कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी सुशील कुमार शिंदे तीन अगस्त को शिमला आएंगे। संगठन और सरकार के बीच की रार खत्म करने की चुनौतीपूर्ण जिम्मेदारी लेकर शिंदे शिमला कांग्रेस कार्यालय में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, मंत्रियों, विधायकों और संगठन पदाधिकारियों के साथ बैठक कर सकते हैं। हिमाचल दौरे के प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार शिंदे दो अगस्त को धर्मशाला पहुंचेंगे जिसके अगले दिन तीन अगस्त को राजधानी दौरे पर होंगे। पहले भी हिमाचल के प्रभारी रह चुके शिंदे प्रदेश में संगठन और भौगोलिक स्थिति से परिचित हैं। संगठन और सरकार के बीच की खींचतान को खत्म करने में श्ंिादे इसी तजुर्बे का इस्तेमाल करेंगे।

विपक्षी दल लगातार सड़क से संसद तक दलित उत्पीड़न के मामले उठाकर सरकार को घेर रहा है. इसी बीच एनडीए ने चकाचौंध से दूर रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाकर अपना दलित कार्ड खेल दिया. दबाव में आकर विपक्ष ने मीरा कुमार को यूपीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार बना दिया, तो देश की सियासत में दलित मुद्दा एक बार फिर गर्म हो गया. सत्ता पक्ष और विपक्ष में खुद को दलित हितैषी बताने की होड़ लगी ही थी कि, खुद को सबसे बड़ा दलित नेता बताने की होड़ में मायावती ने राज्यसभा में दलित मुद्दे पर नहीं बोलने देने का