मध्य प्रदेश में गर्मी से बचने के लिए मतदान केंद्रों पर टेंट, पीने का पानी और मेडिकल किट उपलब्ध कराएगा- चुनाव आयोग

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मध्य प्रदेश में चिलचिलाती गर्मी से बचने के लिए राज्य चुनाव आयोग (ईसी) तैयारियों में जुटा है।

मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुपम राजन ने बुधवार को बताया कि सभी मतदान केंद्रों पर वोटरों के लिए टेंट, पीने का पानी और मेडिकल किट की व्यवस्था की जा रही है।

उन्होंने कहा, “चुनाव के जो चार चरण हैं, 19 अप्रैल, 26 अप्रैल, सात मई और 13 मई, गर्मी का मौसम रहेगा, गर्मी काफी ज्यादा रहेगी खासकर तीसरे और चौथे चरण में। हम लोगों ने मतदान केंद्रों पर छाया की व्यवस्था की है, टेंट की व्यवस्था की है, पीने के पानी की व्यवस्था की है। जो हम मेडिसन किट देते हैं, हर मतदान केंद्र के लिए दवाओं का एक पैकेट होता है, उसमें इससे जुड़ी दवाएं रखवा रहे हैं।”

राजन ने ये भी बताया कि मेडिकल किट के साथ वोटरों को ओआरएस के पैकेट भी दिए जाएंगे।

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुपम राजन ने कहा, “जो हमारे मतदान दल में कर्मचारी लग रहे हैं, उनकी आयु का ध्यान रख रहे हैं, उनकी मेडिकल हिस्ट्री का भी ध्यान रख रहे हैं। मतदाताओं को यह भी बताया जाएगा कि किन चीजों से सावधान रहना है।उम्मीद कर रहे हैं कि हमारे प्रचार और जागरूकता अभियानों से मतदान प्रतिशत पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा।”

2024 के लोकसभा चुनाव के लिए 19 अप्रैल से एक जून तक सात चरणों में वोटिंग होगी। नतीजे चार जून को आएंगे।

मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों पर चार चरणों में चुनाव होंगे।