पंजाब में आज ट्रक यूनियन्स की हड़ताल है। ट्रक यूनियन रद्द करने के खिलाफ आज पंजाब में ट्रक यूनियन पूरे प्रदेश में प्रदर्शन करेगी। हड़ताल के चलते खाद्य आपूर्ति और रोजमर्रा के सामान की डिलिवरी पर असर पड़ सकता है।

पटियाला में लाइनमैन ने पावरकॉम हेड ऑफिस के सामने भूख हड़ताल की। इस मौके पर आम आदमी पार्टी के विधायक और बेरोजगार लाइनमैन यूनियन के नेता निर्मल सिंह खालसा भी एक दिन की भूख हड़ताल पर बैठे। निर्मल सिंह खालसा ने कहा कि जब शिरोमणि अकाली दल की सरकार के दौरान उन्होंने संघर्ष किया था तो परनीत कौर, साधू सिंह धर्मसोत,चरण जीत सिंह चन्नी भी उनके संघर्ष में शामिल हुए थे। उन्होंने ये वादा किया था कि पंजाब में कांग्रेस की सरकार बनते ही बेरोजगार लाइनमैनों को रोजगार दिया जाएगा, लेकिन सरकार बनने के सौ दिन पूरे होने के बाद

पूरी तैयारी के बगैर देश भर में पेट्रोल एवं डीजल के दाम हर रोज बदलने की प्रणाली लागू करने के विरोध में पेट्रोल पंप संचालकों ने आगामी पांच जुलाई को तेल विपणन कंपनियों से ईंधन की खरीद नहीं करने तथा 12 जुलाई को ईंधन न तो खरीदने और न ही बेचने का फैसला किया है। ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशनके अध्यक्ष  बताया कि बीते 17 दिनों में हर रोज पेट्रोल-डीजल के दाम घट रहे हैं, इस वजह से छोटे डीलरों को 400 करोड़ रुपये का घाटा हो चुका है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि डीलरों का कमीशन का बचाव

हरियाणा में नई परिवहन नीति को लेकर शुरू हुआ बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा हैं। नई प्राइवेट परिवहन नीति समेत अन्य मांगों पर सरकार और हरियाणा रोडवेज की आठ यूनियनों के बीच सहमति नहीं बन पाई। प्रदेश में आज से किसी भी रूट पर हरियाणा रोडवेज की सामान्य और वॉल्वों बसें नहीं चलेंगी। यात्रियों को वैकल्पिक साधनों का इस्तेमाल करना होगा। कर्मचारी यूनियनों ने रविवार को पानीपत में बैठक कर मांगों के संबंध में सरकार को चौबीस घंटे का अल्टीमेटम दिया था। जिसकी मियाद सोमवार शाम खत्म हो गई। कर्मचारियों का आरोप है कि उनसे बार-बार समझौता करने के

केंद्र सरकार की नई नीति के विरोध में हरियाणा, पंजाब समेत देशभर के मेडिकल स्टोर संचालक आज हड़ताल पर रहेंगे। इस दौरान सभी मेडिकल स्टोर बंद रहेंगे। जिससे मरीजों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। वैसे, इस दौरान इमर्जेंसी सिर्विसेज पर कोई असर नहीं पड़ेगा। बंद का आह्वान करने वाली संस्था ने अस्पतालों के बाहर दुकानें खुली रखने का भरोसा दिया है। एम्स, सफदरजंग, आरएमएल, एलएनजेपी जैसे हॉस्पिटल के बाहर दवा दुकानें खुली रहेंगी। कैमिस्ट एसोसिएशन का कहना है कि अभी तक ऑनलाइन दवा को लेकर कोई कानून नहीं आया है, लेकिन धड़ल्ले से इसका इस्तेमाल शुरू हो

नई ट्रांसपोर्ट पॉलिसी वापस नहीं लेने पर भड़की हरियाणा रोडवेज की सभी आठ यूनियनों ने दोबारा से आंदोलन का एलान किया है। आज प्रदेश के सभी चौबीस डिपो पर रोडवेज कर्मचारी प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद 9 मई को चंडीगढ़ के सेक्टर सत्रह में परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुदीप सिंह ढिल्लों के कार्यालय का घेराव किया जाएगा। ये जानकारी ऑल हरियाणा रोजवेज वर्कर यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष हरिनारायण शर्मा ने दी। उन्होंने आरोप लगाया कि तेरह अप्रेल को परिवहन मंत्री कृष्ण पंवार, अतिरिक्त मुख्य सचिवऔर अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मीटिंग में आश्वासन दिया गया था कि सरकार होईकोर्ट में

देशभर के 14 लाख वकील विधि आयोग की सिफारिशों के खिलाफ शुक्रवार को आधे दिन का हड़ताल करेंगे।  इसके साथ ही सरकार को यह भी चेतावनी दी है कि यदि वकील विरोधी सिफारिशों को ख़ारिज नहीं किया गया तो इसके परिणाम दूरगामी होंगे. यही नहीं आंदोलन और तेज किया जायेगा. बीसीआई के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्र ने यहां पत्रकारों से कहा कि विधि आयोग की सिफारिशों और वकील अधिनियम (संशोधन) विधेयक-2017 के खिलाफ देशभर में वकील शुक्रवार को भोजनावकाश के बाद अदालत के कामकाज से दूर रहेंगे। विधि आयोग की सिफारिशों में वकीलों द्वारा हड़ताल पर रोक लगाए जाने की बात

हरियाणा में रोडवेज बसों का चक्का जाम जारी है। आज भी रोडवेज की बसे नहीं चलेंगी। हड़ताल को लेकर मंगलवार को चंडीगढ़ में परिवहन विभाग और परिवहन मंत्री के साथ कर्मचारियों की बैठक भी हुई थी लेकिन ये बैठक बेनतीजा रही और रोडवेज कर्मचारियों ने हड़ताल जारी रखने की घोषणा कर दी है। कर्मचारियों का कहना है कि सरकार ट्रांस्पोर्ट पॉलिसी को वापस लेने के लिए तैयार नहीं जब तक सरकार पॉलिसी को वापस नहीं लेती तब तक हड़ताल जारी रहेगी। वहीं, परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने कहा कि सरकार के दरवाजे बातचीत के लिए खुले हैं।