रूस ने अमेरिका द्वारा लगाए गए ताजा प्रतिबंधों के जवाब में 755 अमेरिकी राजनयिकों को देश छोड़कर जाने का आदेश दिया है। रूस का यह फैसला अमेरिका और उसके रिश्तों का तनाव और बढ़ा देगा। हाल ही में अमेरिकी कांग्रेस के दोनों हाउस ने लगभग एकमत होकर रूस पर ताजा प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। अमेरिकी राजनयिकों को 'रूस निकाला' देने का ऐलान करते हुए राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने कहा कि वॉशिंगटन के 'गैरकानूनी' फैसले के खिलाफ यह मॉस्को की प्रतिक्रिया है। US कांग्रेस ने रूस पर यह प्रतिबंध लगाने के दो कारण गिनाए हैं। पहली वजह तो

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक रूस के पूर्वी तट पर 7.7 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप आया, जिसके कारण अधिकारियों ने शुरू में प्रशांत क्षेत्र के कुछ हिस्सों में सुनामी के खतरे की चेतावनी जारी कर दी है. लेकिन पैसिफिक सुनामी वार्निंग सेंटर ने कुछ देर बाद ही पूर्वानुमान जताते हुए कहा था कि प्रशांत क्षेत्र में विनाशकारी सुनामी आने की संभावना नहीं है और हवाई को कोई खतरा नहीं है. केंद्र ने बताया, ‘‘अगले कुछ घंटों में भूकंप के पास वाले तटीय क्षेत्र के समुद्री जल स्तर में उतार-चढ़ाव देखा जा सकता है. यूएस जियोलॉजिकल सर्वे ने बताया कि स्थानीय समयानुसार,

वॉशिंगटन अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हैकिंग और दखल को लेकर नए-नए खुलासे हो रहे हैं. बुधवार को एक अमेरिकी अधिकारी ने कांग्रेस को बताया कि साल 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हैकरों ने 21 इलेक्शन सिस्टम्स को निशाना बनाया था. इसके अलावा डोनाल्ड ट्रंप के साल 2005 के सेक्सुअल वीडियो को रूसी हैकिंग से अमेरिका का ध्यान भटकाने के लिए वायरल किया गया और अमेरिकी एजेंसियां रूस की हैकिंग पर तनिक भी गौर नहीं कर पाईं. अमेरिकी खुफिया एजेंसियों का कहना है कि रूस ने डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को हराने के लिए इस हैकिंग को अंजाम दिया. अमेरिकी राष्ट्रपति पद

पीएम मोदी रूस के दौरे पर हैं. गुरुवार को व्लादिमीर पुतिन से उनकी मुलाकात हुई. इस दौरान कई समझौते हुए, सबसे अहम रहा- एस-400 डिफेंस सिस्टम को लेकर रहा. इसपर डील पक्की हो गई है और जल्द ही ये भारत को मिल सकता है. बता दें कि यह डिफेंस सिस्टम एक साथ 36 मिसाइलों को मार गिराने में सक्षम है. खासकर पाकिस्तान और चीन से हमले की स्थिति में भारत इस सिस्टम का बेहतर इस्लेमाल कर सकेगा. भारत और रूस के बीच इस मुद्दे पर पिछले साल से ही बात-चीत चल रही है. पिछले साल गोवा में हुए ब्रिक्स समिट के दौरान

न्यूज एंकरिंग के दौरान कई मजेदार और हैरतअंगेज घटनाओं के वीडियो कभी-कभा सुर्खियां बन जाती हैं. एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है जिसमें एंकरिंग कर रही महिला के पीछे अचानक एक कुत्ता आ जाता है और उसका हावभाव देखने लायक होता है. रूस के चैनल वर्ल्ड 24 न्यूज में एंकर मॉस्को में हुए एक प्रदर्शन की खबर बता रही थी तभी वहां पर एक काले रंग का कुत्ता स्टूडियो में आ गया और डेस्क पर कूदकर बैठने की कोशिश करता है लेकिन जब वह डेस्क पर नही बैठ पाता तो वो अपना सिर रखकर बैठ

दिल्ली अपने 'करीबी दोस्त' रूस को चेतावनी देते हुए भारत ने कहा है कि अगर उसे परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (NSG) की सदस्यता नहीं मिल पाती है तो वह परमाणु ऊर्जा विकास के अपने कार्यक्रम में विदेशी पार्टनर्स से सहयोग करना बंद कर देगा. भारत ने साफ कह दिया है कि ऐसी स्थिति में वह रूस के साथ कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा परियोजना की 5वीं और 6वीं रिऐक्टर यूनिट्स को विकसित करने से जुड़े MoU को ठंडे बस्ते में डाल सकता है. दरअसल, भारत को महसूस हो रहा है कि चीन से नजदीकियां बढ़ा रहा रूस भारत को एनएसजी सदस्यता दिलवाने के लिए अपनी 'क्षमताओं'

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जल्द ही एकतरफा पेरिस जलवायु समझौते पर बड़े फैसले का वादा किया. उन्होंने आरोप लगाया कि अमेरिका से धन देने के लिए कहकर उसे अनुचित तरीके से निशाना बनाया जा रहा है जबकि रूस, चीन और भारत जैसे प्रदूषण करने वाले बड़े देश कुछ भी योगदान नहीं दे रहे हैं. भारत, रूस, चीन नहीं देते पैसा ट्रंप ने आरोप लगाया कि एकतरफा पेरिस जलवायु समझौते की तरह, जहां अमेरिका ने अरबों डालर दिये जबकि चीन, रूस और भारत योगदान करते हैं और लेकिन कोई योगदान नहीं करते. संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन फ्रेमवर्क संधि के तहत पेरिस जलवायु