जगाधरी जेल से बंदी के भागने के मामले में तीन पुलिसकर्मियों पर गाज गिरी है। तीनों पुलिसकर्मियों को बंदी को भगाने में मदद करने का आरोप में तीनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि, तीनों जमानत पर रिहा हो गए। फिलहाल इस मामले में सीनियर ऑफिसर की ओर से जांच भी की जा रही है। जेल से भागे बंदी को भी अंबाला से गिरफ्तार कर लिया गया है और उसे कोर्ट में पेश किया गया।

शराब तस्करी के आरोप में मानसा जेल में बंद एक हवालाती की मौत से गुस्साए परिजनों ने मानसा-सिरसा रोड जाम कर दिया। और एसएचओ को बर्खास्त करने की मांग की। दर्शन सिंह नाम के व्यक्ति को सरदूलगढ़ पुलिस ने नशा  तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया था। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेष किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। जेल में दर्शन सिंह की तबीयत खराब होने पर उसे अस्पताल में भर्ती किया, जहां उसकी मौत हो गई,,वहीं गुस्साए परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर सांसद बलविंदर सिंह भूंदड ने नेतृत्व में रोड जाम कर दिया और

पंचकूला के सिविल अस्पताल में एमआरआई करवाने के लिए अंबाला जेल से लाए गए विचाराधीन कैदी दीपक कुमार को पुलिस हिरासत से भगा ले जाने के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने दीपक को भगाने में मदद करने वाले आरोपी मंदीप को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी मंदीप चंडीगढ़ का रहने वाला है और ये कई मामलों संलिप्त है। यही नहीं मंदीप दो साल की जेल की सजा भी काट चुका है। पुलिस के मुताबिक दीपक को मिर्ची स्प्रे, रिवॉल्वर और भागने के लिए बाइक मंदीप ने ही मुहैया करवाई थी।