मौसम का मिजाज और सूरज की तल्खी बरकरार है। तीन साल का रिकॉर्ड तोड़कर पारा उछलकर ऊना में 44.8 तो राजधानी शिमला में 30.1 डिग्री तक पहुंच गया है। गर्मी के इस सीजन का रविवार सबसे गर्म दिन भी रहा। मैदानी क्षेत्रों में लू से लोग बेहाल हैं। दिन के समय सड़कों या बाजार निकलना मुश्किल हो रहा है। हालांकि, मंगलवार से गर्मी से निजात मिलने के आसार हैं। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने छह से आठ जून तक शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू, चंबा, ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर और कांगड़ा में अधंड़ और ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की है। दस जून तक

मानसून केरल पहुंच चुका है और जल्द देश के अन्य हिस्सों में भी इसकी आमद होगी लेकिन हल्की बूंदाबांदी के बावजूद पूर्वी भारत गर्मी की आग में झुलस रहा है। रविवार को तो जैसे आसमान से बरसती आग के साथ लू के थपेड़ों ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया। छुट्टी के दिन दिल्ली में गर्मी ने एक दशक का रिकॉर्ड तोड़ दिया। यहां का अधिकतम तापमान 47.0 डिग्री सेल्सियस जा पहुंचा। इससे पहले सन 2007 में 10 जून के दिन अधिकतम तापमान 45.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। वहीं गर्मी के कारण पंजाब, हरियाणा व उत्तर प्रदेश में

हिमाचल प्रदेश की पहाड़ियों में भी गर्मी की मार पड़ रही है। रविवार को राज्य के मैदानी शहर ऊना में दिन का तापमान 42 डिग्री सेल्सियस पार कर गया. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने इस बात की जानकारी दी. हालांकि, इस सप्ताह बारिश के कारण कुछ राहत मिल सकती है. राजधानी शिमला में दिन का तापमान 28.2 डिग्री सेल्सियस मापा गया, जो सामान्य से पांच डिग्री अधिक था. शनिवार को राजधानी में दिन का तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहा. बारिश के हैं आसार मौसम विभाग का कहना है कि क्षेत्र में पश्चिमी विभोक्ष सक्रिय हो रहा है और इस कारण 9 से

हरियाणा में गर्मी अब तो उबालने लगी है। सूर्यदेव के तीखे तेवर लोगों के लिए सहना बेहद मुश्किल हाे गया है। तापमान में लगातार वृद्धि हाे रही है अौर यह 46 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। मौसम विभाग का कहना है कि गर्मी के तेवर अभी और बढ़ेंगे अौर फिलहाल कम से कम तीन दिन राहत की उम्‍मीद नहीं है। रविवार को तीखी धूप के कारण घरों से निकलना मुश्किल हो गया है अौर सड़काें पर भी वीरनी सी है। भीषण गर्मी के कारण लोग घरों में ही कैद रहने को मजबूर हो रहे हैं। यमुनानगर में तापमान 46 डिग्री

पिछले कुछ दिनों से देशभर में लगातार मौसम गर्म होता जा रहा है. उत्तर भारत के ज्यादातर हिस्सों में पारा लगभग 40 डिग्री से ऊपर रहा और राजस्थान में लू के थपेड़ों के कारण सामान्य जनजीवन बाधित रहा तो वहीं भारतीय मौसम विभाग ने देश के पूर्वी हिस्सों में गरज के साथ तूफान आने का भी अनुमान जताया है. 39.3 डिग्री रहा अधिकतम तापमान राष्ट्रीय राजधानी में पारा 40 डिग्री से थोड़ा-सा नीचे रहा है. अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 39.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि न्यूनतम तापमान 21.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. राजस्थान के रेगिस्तान में तेज