जरदारी ने पेशावर में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जब वह सत्ता में थे तो पाकिस्तान के अफगानिस्तान और भारत के साथ संबंध अच्छे थे. सभी जगह शांति का माहौल था. उन्होंने कहा, हमें अपने पड़ोसी देशों के बीच दोस्ती के संबंध बनाने चाहिए. लेकिन नवाज शरीफ की सरकार में ऐसा कुछ भी नहीं है. हालात बिगड़ते नजर आ रहे है. उन्होंने कहा कि वो युद्ध नहीं होगा, वो ऐसा होने नहीं देंगे. उन्होंने पड़ोसी देशो के साथ अनबन को लेकर नवाज सरकार की आलोचना की.