हिमाचल के कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक (केसीसी) ने अपने सभी एटीएम अस्थायी तौर पर बंद कर दिए हैं. सूबे में सहकारी क्षेत्र के सबसे बड़े केसीसी बैंक की पांच जिलों में 213 शाखाएं और 65 एटीएम हैं. बैंक के चेयरमैन जगदीश सिपहिया ने रैन्समवेयर वायरस के साइबर हमले की आशंका पर एटीएम से पैसों की निकासी रोकने की पुष्टि की है. सूत्रों के अनुसार बैंक ने जिला कांगड़ा के अलावा ऊना, हमीरपुर, कुल्लू और लाहौल-स्पीति में अपनी शाखाएं खोली हैं. इनमें से चुनिंदा प्रमुख शाखाओं पर बैंक ने अपने एटीएम स्थापित किए हैं. बैंक प्रबंधन के अनुसार रिजर्व बैंक से मिले दिशा-निर्देशों के

दुनिया भर में वेबसाइटें हैक कर फिरौती मांगने के लिए इस्तेमाल किए जा रहे रैनसमवेयर वायरस का खतरा अब हिमाचल प्रदेश पर भी मंडरा रहा है. इसके बाद सुरक्षा के मद्देनजर प्रदेश सीआईडी की साइबर क्राइम विंग ने इस संबंध में अलर्ट जारी किया है. आपको बता दें कि कल आरबीआई ने भी वायरस अटैक पर बैंकों को चेतावनी जारी की है. आरबीआई ने बैंकों को अलर्ट करते हुए कहा है कि रैंसमवेयर वायरस का अटैक ATM पर हो सकता है. इसलिए बैंकों को इससे सचेत रहना होगा. बाकायदा, एडवाइजरी जारी कर कहा गया है कि दक्षिणी भारत के कुछ हिस्सों में

आरबीआई ने वायरस अटैक पर बैंकों को चेतावनी जारी की है. आरबीआई ने बैंकों को अलर्ट करते हुए कहा है कि रैंसमवेयर वायरस का अटैक ATM पर हो सकता है. इसलिए बैंकों को इससे सचेत रहना होगा. आपको बता दें कि रैंसमवेयर वायरस अटैक अब तक का सबसे बड़ा वायरस हमला है. अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) से चोरी किए गए ‘साइबर हथियारों’ का इस्तेमाल कर भारत समेत लगभग 100 देशों पर बड़े पैमाने पर साइबर हमले किए गए. जिसके बाद आरबीआई ने इस वायरस को लेकर बैंको को चेतावनी जारी करते हुए सावधानी बरतने की अपील की है। इससे पहले