प्रद्युम्न की हत्या के बाद गुरुग्राम का रेयान इंटरनेशनल स्कूल आज फिर खुल गया है। स्कूल खुलने के बाद अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल छोड़ने आए। अभिभावकों ने बताया कि रेयान स्कूल में सीसीटीवी कैमरों की संख्या बढ़ा दी गई है, साथ ही टॉयलेट में अटेंडेंट नियुक्त किए गए हैं। स्कूल की बाउंड्री भी सुरक्षा के लिहाज से पूरी कर ली गई है। गुरुग्राम प्रशासन के कामों से अभिभावक काफी हद तक संतुष्ट नजर आए।

रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई 7 वर्षीय मासूम प्रद्युम्न हत्या मामले में सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है. जांच शुरू करते ही सबसे पहले सीबीआई ने केस दर्ज किया. वहीं इस मामले में सीबीआई की तीन सदस्यीय टीम शनिवार सुबह गुरुग्राम स्थित स्कूल पहुंची.शुक्रवार को अधिसूचना जारी होने के बाद सीबीआई ने इस मामले की जांच अपने हाथ में ली. जांच के दौरान सीबीआई स्कूल के कुछ लोगों का बयान भी दर्ज कर सकती है. माना जा रहा है कि सीबीआई आज पुलिस से इस केस से जुडे सभी दस्तावेज इकट्ठा करेगी. वहीं इस मामले में पिंटो परिवार से भी

प्रद्युम्न हत्याकांड में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में रेयान ग्रुप के तीन ट्रस्टियों की अग्रिम जमानत याचिका पर जज एबी चौधरी ने सुनवाई से इनकार कर दिया है. जज ने कहा है कि वो पिंटो परिवार को निजी तौर पर जानते हैं. इस मामले में अब कल हाईकोर्ट की दूसरी बेंच अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करेगी. आपको बता दें कि प्रद्युम्न हत्याकांड में गिरफ्तारी से बचने के लिए रेयान ग्रुप के तीन ट्रस्टी रेयान पिंटो, अगस्टाइन पिंटो और ग्रेसी पिंटो ने अग्रिम जमानत की याचिका दायर की है. हालांकि इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट इन सभी की अग्रिम जमानत याचिका को खारिज

प्रद्युम्न की हत्या के नौ दिन बाद आज फिर गुरुग्राम का रेयान इंटनरेशनल स्कूल खुल गया। जिला प्रशासन की ओर से बनाई गई कमिटी ने इसे टेकओवर किया है। जिला प्रशासन ने सभी पैरेंट्स से अपील की थी कि वो अपने बच्चों को स्कूल भेजें। स्कूल में सोहना, भोंडसी, मारूति कुंज, बादशाहपुर और गुड़गांव से आने वाले बच्चों के पैरेंट्स के मन में डर है। इतनी बड़ी वारदात को पैरेंट्स के साथ-साथ बच्चे भी भुला नहीं पा रहे हैं। घटना के बाद स्कूल पर तैनात पुलिसकर्मियों को रविवार शाम को ही हटा लिया गया था। हालांकि बिना वर्दी के पुलिस

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में प्रद्युम्न की हत्या के बाद केन्द्र सरकार स्कूली बच्चों की सुरक्षा के लिए गाइडलाइंस तय करने के आज बड़ी बैठक बुलाई है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय और बाल विकास कल्याण मंत्रालय ने स्कूली बच्चों की सुरक्षा के मद्देनजर बडी बैठक बुलाई है. इस बैठक में बचचों की सुरक्षा के लिए गाइडलाइंस जारी की जाएगी. मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर और महिला बाल कल्याण मंत्री मेनका गांधी शैक्षणिक संस्थानों में सुरक्षा प्रोटोकॉल तैयार करने को लेकर आज एक उच्च स्तरीय बैठक कर रहे हैं. इस बैठक में बाल अधिकार संरक्षण आयोग, सीबीएसई, एनसीआईआरटी और

प्रद्युम्न मर्डर केस में रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बस ड्राइवर सौरभ राघव ने चौंकाने वाला खुलासा किया. उसने बताया कि हत्या में इस्तेमाल चाकू टूल किट का हिस्सा नहीं था. स्कूल के बस ड्राइवर सौरभ राघव ने बताया कि घटना के बाद उसने अशोक की शर्ट पर खून के निशान देखे थे.साथ ही रेयान स्कूल के बस ड्राइवर अशोक ने हैरान कर देने वाला खुलासा ये किया कि प्रद्युम्न की हत्या के बाद आधे घंटे तक अशोक स्कूल में था. तो वहीं सुप्रीम कोर्ट स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर 15 सितंबर को मामले में सुनवाई करेगी. इसी के साथ

रेयान मर्डर केस में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र, हरियाणा सरकार और मानव संसाधन विकास मंत्रालय को नोटिस भेजकर तीन हफ्ते में जवाब मांगा है.साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई और सीबीएसई को भी नोटिस भेजा है.तो वहीं रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सीईओ रायन पिंटो ने बॉम्बे हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए अर्जी दायर की है. इस मामले में अदालत में मंगलवार को सुनवाई होनी है.प्रद्युम्न के मामले में बढ़ते दबाव के बीच हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि सरकार इस केस की सीबीआई जांच को तैयार है. प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर को फोन कर सीएम

गुरुग्राम के नामी रेयान इंटरनेशनल स्कूल में प्रद्युम्न मासूम की हत्या मामले में हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने एलान किया कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिक और स्कूल प्रशासन पर केस दर्ज किया जाए. उन्होंने कहा कि स्कूल में काफी लापरवाही पाई गई है. उन्होंने कहा कि रेयान स्कूल 1200 बच्चे पढ़ते है जिनके भविष्य को देखते हुए स्कूल की मान्यता रद्द नहीं होगी. वहीं अभिभावक स्कूल की मान्यता रद्द करने के खिलाफ है. वहीं, दूसरी ओर प्रद्युम्न की हत्या से नाराज अभिभावक आज भी स्कूल के बाहर प्रदर्शन किया. अभिवावक इस मामले को लेकर जांच CBI से

  7 साल के मासूम प्रद्युम्न के कत्ल के आरोपी बस कंडक्टर अशोक की गलती की सजा अब उसका परिवार भुगत रहा है. ग्रामीणों ने अशोक के परिवार का बहिष्कार कर दिया है. उन्होंने अशोक के परिवार का हुक्का-पानी बंद कर दिया. उधर, प्रद्युम्न को इंसाफ दिलाने और इस गुनाह के हर गुनहगार को सजा दिलाने की मांग तेज हो रही है। गुरुग्राम में जहां एक तरफ अभिभावकों का रेयान इंटरनेशनल स्कूल के खिलाफ गुस्सा फूट गया है..तो वहीं करनाल में अभिभावक एकता संघ ने पुरानी सब्जी मंडी से कमेटी चौक तक कैंडल मार्च निकाला। यहां हाथों में जलती मोमबत्ती लिए सैंकड़ों

गुरुग्राम के नामी स्कूल रेयान इंटरनेशनल में मासूम बच्चे की हत्या के आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है.आरोपी ने मीडिया के सामने कहा कि जिस वक्त उसने बच्चे की हत्या की उस वक्त उसकी बुद्धि भ्रष्ट हो गई थी.आरोपी ने बताया कि उसने बच्चे का गला काटकर उसकी हत्या की.बता दें कि सात साल के मासूम की शारीरिक शोषण में नाकाम होने के बाद स्कूल के टॉयलेट में गला रेत कर हत्या कर दी थी.जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को वारदात के दस घंटे बाद गिरफ्तार कर लिया था.आरोपी स्कूल की बस में कंडेक्टर के तौर पर तैनात