एलन मस्क का बड़ा एक्शन, CEO पराग अग्रवाल समेत कई शीर्ष अधिकारियों को किया बर्खास्त

एलन मस्क ने गुरुवार को ट्विटर अधिग्रहण का सौदा पूरा कर लिया। कंपनी के मालिकाना हक मिलते ही मस्क ने सीईओ पराग अग्रवाल समेत कई शीर्ष अधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाया है। मस्क ने ट्विटर के शीर्ष अधिकारियों पर उन्हें गुमराह करने के आरोप लगाए हैं।

मस्क ने अपने एक बयान में कहा है कि वो ट्विटर पर स्पैम बॉट्स को हराना चाहते हैं। वो एक ऐसी एल्गोरिदम बनाना चाहते हैं जो यह निर्धारित करे, साइट पर मौजूद सामग्री सार्वजनिक रूप से कैसे दिखे। यह निर्धारित किया जा सके। हालांकि मस्क ने अभी तक अपनी इस कार्य योजना को लेकर कोई खास जानकारी उपलब्ध नहीं कराई है।

एलन मस्क ने साफ कर दिया है कि उनकी योजना कंपनी के कर्मचारियों में कटौती करने की है। उन्होंने गुरुवार को यह भी कहा था कि उन्होंने अधिक पैसा बनाने के लिए ट्विटर नहीं खरीदा बल्कि मानवता की मदद करने की कोशिश करने के लिए यह अधिग्रहण सौदा किया है।

मस्क के करीबी लोगों द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, उन्होंने ने ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पराग अग्रवाल, मुख्य वित्तीय अधिकारी नेड सेगल और कानूनी मामलों और नीति प्रमुख विजया गड्डे को बाहर का रास्ता दिखाया है।

मस्क ने आरोप लगाए हैं कि अग्रवाल समेत कई शीर्ष अधिकारियों ने उन्हें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फर्जी खातों की संख्या को लेकर गुमराह करने की कोशिश की। अग्रवाल और सेगल ट्विटर के सैन फ्रांसिस्को मुख्यालय में कार्यरत थे। खरीद का सौदा पूरा होने के बाद उन्हें बाहर कर दिया गया।