ट्रेनों की लेट-लतीफी को लेकर मिल रही शिकायतों पर रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने अधिकारियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि या तो ट्रेनों के समय पर चलने को सुनिश्चित करें या फिर कार्रवाई को तैयार रहें। मंत्रालय की तरफ से जोनल हेड को तुरंत रात के 10 बजे से सुबह 7 बजे तक एक वरिष्ठ स्तर के अधिकारी को तैनात करने को कहा गया है। ट्रेनों के परिचालन में देरी को रोकने के मकसद से स्थिति की निगरानी रखने और समस्याओं को सुलझाने के लिए यह फैसला लिया गया है। उन्होंने अधिकारियों को पत्र लिखते हुए इस समस्या

इंडियन रेलवे जल्द प्राइवेट कंपनियों को अपने प्राइवेट टर्मिनल्स से मालगाड़ी चलाने की इजाजत दे सकता है। इससे देश के रेलवे नेटवर्क पर भारतीय रेल की मोनोपॉली खत्म हो सकती है। सीमेंट, स्टील, ऑटो, लॉजिस्टिक्स, अनाज, केमिकल्स और फर्टिलाइजर्स सेक्टर की कंपनियों ने रेलवे की स्पेशल फ्रेट ट्रेन ऑपरेशंस स्कीम के तहत अपनी फ्लीट चलाने में दिलचस्पी दिखाई है। इसकी जानकारी एक वरिष्ठ रेलवे अधिकारी ने दी है। अगर यह स्कीम सफल रहती है तो आगे चलकर प्राइवेट पैसेंजर ट्रेन चलाने की जमीन भी तैयार हो सकती है। टाटा स्टील, अडानी एग्रो, कृभको और कई अन्य प्राइवेट कंपनियों के पास पहले