अफगानिस्तान क्रिकेट ने 3 अफगानी खिलाड़ियों पर लगाया प्रतिबंध, खतरे में पड़ सकता है आईपीएल 2024

अफगानिस्तान क्रिकेट ने 3 अफगानी खिलाड़ियों पर लगाया प्रतिबंध, खतरे में पड़ सकता है आईपीएल 2024

आईपीएल से ठीक पहले अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने 3 क्रिकेटरों पर 2 साल का प्रतिबंध लगा दिया है। एसीबी ने 3 खिलाड़ियों मुजीब उर रहमान, फजलहक फारूकी और नवीन उल हक का सेंट्रल कॉन्टैक्ट को रोकते हुए उनके फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलने पर बैन लगा दिया है।

अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड का कहना है कि ये तीनों खिलाड़ी राष्‍ट्रीय टीम के लिए खेलने की जगह अपने निजी हितों को प्राथमिकता दे रहे हैं।

एसीबी ने इन तीनों के 2 साल तक टी-20 लीग खेलने के लिए एनओसी देने से भी साफ मना कर दिया है और आगामी टूर्नामेंट के लिए जो एनओसी मिली हैं, उन्‍हें भी रद्द कर दिया है।

बता दें, आईपीएल 2024 ऑक्‍शन में कोलकाता नाइट राइडर्स ने मुजीब उर रहमान को खरीदा था। जबकि नवीन उल हक लखनऊ सुपर जाएंट्स और फजलहक फारूकी को सनराइजर्स हैदराबाद का हिस्‍सा हैं।

केंद्रीय अनुबंध से मुक्त होने की जताई थी इच्छा

पता चला है कि तीनों ने दुनिया भर की टी-20 लीगों में खेलने के लिए सहमति मांगने के साथ ही 1 जनवरी 2024 से शुरू होने वाले केंद्रीय अनुबंध से मुक्त होने की इच्छा जताई थी।

बोर्ड के बयान में कहा गया है कि इन खिलाड़ियों के लिए केंद्रीय अनुबंध पर हस्ताक्षर न करने का आग्रह वाणिज्यिक लीगों में उनकी भागीदारी थी, जो अफगानिस्तान के लिए खेलने पर अपने व्यक्तिगत हितों को प्राथमिकता देते थे, जिसे एक राष्ट्रीय जिम्मेदारी माना जाता है।

अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इन खिलाड़ियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कदम उठाने का फैसला किया है। बयान में आगे कहा गया कि अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड का निर्णय एसीबी के मूल मूल्यों और सिद्धांतों के अनुरूप, राष्ट्रीय प्राथमिकताओं पर ध्यान केंद्रित करके लिया गया है।

यह प्रत्येक खिलाड़ी के लिए एसीबी के सिद्धांतों को बनाए रखने और अपने निजी हितों से ऊपर देश के हितों को प्राथमिकता देने की आवश्यकता पर प्रकाश डालता है।

अब इन तीनों खिलाड़ियों के आईपीएल भविष्य पर कोई स्पष्टता नहीं है। मुजीब को केकेआर ने 2 करोड़ रुपये में खरीदा था। जबकि नवीन और फारूकी को क्रमशः एलएसजी और एसआरएच ने ऑक्शन से पहले रिटेन किया था।