अमेरिका में सिख युवक से हुए नस्लीय हमले पर पंजाब के मुख्यमत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चिंता जताई है. उन्होंने अमेरिकी के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम मोदी को ट्वीट कर इस मामले में कदम उठाने की अपील की है. एक अन्य ट्वीट में कैप्टन ने कहा कि अमेरिका में भारतीय और सिख खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं. प्राथमिकता के आधार पर उनकी हिफाजत की जाए. https://twitter.com/capt_amarinder/status/873812241216176128 https://twitter.com/capt_amarinder/status/873812086270423040

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आज दिल्ली में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की. मुलाकात के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि उन्होंने इस दौरान सरकार के काम काज की जानकारी दी है और कैबिनेट विस्तार पर चर्चा जारी है, जिसके बारे में मीडिया को जल्द  जानकारी दी जाएगी। उधर, राणा गुरजीत सिंह विवाद पर कैप्टन ने कहा, कि कमीशन बनाया है वो काम कर रहा है, ये सिर्फ मीडिया हाइप है। खैरा के आरोपों पर कैप्टन ने पलटवार करते हुए कहा की एक कमीशन हमने बनाया है उसमें खैरा का रिश्तेदार है, कमीशन अपने तरीक़े से काम

चंडीगढ़ में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह हायर एजुकेशन को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। बैठक पंजाब सचिवालय में होगी। इस बैठक में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह अधिकारियों के साथ हायर एजुकेशन को लेकर चर्चा करेंगे।

पुंछ हमले में शहीद हुए परमजीत के परिवारवालों से मिलने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह पहुंचे. इस मौके पर उनके साथ पंजाब कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और नवनियुक्त पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ भी मौजूद रहे. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ऐलान किया कि परिवार में से बड़ी बेटी को सरकारी नौकरी दी जाएगी और फ्लैट भी दिया जाएगा। इसके अलावा बच्चों की पढ़ाई का खर्च पंजाब सरकार उठाएगी।  कैप्टन ने शहीद के परिवारवालों को 12 लाख का चैक भी दिया.

दिल्ली पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात की. मुलाकात के दौरान सरप्लस बिजली को पाकिस्तान और नेपाल को बेचने की अनुमति, किसानों का मुद्दा और विशेष पैकेज को लेकर चर्चा की गई. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राज्य में पैदा हो रही सरप्लस बिजली को पाकिस्तान और नेपाल को बेचने की अनुमति मांगी और इस मामले में दखल देने की अपील की, ताकि प्रदेश में आर्थिक संसाधन और बढ़ सके और लोगों पर टैक्स का भार कम हो. https://twitter.com/capt_amarinder/status/855062043589836800 मुख्यमंत्री ने पीएम से मुलाकात के दौरान किसानों का भी मुद्दा उठाया और

पंजाब में वीआईपी कल्चर को लेकर आज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह रिव्यू मीटिंग लेंगे। जानकारी के मुताबिक इस मीटिंग में पंजाब के डीजीपी और एडीजीपी भी मौजूद रहेंगे। बैठक में प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी बात की जाएगी। इसके अलावा सीएम अमरिंदर सिंह बैठक में जरूरी निर्देश भी देंगे।

आज कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में पंजाब मंत्रिमंडल की अहम बैठक होगी। पहले ये बैठक 20 अप्रैल को रखी गई थी लेकिन प्रधानमंत्री द्वारा इसी दिन SYL मुद्दे पर पंजाब-हरियाणा के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाने की वजह से ये बैठक आज बुलाई गई है। जानकारी के मुताबिक बैठक में SYL मुद्दे पर प्रधानमंत्री के समक्ष रखे जाने वाले पंजाब के पक्ष पर भी चर्चा की जाएगी। इसके अलावा बैठक में संसदीय सचिव लगाने संबंधी आॢडनैंस पर भी चर्चा हो सकती है। इस दौरान पहली मंत्रिमंडल बैठक में हुए 118 फैसलों पर हुई कार्रवाई की समीक्षा की जाएगी। उल्लेखनीय है कि

चंडीगढ़ पंजाब सरकार ने शनिवार को औपचारिक अधिसूचना जारी कर कुछ श्रेणी के वाहनों को छोड़कर सभी तरह के वाहनों पर लालबत्ती के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है. राज्य सरकार ने कहा कि यह वीआईपी संस्कृति खत्म करने की दिशा में उठाया गया यह एक महत्वपूर्ण कदम है. अब लाल बत्ती का इस्तेमाल केवल कुछ ही श्रेणियों में उच्च गणमान्य व्यक्तियों द्वारा किया जा सकता है. जिसमें पंजाब के गवर्नर, मुख्य न्यायाधीश और पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के न्यायाधीश शामिल हैं. पंजाब मंत्रिमंडल ने पिछले महीने पहली मंत्रीमंडलीय बैठक में वीआईपी संस्कृति खत्म करने का फैसला लिया था. बैठक में कुछ खास श्रेणियों को

पंजाब में नशा तस्करों के खिलाफ पुलिस ने अपनी मुहिम तेज कर दी है। खन्ना में पुलिस ने मलोद थाना क्षेत्र में नाकेबंदी के दौरान एक तस्कर से दो क्विंटल चूरापोस्त बरामद किया है। खन्ना के एसएसपी नवजोत सिंह माहल ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जब पुलिस ने एक ट्रक की तलाशी ली, तो वहां से आठ बोरियां चूरापोस्त बरामद हुई है। नशा तस्कर ने बताया कि वो मध्य प्रदेश से चूरापोस्त लेकर खन्ना में सप्लाई कर रहा था। फिलहाल आरोपी ट्रक ड्राइवर को हिरासत में लेकर मामला दर्ज कर लिया गया है

संगरूर पुलिस की कार्यशैली सवालों के घेरे में हैं। पुलिस अफसरों पर लोगोंवाल थाना क्षेत्र में हुई फाइनेंसर की हत्या मामले में हिरासत में लिए गए युवकों को प्रताड़ित करने का आरोप लगा है। पीड़ित युवकों ने बताया कि उन्हें मामले में गिरफ्तार कर अलग-अलग जगह रखा गया और फिर ज्यादतियां कर उनपर गुनाह कबूल करने लिए दबाव डाला गया। इतना ही नहीं पीड़ितों ने बताया कि मामले से उनका नाम हटाने के लिए पुलिस ने उनसे लाखों रूपए भी ऐंठे। उन्होंने एसएसपी, डीएसपी समेत पांच पुलिस अधिकारियों पर डरा धमकाकर झूठे मामले में फंसाने का डर दिखाकर रिशवत लेने का