प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सूबे में बनी नई सड़कों में बड़ा गड़बड़झाला सामने आया है। पिछले चार महीने में सड़कों की गुणवत्ता जांच के दौरान सेंट्रल और स्टेट क्वालिटी कंट्रोल विंग ने 300 सड़कों में से 92 के निर्माण पर असंतुष्टि जताते हुए इन्हें दोबारा बनाने को कहा है। जांच के अनुसार सड़कों के किनारे कहीं पैरापिट गायब हैं तो कहीं पर सड़कों की चौड़ाई कम पाई गई। किनारों पर जरूरी साइन बोर्ड तक नहीं लगाए गए। केंद्रीय क्वालिटी कंट्रोल विंग ने अधिशासी अभियंता को कारण बताओ नोटिस देने के साथ ठेकेदारों की पेमेंट रोक दी है। गड़बड़ी सामने आने

ट्रेनों की लेटलतीफी और भोजन की खराब क्वॉलिटी को लेकर अकसर आलोचना का शिकार बनने वाला इंडियन रेलवे अब महंगा सामान खरीदने को लेकर विवादों के घेरे में है। एक आरटीआई के जवाब में रेलवे ने खरीदे जाने वाले सामान की जो कीमत बताई है, वह हैरतअंगेज कर देने वाली है। मसलन, 100 ग्राम दही खरीदने की दर 972 रुपये बताई गई लेकिन जब इस खुलासे पर हंगामा मचा तो इंडियन रेलवे का सेंट्रल जोन बैकफुट पर आ गया। अब उसका तर्क है कि टाइपिंग की गलती से यह गड़बड़ी हुई है, लेकिन आरटीआई के जवाब में इतनी बड़ी लापरवाही