देश के उत्तरी और उत्तर-पूर्वी हिस्सों में कम दृश्यता से सामान्य जनजीवन प्रभावित

देश के उत्तरी और उत्तर-पूर्वी हिस्सों में कम दृश्यता से सामान्य जनजीवन प्रभावित

देश के उत्तरी और उत्तर-पूर्वी हिस्सों जैसे उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़, राजस्थान और बिहार में घने कोहरे के कारण गुरुवार सुबह दृश्यता बहुत कम हो गई। जिससे सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ और उड़ान संचालन में भी देरी हुई।

जम्मू, पंजाब, हरियाणा-चंडीगढ़, पश्चिम राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार में बहुत घना कोहरा छाया हुआ है। दिल्ली, उत्तराखंड, पूर्वी राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश और त्रिपुरा में घना कोहरा और मध्यम पश्चिमी मध्य प्रदेश, ओडिशा और मणिपुर में भी कोहरा छाया रहेगा।

उत्तर प्रदेश के बरेली, लखनऊ और बहराईच में दृश्यता 25 मीटर दर्ज की गई। वहीं प्रयागराज और गोरखपुर में दृश्यता 50 मीटर थी। इसके अलावा सुल्तानपुर में दृश्यता 200 मीटर दर्ज की गई।

आईएमडी द्वारा आज सुबह 8:30 बजे के अनुसार जम्मू में 25 मीटर, पंजाब के पटियाला में 25 मीटर, अमृतसर में 50 मीटर, हरियाणा के चंडीगढ़ और अंबाला में 25 मीटर, करनाल में 50 मीटर, दिल्ली के आयानगर में 50 मीटर, उत्तराखंड के पंतनगर और नैनीताल में 50 मीटर दृश्यता दर्ज की गई।

उत्तर प्रदेश के झाँसी और बहराईच में 25 मीटर, बरेली, लखनऊ और वाराणसी में 50 मीटर, सुल्तानपुर में 200 मीटर, राजस्थान के बीकानेर में 25 मीटर, कोटा, जयपुर और अजमेर में 50 मीटर, जैसलमेर में 200 मीटर, बिहार के पूर्णिया में 25 मीटर, मध्य प्रदेश के सागर में 50 मीटर, ग्वालियर और खजुराहो में 200 मीटर दृश्यता दर्ज की गई।

जबकि ओडिशा के राउरकेला में 200 मीटर, झारखंड के डाल्टनगंज में 200 मीटर, त्रिपुरा के अगरतला में 50 मीटर, मणिपुर के इंफाल में 200 मीटर दृश्यता रही। कोहरे के बीच कम दृश्यता के कारण दिल्ली हवाई अड्डे पर कई उड़ान संचालन में देरी हुई।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में घने कोहरे के कारण क्षेत्र में दृश्यता कम हो गई। राजस्थान में जयपुर के भांकरोटा इलाके में बुधवार सुबह घने कोहरे के कारण दृश्यता कम हो गई। दिल्ली में अगले कुछ दिनों में अत्यधिक ठंड पड़ने की संभावना है।