रेवाड़ी के गोठड़ा टप्पा डहीना में सरकारी स्कूल की छात्राओं ने स्कूल गेट पर ताला लगाकर प्रदर्शन किया। छात्राएं स्कूल के गेट पर ताला लगाकर धरने पर बैठ गई। छात्राएं स्कूल में टीचर न मिलने से नाराज हैं। दो महीने पहले संघर्ष के बाद छात्राओं ने स्कूल अपग्रेड कराया था। अपग्रेड करते वक्त सीएम मनोहर लाल की सरकार ने स्कूल को 22 टीचर देने का आश्वासन दिया था, लेकिन इस दौरान दो महीने में आठ में से स्कूल में महज चार ही टीचर रह गए हैं, जिसकी वजह से छात्राओं ने आज फिर धरना किया। धरने के कुछ देर बाद

स्कूल अपग्रेडेशन के मामले में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि जो स्कूल नियमों को पूरा नहीं करते हैं वो अपग्रेड नहीं हुए हैं. उन्होंने कहा कि हर साल स्कूलों को अपग्रेड किया जाता है जो स्कूल पहले से लिस्ट में थे उन्हें ही अपग्रेड किया गया है, वहीं टीचरों की भर्ती के मामले में मनोहर लाल ने कहा कि अब टीचरों की समस्या जल्द ही दूर हो जाएगी.  

रेवाड़ी के कोठड़ा टप्पा में छात्राओं की भूख हड़ताल पर हुए स्कूल अपग्रेडशन के बाद प्रदेश में कई जगह स्कूल अपग्रेड कराने को लेकर प्रदर्शन जारी हैं। रेवाड़ी के राजगढ़ में भी छात्राओं के धरने का आज चौथा दिन है। हालांकि दूसरे दिन जनस्वास्थ्य मंत्री बनवारी लाल और प्रशासनिक अधिकारी छात्राओं का धरना खत्म करवाने पहुंचे, लेकिन छात्राओं की मांग के आगे उन्हें बेरंग लौटना पड़ा। छात्राएं जिद पर अड़ी हैं कि, जब तक उन्हें लिखित आश्वासन नहीं मिलेगा उनका धरना जारी रहेगा।

रेवाड़ी हरियाणा के रेवाड़ी से शुरू हुआ स्कूल को अपग्रेड करने का आंदोलन अब राज्य के अन्य हिस्सों में भी फैलता जा रहा है. स्कूल अपग्रेडेशन की मांग को लेकर दो नए मामले सफीदों और पानीपत से सामने आए हैं. सफीदों के गांव रोढ़ में स्कूल अपग्रेड कराने को लेकर छात्राओं ने स्कूल में ताला जड़ दिया है. छात्राओं के साथ उनके परिजन भी अनके समर्थन में खड़े हो गए हैं. छात्राओं का कहना है कि गांव के आसपास कोई भी 12वीं तक स्कूल नहीं है, जिससे आठवीं के बाद ही वो स्कूल छोड़ने को मजबूर हैं. यहां छात्राओं को पढ़ने के लिए