उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ ने दुर्योंधन और दुशासन से की विपक्ष की तुलना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष की तुलना दुर्योधन और दुशासन से करते हुए बुधवार को कहा कि ‘दुर्योधनों और दुशासनों’ के खिलाफ लोकसभा चुनाव रूपी महाभारत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का सारथी बनकर कृष्ण की भूमिका में खड़े हैं।

मुख्यमंत्री ने महोबा और जालौन में भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में आयोजित जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस समेत पूरे विपक्ष पर तीखे प्रहार किये।

योगी ने जालौन में कहा, ”मैं आज सुबह ही कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे का बयान सुन रहा था। उन्होंने कहा कि चुनाव ध्रुवीकरण पर लड़ा जा रहा है। खरगे जी से कहना चाहता हूं कि देश का चुनाव ध्रुवीकरण के बीच नहीं, ये चुनाव तो रामभक्तों और राम द्रोहियों के बीच में हो रहा है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘एक तरफ सभी रामद्रोही खड़े हैं, रामभक्तों पर गोली चलाने वाले खड़े हैं, देश के साथ गद्दारी करने वाले और पाकिस्तान का राग अलापने वाले खड़े हैं, उन दुर्योधनों और दुशासनों के खिलाफ इस महाभारत में आज मोदी जी भारतीय जनता पार्टी का सारथी बनकर कृष्ण की भूमिका में खड़े हैं।”

योगी ने कहा, ”ये जो रामद्रोही हैं, वे केवल अपने परिवार के बारे में सोचते हैं। इनको न जाति की चिंता है, न प्रदेश की चिंता है और न देश की चिंता है। इन्हें न आपकी आस्था की चिंता है, न गरीब की चिंता है, न किसान की चिंता है, न महिलाओं की चिंता है न बेटियों की चिंता है। इनको सिर्फ परिवार की चिंता है।”

खरगे ने लखनऊ में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में कहा था, ”यह लोकतंत्र और संविधान को बचाने का चुनाव है। आज देश में दो विचारधाराओं की लड़ाई है। एक तरफ, गरीबों के पक्ष में लड़ने वाली पार्टियां हैं। दूसरी तरफ, अमीरों के पक्ष में खड़े होने वाले लोग हैं। हमारी लड़ाई गरीबों की ओर से है, जिन्हें खाना नहीं मिलता और नौकरी नहीं मिलती। हमारा गठबंधन देश में फैली बेरोजगारी और महंगाई के खिलाफ यह लड़ाई लड़ रहा है।”

मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया, ”ये कांग्रेस के लोग धमकी देते हैं कि पाकिस्तान के पास एटम बम है…. तो हमारा एटम बम क्या फ्रिज में रखने के लिए है। भारत 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त राशन दे रहा है तो पाकिस्तान में एक किलो गेहूं के लिए छीनाझपटी हो रही है। पाकिस्तान का राग अलापने वालों को सुझाव है कि भारत पर बोझ मत बनो, कटोरा लेकर पाकिस्तान ही चले जाओ।”

इससे पहले, महोबा में आयोजित जनसभा में आदित्यनाथ ने दावा किया कि केंद्र और प्रदेश की सरकार ने सबसे अधिक बुंदेलखंड क्षेत्र के विकास पर ध्यान केंद्रित किया है और इस क्षेत्र को नोएडा की तर्ज पर विकसित किया जाएगा, जिसके बाद यहां के नौजवान पलायन नहीं करेंगे, बल्कि पूरी दुनिया से लोग यहां नौकरी और रोजगार के लिए आएंगे।

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस, सपा और बसपा को निशाने पर लेते हुए कहा, ‘‘पिछली सरकारों में बुंदेलखंड क्षेत्र में माफिया और डकैत पैदा किये गये थे। बुंदेलखंड को पानी के लिए तरसाया गया, ऐसे लोगों की जमानत जब्त होनी चाहिए।’’

उन्होंने आल्हा-उदल और वीर चंदेलों की भूमि को नमन करते हुए कहा कि उनके लिए महोबा उनकी अपनी भूमि लगती है। बाबा गोरखनाथ ने यहीं गोरखगिरी में तपस्या की थी और आल्हा उदल को यहीं अमरता का वरदान प्राप्त हुआ था।

उन्होंने कहा, ‘‘बुंदेलखंड के साथ पिछली सरकारों ने बहुत अन्याय किया था। यह क्षेत्र प्रचूर प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर है, यहां नदी, नाले, खनन और पर्यटन की संभावना है। सपा सरकार ने यहां माफिया और डकैत पैदा करके जनता का शोषण किया।’’