रुपये की कुल लागत से विकसित चार सड़क परियोजनाओं को भी समर्पित करेंगे।

इन परियोजनाओं में NH-844 के जित्तंदहल्ली-धर्मपुरी खंड को 4 लेन का बनाना, NH-81 के मीनसुरुट्टी-चिदंबरम खंड को 2 लेन का बनाना, NH-83 के ओड्डनचत्रम-मदाथुकुलम खंड को 4 लेन का बनाना शामिल है।

NH-83 के नागपट्टिनम-तंजावुर खंड को पक्के कंधों के साथ 2 लेन का बनाया जाएगा। शाम करीब 4:30 बजे प्रधानमंत्री महाराष्ट्र के यवतमाल में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में भाग लेंगे।

इस कार्यक्रम के माध्यम से पीएम मोदी 4900 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) के तहत 21,000 करोड़ रुपये से अधिक की 16वीं किस्त राशि, लाभार्थियों को प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के माध्यम से यवतमाल में सार्वजनिक कार्यक्रम में जारी की जाएगी।

इस रिलीज से 11 करोड़ से ज्यादा किसान परिवारों को 3 लाख करोड़ से ज्यादा की रकम ट्रांसफर की जा चुकी है। प्रधानमंत्री ‘नमो शेतकारी महासंमान निधि’ की दूसरी और तीसरी किस्त भी वितरित करेंगे।

जिसकी कीमत लगभग 3800 करोड़ रुपये है और इससे पूरे महाराष्ट्र में लगभग 88 लाख लाभार्थी किसान लाभान्वित होंगे।

यह योजना महाराष्ट्र में प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों को प्रति वर्ष 6000 रुपये की अतिरिक्त राशि प्रदान करती है।

पीएम मोदी पूरे महाराष्ट्र में 5.5 लाख महिला स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) को रिवॉल्विंग फंड के 825 करोड़ रुपये वितरित करेंगे।

यह राशि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) के तहत भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली रिवॉल्विंग फंड के अतिरिक्त है।

एसएचजी के भीतर बारी-बारी से धन उधार देने को बढ़ावा देने और ग्रामीण स्तर पर महिलाओं के नेतृत्व वाले सूक्ष्म उद्यमों को बढ़ावा देकर गरीब परिवारों की वार्षिक आय बढ़ाने के लिए एसएचजी को रिवॉल्विंग फंड (आरएफ) दिया जाता है।

पीएम मोदी पूरे महाराष्ट्र में एक करोड़ आयुष्मान कार्ड के वितरण की भी शुरुआत करेंगे। इसके अलावा, प्रधान मंत्री महाराष्ट्र में ओबीसी श्रेणी के लाभार्थियों के लिए मोदी आवास घरकुल योजना शुरू करेंगे।

इस योजना में वित्त वर्ष 2023-24 से वित्त वर्ष 2025-26 तक 10 लाख घरों के निर्माण की परिकल्पना की गई है। पीएम मोदी योजना के 2.5 लाख लाभार्थियों को 375 करोड़ रुपये की पहली किस्त ट्रांसफर करेंगे।
इसके अलावा, वह महाराष्ट्र के मराठवाड़ा और विदर्भ क्षेत्रों को लाभ पहुंचाने वाली कई सिंचाई परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

ये परियोजनाएं प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (पीएमकेएसवाई) और बलिराजा जल संजीवनी योजना (बीजेएसवाई) के तहत 2750 करोड़ रुपये से अधिक की संचयी लागत पर विकसित की गई हैं।

प्रधानमंत्री महाराष्ट्र में 1300 करोड़ रुपये से अधिक की कई रेल परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे। परियोजनाओं में वर्धा-कालंब ब्रॉड गेज लाइन और न्यू अष्टी-अमलनेर ब्रॉड गेज लाइन शामिल हैं।

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री अन्य लोगों के अलावा वर्चुअल माध्यम से 2 ट्रेन सेवाओं को भी हरी झंडी दिखाएंगे। इसमें कलंब और वर्धा को जोड़ने वाली ट्रेन सेवाएं और अमलनेर और न्यू आष्टी को जोड़ने वाली ट्रेन सेवा शामिल हैं।

इस नई ट्रेन सेवा से रेल कनेक्टिविटी में सुधार होगा और क्षेत्र में छात्रों, व्यापारियों और दैनिक यात्रियों को लाभ होगा। इसके बाद पीएम मोदी महाराष्ट्र में सड़क क्षेत्र को मजबूत करने के लिए कई परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

परियोजनाओं में NH-930 के वरोरा-वानी खंड को चार लेन का बनाना शामिल है। इसके बाद पीएम मोदी यवतमाल शहर में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा का भी उद्घाटन करेंगे।