सुप्रीम कोर्ट ने 10 साल की रेप पीड़ित लड़की को गर्भपात की इजाजत नहीं दी है। चंडीगढ़ की नाबालिग लड़की 32 हफ्ते की गर्भवती है. कोर्ट ने लड़की की मेडिकल रिपोर्ट पर विचार करते हुए उसकी याचिका को खारिज कर दिया है.  रिपोर्ट में बताया गया है कि गर्भपात करना लड़की और उसके बच्चे दोनों के लिए नुकसानदेह हो सकता है.  कोर्ट ने कहा- गर्भपात कराने के लिए अब बहुत देर हो चुकी है. सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही केंद्र को सुझाव दिया है कि सभी राज्यों में ऐसे मामलों में जल्दी से निर्णय लेने के लिए स्थाई मेडिकल बोर्ड गठित