फरीदाबाद : PM मोदी ने अमृता हॉस्पिटल का किया उद्घाटन, जानिए उनके संबोधन की बड़ी बातें…

pm modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को फरीदाबाद में करीब 6000 करोड़ रुपये की लागत से बन रहे एशिया के सबसे बड़े ‘अमृता अस्पताल’ का उद्घाटन किया। यह अस्पताल फरीदाबाद और पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के लोगों को अत्याधुनिक स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करेगा।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा, “भारत एक ऐसा राष्ट्र है, जहां, इलाज एक सेवा है, आरोग्य एक दान है। जहां आरोग्य आध्यात्म, दोनों एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। हमारे यहां आयुर्विज्ञान एक वेद है। हमने हमारी मेडिकल साइन्स को भी आयुर्वेद का नाम दिया है।”

उन्होंने कहा, “देश ने एक नई ऊर्जा के साथ आजादी के अमृत काल में प्रवेश किया है। हमारे इस अमृत काल में देश के सामूहिक प्रयास प्रतिष्ठित हो रहे हैं। देश के सामूहिक विचार जाग्रत हो रहे हैं। मुझे खुशी है कि अमृत काल की इस बेला में मां अमृतानंदमयी के आशीर्वाद का अमृत भी देश को मिल रहा है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार लाल किले से मैंने अमृतकाल के ‘पंच प्रणों’ का एक विजन देश के सामने रखा है। इन पंच प्रणों में से एक है- गुलामी की मानसिकता का संपूर्ण त्याग। इसकी इस समय देश में खूब चर्चा भी हो रही है। इस मानसिकता का जब हम त्याग करते हैं, तो हमारे कार्यों की दिशा भी बदल जाती है।

उन्होंने कहा, “तीन वर्ष पहले देश ने जल जीवन मिशन जैसे देशव्यापी अभियान की शुरुआत की थी। इन तीन वर्षों में देश के 7 करोड़ नए ग्रामीण परिवारों को नल से जल पहुंचाया जा चुका है। हरियाणा आज देश के उन अग्रणी राज्यों में है, जहां घर-घर पाइप से पानी की सुविधा से जुड़ चुका है।”

पीएम मोदी ने कहा कि इसी तरह, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ में भी हरियाणा के लोगों ने बेहतरीन काम किया है। फिटनेस और खेल जैसे विषय तो हरियाणा के संस्कारों में ही हैं।