दिल्ली भारत-चीन सीमा के नजदीक उत्तराखंड के चमोली जिले के बराहोटी इलाके में भारतीय नभक्षेत्र (इंडियन एयरस्पेस) में एक संदिग्ध चीनी हेलिकॉप्टर उड़ता दिखा. कुछ मिनट तक भारतीय क्षेत्र में रहने के बाद वह वापस चला गया. इस बात की जानकारी पुलिस ने दी. पुलिस अधिकारियों ने संदिग्ध हेलिकॉप्टर मामले की जांच शुरू कर दी है. चमोली पुलिस अधीक्षक तृप्ति भट्ट ने बताया कि सुबह सवा नौ बजे एक हेलिकॉप्टर भारतीय नभक्षेत्र का उल्लंघन करके बराहोटी क्षेत्र के ऊपर उड़ता दिखा. यह लगभग चार मिनट तक भारतीय सीमा के अंदर रहा. उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है, इस तरह की

उत्तराखंड में भूस्खलन की वजह से बद्रीनाथ यात्रा पर गए सैकड़ों यात्री फंस गए हैं. चट्टानें किसकने के बाद बदरीनाथ यात्रा फिलहाल रोक दी गई है. इसके बाद ऋषिकेश-बदरीनाथ हाइवे को ठीक करने के लिए काम तेजी से शुरु कर दिया गया है। चमोली के जिलाधिकारी आशीष जोशी ने बताया कि सीमा सड़क संगठन के जवान मलबे को साफ करने में लगे हैं और शनिवार दोपहर तक राजमार्ग को यातायात के लिये खोल दिया जायेगा. उन्होंने बताया कि बद्रीनाथ की यात्रा पर आये श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत न हो, इसके लिये उन्हें जोशीमठ, पीपलकोटी, कर्णप्रयाग, गोविंदघाट और बद्रीनाथ में ही सुविधाजनक स्थानों

प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी अपनी उत्तराखंड यात्रा पर बुधवार सुबह केदारनाथ धाम मंदिर पहुंचे। मंदिर के कपाट 8.50 बजे खुल गए और इसके बाद उन्होंने मंदिर में प्रवेश कर भगवान शिव का रुद्राभिषेक किया। पूजा के बाद पीएम मोदी बाहर निकले और लोगों के बीच जाकर उनका अभिवादन स्वीकार किया। इससे पहले मंदिर के कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू हुई है और केदारनाथ के रावल भीमाशंकर लिंग और मुख्य पुजारी बागेश्वर लिंग के साथ ही बदरी-केदार मंदिर समिति के पदाधिकारी के मौजूदगी में वेदपाठियों ने मंत्रोच्चार शुरू कर कपाट खोले।