11 मार्च को छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ के 12 जवान नक्सलियों के कायराना हमले में शहीद हुए थे. हमले के बाद देश में गुस्सा भी भड़का तो शहीदों के परिवारों के लिए मदद के लिए हाथ भी उठे. अभिनेता अक्षय कुमार और बैडमिंटन स्टार सायना नेहवाल ने भी शहीदों के परिवारों को आर्थिक मदद दी, लेकिन नक्सलियों को ये नागवार गुजरा है. नक्सलियों ने बाकायदा प्रेस नोट जारी करके अक्षय और सायना के परोपकार पर निशाना साधा है. ये पहली बार है जब नक्सलियों ने किसी सेलिब्रिटी को निशाने पर लिया है. छत्तीसगढ़ के नक्सलियों ने प्रेस नोट जारी करके अक्षय

छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ जवानों पर नक्सलियों के हमले में स्थानीय ग्रामीणों के शामिल होने की बात सामने आई है. अंग्रेजी अखबार 'द हिंदू' ने सीआरपीएफ की अंदरूनी जांच के हवाले से लिखा है कि इस हमले में कम से कम तीन गांव के लोगों ने मदद की थी. 24 अप्रैल को हुए इस हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हुए थे. अखबार ने जांच में शामिल एक सीआरपीएफ अधिकारी के दावे को छापा है. इस अधिकारी के मुताबिक बुर्कापाल, चिंतागुफा और कासलपाड़ा गांव के ज्यादातर लोग हमले में 'अप्रत्यक्ष' तौर पर शामिल थे. इस अधिकारी की मानें तो

दिल्‍ली नगर निगम चुनाव में शनदार जीत दर्ज करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने अपने मुख्‍यालय में एक पोस्‍टर लगाया गया है। 11, अशोका रोड स्थित कार्यालय में लगे पोस्‍टर में एमसीडी चुनाव की जीत को उन सीआरपीएफ जवानों को समर्पित बताया गया है, जो छत्‍तीसगढ़ के सुकमा में नक्‍सली हमले में शहीद हुए। सो मवार (24 अप्रैल) को सुकमा में हुई मुठभेड़ में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हुए थे और 6 अन्‍य घायल हो गए थे। जिले में सड़क निर्माण की सुरक्षा में लगी सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन पर घात लगाकर नक्‍सलियों ने हमला किया था। दिल्‍ली बीजेपी अध्‍यक्ष

सोनीपत सुकमा नक्सली हमले में हरियाणा के भी दो जवान शहीद हुए हैं. एक इंद्री हल्के के खेड़ी मानसिंह गांव के रहने वाले सीआरपीएफ जवान राम मेहर और दूसरे सोनीपत के जवान नरेश भी इस हमले में शहीद हुए हैं. वहीं, इंद्री के प्रशासनिक अधिकारी और राज्यमंत्री कर्ण देव कंबोज खेड़ी मानसिंह गांव पहुंचे और शहीद जवान राम मेहर के परीजनों को सांत्वना दी. उधर, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने सुकमा में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए दुख जताया है.   फोटो- बाएं- सीआरपीएफ जवान राम मेहर, दाएं- सीआरपीएफ जवान

तसीगढ़ के सुकमा में 25 सीआरपीएफ जवानों की शहादत के पीछे कुख्यात नक्सली नेता हिडमा का हाथ बताया जा रहा है. बताया जा रहा है कि कमांडर हिडमा ने तीन सौ के करीब नक्सलियों के साथ मिलकर इस हमले को अंजाम दिया. सीआरपीएफ पोजीशन लेकर बैठी थी कि तभी अचानक फायर किया गया. सूत्रों के मुताबिक नक्सली संगठन, पीपुल्स लिबरेशन ऑफ गुरिल्ला आर्मी (पीएलजीए) ने इस हमले को अंजाम दिया है. इस साल 11 मार्च को सुकमा में जो हमला हुआ था जिसमें 12 जवान शहीद हुए थे उसका भी मास्टरमाइंड हिडमा ही था. खुफिया एजेंसियां उसके लोकेशन का पता नहीं

गुरदासपुर छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में सोमवार को नक्सलवादियों के हमले में CRPF के 25 जवान शहीद हो गए और 6 अन्य घायल हो गए। इस हमले में मारे गए 74 बटालियन के सबसे सीनियर अधिकारी रघुबीर सिंह जो पंजाब के बाबा बकाला के रहने वाले थे। इसी माह की 1 अप्रैल को उनका जन्मदिन था जबकि इसी माह उन्होंने शहीदी प्राप्त की। [embed]https://www.facebook.com/mhonenewsofficial/videos/1408325239226770/[/embed] आपको बता दें, छत्तीसगढ़ में बीते दो महीने में यह लगातार दूसरा नक्सली हमला है. 11 मार्च को सुकमा जिले में ही नक्सली हमले में सीआरपीएफ की 219वीं बटालियन के 12 जवान शहीद हो गए थे।

छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में हिमाचल के मंडी जिले के नेरचौक निवासी सुरेंद्र कुमार (33) भी शहीद हुए हैं। सीआरपीएफ 74 बटालियन में तैनात सुरेंद्र डेढ़ माह की छुट्टी काटकर दस अप्रैल को ही लौटे थे। सुरेंद्र कुमार अपने पीछे पत्नी किरण, दो साल की बेटी एलीना और माता विमला ठाकुर को पीछे छोड़ गए हैं। सूचना मिलते ही क्षेत्र में शोक की लहर छा गई है। वर्ष 2003 में भर्ती हुए सुरेंद्र कुमार कुछ माह पहले मौत को मात दे चुके थे। सोमवार को जैसे ही सुकमा में नक्सली हमले की टीवी पर खबरें आने लगीं तो चचेरे

छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले में घायल जवान शेर मोहम्मद के लिए उनका पूरा गांव दुआ कर रहा है। उनकी मां ने कहा, उन्हें अपने बेटे पर गर्व है, उसने पांच नक्सलियों को मौत के घाट उतारा है। शेर मोहम्मद का इलाज अस्पताल में चल रहा है। आप भी उनके लिए दुआ करें। [embed]https://www.facebook.com/mhonenewsofficial/videos/1408284355897525/[/embed] आपको बता दें, सुकमा जिले के बुरकापाल के जंगल में सोमवार दोपहर करीब 12.55 बजे 300 से 350 नक्सलियों ने बच्चियों और महिलाओं को ढाल बनाकर रोड ओपनिंग पार्टी पर अंधाधुंध फायरिंग की। रॉकेट लॉन्चर और हैंड ग्रेनेड का भी इस्तेमाल किया। हमले में गश्त के बाद भोजन कर

रायपुर छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों के हमले में सीआरपीएफ के 26 जवान शहीद हो गए हैं. बताया जा रहा है कि सुकमा में चिंतागुफा के पास नक्सलियों ने घात लगाकर सीआरपीएफ की टीम पर हमला किया. यह घटना सोमवार दोपहर डेढ़ बजे की है. बताया जा रहा है कि सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन रोड ओपनिंग के लिए निकली थी. इस दौरान नक्सलियों ने सीआरपीएफ की टीम पर हमला किया. सीआरपीएफ के अधिकारी ने बताया है कि नक्सलियों के साथ हुए एनकाउंटर में सीआरपीएफ के 26 जवान शहीद हो गए हैं और 6 जवान घायल हैं. इसमें सात जवान गंभीर रूप से