चार जून के बाद इंडिया गठबंधन सरकार बनायेगा, गरीबों को हर महीने 10 किलो अनाज मुफ्त देंगे : खरगे

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने बुधवार को दावा किया कि लोकसभा चुनाव के चार चरण संपन्न होने के बाद विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) मजबूत स्थिति में है, और चार जून के बाद सरकार बनाएगा ।

उन्होंने यह भी कहा कि ‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार गरीब लोगों को हर महीने 10 किलो अनाज मुफ्त देगी।

कांग्रेस अध्यक्ष खरगे और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव आज राजधानी लखनऊ में एक संयुक्त पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे ।

खरगे ने कहा, ”देश में चुनाव के चार चरण संपन्न हो चुके हैं। विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) मजबूत स्थिति में है। मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि हिंदुस्तान की जनता ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की विदाई तय कर दी है। चार जून को ‘इंडिया’ गठबंधन नई सरकार बनाने जा रहा है।”

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी कहते हैं कि देश के 80 करोड़ गरीबों को हम मुफ्त अनाज दे रहे हैं। उन्होंने यह नहीं बताया कि खाद्य सुरक्षा कानून तो हम लेकर आए थे। ‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार आएगी तो हम गरीबों को प्रति माह 10 किलो अनाज मुफ्त देंगे। हमने यह कर्नाटक और तेलंगाना में किया है।’’

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ताकत की बात करते हैं, लेकिन वह बार बार संविधान बदलने की बात करने वालों पर कार्रवाई क्यों नहीं करते?

खरगे ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान का भी जिक्र किया और कहा कि उन्होंने भी संविधान को बदलने की बात की थी।

उन्होंने कहा ‘‘उप्र में भाजपा के इतने लोग संविधान बदलने की बात बोलते हैं कि मुझे ताज्जुब होता हैं और मोदी जी चुप बैठते हैं। अगर आपके पास ताकत है, छप्पन इंच की छाती तो है ही… तो उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं करते ?’’

उन्होंने कहा कि यह संविधान के खिलाफ हैं, ऐसा नहीं बोलना चाहिए ।

खरगे ने कहा, ”यह संसद का बेहद महत्वपूर्ण चुनाव है, जिससे देश का भविष्य बनेगा और आने वाली पीढ़ी को सुरक्षित रखा जाएगा। देश के भविष्य को बनाने व संविधान और लोकतंत्र को बचाने के लिए हम सबको मिलकर काम करना चाहिए। इसलिए हम सब मिलकर आपके लिए काम कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा, ”यह लोकतंत्र और संविधान को बचाने का चुनाव है। आज देश में दो विचारधाराओं की लड़ाई है। एक तरफ, गरीबों के पक्ष में लड़ने वाली पार्टियां हैं। दूसरी तरफ, अमीरों के पक्ष में खड़े होने वाले लोग हैं।”

उन्होंने कहा कि उनकी लड़ाई गरीबों की ओर से है, जिन्हें खाना और नौकरी नहीं मिलती। उन्होंने कहा कि विपक्षी गठबंधन देश में फैली बेरोजगारी और महंगाई के खिलाफ यह लड़ाई लड़ रहा है।

खरगे ने कहा, ”विपक्ष के नेताओं को भाजपा के लोग नामांकन करने से रोक रहे हैं। हमारे पोलिंग एजेंट को भी डराया-धमकाया जा रहा है। चुनाव में सबको समान अवसर मिलना चाहिए। चुनाव के चार चरणों के बाद संकेत मिले हैं कि ‘इंडिया’ गठबंधन भाजपा से आगे है।”

उन्होंने आरोप लगाया कि हैदराबाद में भाजपा प्रत्याशी मतदाताओं का बुर्का उठा उठाकर देख रही हैं । ‘‘ऐसी स्थिति में क्या निष्पक्ष चुनाव होता है?’’

कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री पर अपने संबोधनों में विकास के अलावा अन्य मुद्दे उठाने के लिए भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अपने संबोधनों में “मटन, चिकन, मंगलसूत्र” का जिक्र करते हैं लेकिन मणिपुर के मुद्दे पर बात ही नहीं करते। उन्होंने पूछा कि प्रधानमंत्री पिछले 10 वर्षों में किए गए काम पर वोट क्यों नहीं मांग रहे हैं?

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि विपक्षी गठबंधन के सत्ता में आने पर जातीय जनगणना कराई जाएगी ताकि लोगों की सामाजिक, आर्थिक स्थिति का अंदाजा लगे। उन्होंने कहा ‘‘इसका उद्देश्य देश को कमजोर करना कतई नहीं है।’’

उन्होंने मोदी पर तंज करते हुए कहा कि वह कांग्रेस को जितनी गाली देते हैं, राम का नाम उतना नहीं लेते। उन्होंने कहा ‘‘मुझे लगता है कि उन्होंने उतना भगवान राम का नाम नहीं लिया होगा, जितनी वह कांग्रेस पार्टी, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और मुझे गाली देते हैं।’’

पत्रकार वार्ता में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने दावा किया कि विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ उत्तर प्रदेश में 79 लोकसभा सीटें जीतेगा, और सिर्फ एक सीट पर ही मुकाबला है ।

यादव ने कहा, “बुंदेलखंड के लोग भारतीय जनता पार्टी को खंड खंड कर देंगे। इंडिया गठबंधन उत्तर प्रदेश में 79 सीटें जीत रहा है औऱ सिर्फ ‘क्योटो’ में मुकाबला है।”

प्रधानमंत्री और भाजपा पूर्व में वाराणसी को जापान के खूबसूरत शहर क्योटो की तरह विकसित करने का दावा कर चुके हैं।

यादव ने कहा कि चार चरणों का मतदान संपन्न होने के साथ ही भाजपा का झूठ भी चरम पर पहुंच गया है और अब ढहने लगा है।

उन्होंने कहा, ‘‘यह सरकार नौकरी नहीं देना चाहती। नौकरी न देने से नौजवानों का एक तिहाई जीवन बर्बाद हो गय़ा। किसान, नौजवान, व्यापारी भाजपा की पुरानी कहानी सुन सुन कर थक चुके हैं।”

कन्नौज लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे उप्र के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के बुंदेलखण्ड क्षेत्र में भाजपा एक भी सीट नहीं जीतेगी। उन्होंने परीक्षा पेपर लीक को लेकर भी राज्य सरकार पर हमला बोला।

कांग्रेस, सपा और अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के साथ मिलकर उप्र में चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस जहां 17 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, वहीं समाजवादी पार्टी 62 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, जबकि टीएमसी ने उप्र की एक लोकसभा सीट भदोही से अपना उम्मीदवार खड़ा किया है।