दिल्ली चीन ने पाकिस्तान स्थित जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंध को एक बार फिर बाधित करने का संकेत दिया है. उसने आज कहा कि इस विशेष मामले में आतंकवाद के मुद्दे के संबंध में संयुक्त राष्ट्र समिति में असहमति बरकरार है. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग की टिप्पणियां संयुक्त राष्ट्र की 1267 समिति की अगले माह होने जा रही समीक्षा से पहले अजहर के मुद्दे पर पूछे गए सवाल के जवाब में आईं. गेंग ने यहां संवाददाताओं को बताया, अपने रूख के बारे में हम कई बार बात कर चुके हैं. हमारा मानना है

हेग भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में फांसी की सजा सुनाए जाने के खिलाफ याचिका पर भारत को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में बड़ी जीत मिली है. हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अंतिम फैसला आने तक जाधव की फांसी पर रोक लगाए रखने का आदेश दिया है. ICJ के जज रोनी अब्राहम ने फैसला सुनाते हुए कहा कि कुलभूषण जाधव को जासूस बताने वाला पाकिस्तान का दावा नहीं माना जा सकता. पाकिस्तान ने अदालत में जो भी दलीलें दीं, वे भारत के तर्क के आगे कहीं नहीं ठहरतीं. https://twitter.com/ANI_news/status/865148188809768960 इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि वियना संधि के तहत भारत को कुलभूषण जाधव तक

भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव के बाद वार्ता से उसका शांतिपूर्ण हल निकालने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस हालात पर नजदीक से निगाह रख रहे हैं. गुटेरेस के प्रवक्ता स्तेफान दुजारिक ने कहा कि स्वाभाविक रूप से हम हालात पर निकट से निगाह रख रहे हैं. इसमें हाल के घटनाक्रम शामिल हैं और मैं समझता हूं कि हमें संवाद और वार्ता के माध्यम से शांतिपूर्ण हल खोजने के लिए दोनों पक्षों के समक्ष अपना आह्वान दोहराना चाहिए. पाकिस्तानी सैनिकों ने इसी हफ्ते कश्मीर में दो भारतीय सैनिकों की हत्या कर दी और उनके शव क्षत-विक्षत कर दिए. इसके

लाहौर पाकिस्तान ने भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव के खिलाफ नए सबूत संयुक्त राष्ट्र को सौंपने का फैसला किया है, इसमें मजिस्ट्रेट के सामने और फिर अदालत में दर्ज जाधव के कबूलनामे का वीडियो शामिल होगा. सैन्य अदालत ने जाधव को फांसी की सजा सुनाई है और भारत के दबाव के बाद पाक ने यह नया पैंतरा चला है. पाक मीडिया के मुताबिक, नए डोजियर में कराची और बलूचिस्तान में जाधव की जासूसी और हिंसक गतिविधियों का ब्योरा शामिल होगा. इसमें कोर्ट मार्शल की कार्यवाही का ब्योरा भी होगा. दरअसल, भारतीय अधिकारियों को जाधव से मिलने की इजाजत न देने और