राजद और जदयू के बीच तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर मामला काफी आगे निकल गया है और अब गठबंधन में दरार साफ नजर आने लगी है. ताजा मामले में नीतीश कुमार के एक कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव नहीं पहुंचे. यहां तक की मंच पर नीतीश के ठीक पास लगी उनकी नेम प्लेट भी ढक दी गई. तेजस्वी कुछ दिनों पहले ही कैबिनेट बैठक में आए थे लेकिन आज के कार्यक्रम में उनकी गैरमौजूदगी काफी कुछ कह गई. बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुआई वाला सत्तारूढ़ महागठबंधन नाजुक दौर में पहुंच गया है. नीतीश के जदयू ने रेल होटल

पटना बिहार में सीबीआई छापों के बाद जदयू द्वारा तेजस्वी यादव को 4 दिन का अल्टीमेटम दिए जाने के बाद बुधवार को कैबिनेट की बैठक हुई. बैठक में शामिल होने के बाद तेजस्वी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जिस घोटाले के आरोप लग रहे हैं उस वक्त मैं महज 13 साल का था. जिस उम्र में मेरी मूंछ नहीं आई थी तब गलत काम कैसे कर सकता हूं. मैंने भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम किया है. तेजस्वी ने भाजपा को पूरे मामले के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि यह हमारे खिलाफ साजिश की जा