मनोहर लाल ने केंद्रीय ऊर्जा मंत्री का कार्यभार संभाला

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रचारक एवं हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंगलवार को केंद्रीय ऊर्जा मंत्री का कार्यभार संभाल लिया।

मनोहर लाल ने आर. के. सिंह का स्थान लिया है। सिंह बिहार के आरा से लोकसभा चुनाव हार गए हैं।

खट्टर ने सुबह मंत्रालय का कार्यभार संभालने के बाद बिजली क्षेत्र के सार्वजनिक उपक्रमों के प्रमुखों और मंत्रालय के अन्य शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात की ताकि क्षेत्र की गतिशीलता को समझा जा सके।

हालांकि, उन्होंने बिजली क्षेत्र में प्रमुख चुनौतियों और कम से कम अगले 100 दिन के लिए अपनी कार्ययोजना के बारे में पत्रकारों से कोई बात नहीं की।

ऊर्जा मंत्री के रूप में मनोहर लाल को देश भर में उच्च बिजली मांग और कोयला आपूर्ति की समस्याओं सहित विभिन्न मुद्दों से निपटना होगा।

इस साल मई में बिजली की मांग 250 गीगावाट के उच्चतम स्तर को छू चुकी है। इससे पहले मंत्रालय ने अनुमान लगाया था कि इस गर्मी में बिजली की अधिकतम मांग 260 गीगावाट तक पहुंच सकती है।

मनोहर लाल को देश भर के सभी बिजलीघरों में कोयले की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए कोयला व रेलवे मंत्रालयों के साथ भी मिलकर काम करना होगा।

मनोहर लाल ने हालिया आम चुनाव में करनाल निर्वाचन क्षेत्र में कांग्रेस के दिव्यांशु बुद्धिराजा को मात दी है।

मनोहर लाल 2014 में पहली बार विधायक बने और हरियाणा के मुख्यमंत्री रहे। मार्च 2024 में उनकी जगह उनके विश्वासपात्र नायब सिंह सैनी ने ले ली।