पानी की किल्लत पर दिल्ली को ‘सुप्रीम’ राहत, हरियाणा-हिमाचल को करना होगा ये काम

पानी की किल्लत पर दिल्ली को ‘सुप्रीम’ राहत, हरियाणा-हिमाचल को करना होगा ये काम

एमएच वन ब्यूरो, चंडीगढ़:

भीषण गर्मी के बीच पानी की किल्लत झेल रहे दिल्ली वासियों को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी राहत दी है। दिल्ली की पानी किल्लत को दूर करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने हिमाचल प्रदेश को दिल्ली के लिए रोजाना 137 क्यूसेक पानी उपलब्ध कराने का आदेश देने के साथ ही हरियाणा को उस पानी को बिना किसी रोक-टोक के दिल्ली तक पहुंचाने का निर्देश दिया है।

हालांकि हरियाणा सरकार ने इस पर आपत्ति जताई थी। हरियाणा की ओर से तर्क दिया गया था कि हिमाचल प्रदेश की ओर से छोड़ा गया पानी दिल्ली तक पहुंचाने की कोई व्यवस्था नहीं है।

यह भी संभव नहीं है कि छोड़े गए पानी को हरियाणा और दिल्ली के लिए अलग-अलग किया जा सके। सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा की दलीलों को खारिज करते हुए कहा कि जब हिमाचल प्रदेश दिल्ली को पानी दे रहा है, तो हरियाणा को इसमें क्या दिक्कत है?

कोर्ट ने इस मामले में राजनीति करने की बजाए दिल्ली में पानी की संकट को दूर करने की कोशिश करने को कहा। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी निर्देश दिया कि हिमाचल प्रदेश शुक्रवार से दिल्ली के लिए 137 क्यूसेक पानी छोड़ना शुरू करेगा।

अदालत सोमवार को इस मामले की फिर से सुनवाई करेगी और स्थिति का जायजा लेगी। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से यकीनन दिल्ली वासियों को एक बड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। उम्मीद है कि आने वाले दिनों में दिल्ली में चल रही पानी की किल्लत इस फैसले के बाद दूर हो पाएगी।