दिल्ली विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि पाकिस्तान भले ही दावा करे लेकिन सच तो यह है कि कश्मीर को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में नहीं ले जाया जा सकता. शिमला और लाहौर समझौते में इस बारे में बहुत साफ-साफ कहा गया है. उन्होंने कहा कि भारत ने पाकिस्तान के साथ अपने रिश्तों को तीन स्तंभ के आधार पर तैयार किया है. पहला- हम सभी मसलों को वार्ता के माध्यम से हल करना चाहते हैं. दूसरा- इन मसलों में किसी तरह की मध्यस्थता स्वीकार नहीं की जा सकती. तीसरा-आतंक और वार्ता एकसाथ नहीं चल सकते. सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ट्रंप के पेरिस समझौते