प्रदेश के विभिन्न इलाकों में 29 जुलाई तक बादल झमाझम बरसेंगे। मौसम विज्ञान केंद्र ने अगले एक हफ्ते तक के लिए बारिश का अनुमान जताया है। रविवार सुबह दिनभर बारिश हुई। बारिश के चलते कुछ जगहों पर जहां मौसम खुशनुमा बना रहा, वहीं कुछ जगह बारिश आफत बन गई। रविवार को सोलन में 7 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई जबकि शिमला में .6 मिली मीटर बारिश हुई। वहीं, क्षेत्र की टिहरी पंचायत के मरोगी में ल्हासे गिरने से यातायात बाधित हुआ है। रामपुर में शनिवार देर रात बारिश होने से कई संपर्क मांग कुछ घंटों के लिए बंद रहे। किन्नौर में

हिमाचल के अधिकांश क्षेत्रों में दस जुलाई तक भारी बारिश होगी. मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने अलर्ट जारी किया है कि प्रदेश में छह से दस जुलाई तक मानसून रफ्तार पकड़ेगा. पूरे प्रदेश में एक सप्ताह तक मौसम खराब रहेगा. मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि सोमवार को पूरे प्रदेश में मानसून पहुंच गया है. पांच जुलाई तक प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में बारिश होगी, छह से दस जुलाई तक अधिकांश क्षेत्रों में बारिश का दौर चलेगा.

पर्यटन नगरी मनाली में शुक्रवार को बारिश व ऊंची पहाड़ियों में गिर रहे बर्फ के फाहों से मौसम कूल-कूल हो गया है. शुक्रवार रोहतांग दर्रे सहित धुंधी जोत, मकरवेद व शिकरवेद की पहाडिय़ों, मनालसू जोत, हनुमान टिब्बा, इंद्र किला, नग्गर की पहाडिय़ों सहित हामटा जोत ने भी बर्फ की चांदी का श्रृंगार कर लिया है. मनाली में हुई बारिश से पारा लुढ़क गया है. पिछले कुछ दिन से घाटी में धूप खिलने से पारा चढ़ने लगा था लेकिन शुक्रवार को मौसम के बदले तेवरों ने घाटी का मौसम कूल-कूल कर दिया है. इससे मनाली में सैलानियों की आमद लगातार बढ़ रही